Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
.......तो क्या... योगी राज मे गैंगरेप की शिकार अर्धविक्षिप्त युवती को मिल सकेगा न्याय ? नगर पुलिस व एन्टी व्हीकल थेफ्ट टीम की संयुक्त कार्यवाही में 3 क्विंटल 17.260 किलोग्राम गांजा के साथ ... फर्जी समूह बनाकर धोखा-धड़ी करके जमाकर्ताओं के धन हड़पने वाले 06 अभियुक्त गिरफ्तार एनटीपीसी ने सौंपा एसी एंबुलेंस एवं शव वाहन डा. वी.के. वर्मा ने स्वास्थ्य परीक्षण कर वृद्ध जनों में किया फल, मिष्ठान्न का वितरण अन्याय पर न्याय के विजय का पर्व है नवरात्रि - संजय चौधरी दो ऑक्सीजन गैस प्लांट का फीता काटकर किया गया उद्घाटन नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य प्रारम्भ फ्री बिजली गारंटी पदयात्रा निकालेगी आपः सभाजीत सिंह त्योहारों को लेकर सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक, डीएम ने दिए निर्देश

राज्य शासन द्वारा कोरोना संक्रमण के प्रसार को तोड़ने दिनांक 02 अक्टूबर से 12 अक्टूबर 2020 तक सभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर भ्रमण कर ‘‘कोरोना सघन सामुदायिक सर्वे अभियान‘‘ चलाया


बलौदाबाजार।14 अक्टूबर 2020/राज्य शासन द्वारा कोरोना संक्रमण के प्रसार को तोड़ने दिनांक 02 अक्टूबर से 12 अक्टूबर 2020 तक सभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर भ्रमण कर ‘‘कोरोना सघन सामुदायिक सर्वे अभियान‘‘ चलाये गये थे।
अभियान का मूल उद्देश्य सर्वे की स्थिति में लक्षण वाले व्यक्तियों की पहचांन कर तत्काल उसी दिन व्यक्ति का कोरोना टेस्ट किया जाना था। इसके लिये जिले के सभी विकासखण्डों के एक व्यापक अभियान चलाया गया था। इसके अंतर्गत विकासखण्ड बलौदाबाजार एवं कसडोल के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और चिन्हाकित उपस्वास्थ्य केन्द्र को सेम्पल लेने के लिये चिन्हाकित कर प्रचार-प्रसार किया गया था। इसमें लक्षण वाले व्यक्ति को स्वयं जांच केन्द्र में आकर अपना जांच कराना था। बलौदाजार एसडीएम देवेश धुव्र ने बताया की बलौदाबाजार अनुविभाग के अंतर्गत कुल 63 गाँवो में 939 व्यक्तियों में लक्षण पाये गये है। जिसमें से केवल 460 मरीजो ने कोरोना टेस्ट कराये है। जबकी 479 लोगों ने अपना टेस्ट नही कराया है। इसी तरह कसडोल एसडीएम तक कसडोल विकास केखण्ड एवं शहर के समस्त ग्रामो के सर्वे उपरांत लक्षण वाले 1162 व्यक्ति की पहचांन हुई है। परंतु इनमें से अधिकांश का अपना जांच कराने कोई रूचि नही दिखाई जा रही है। कसडोल विकासखण्ड में दिनांक 13 अक्टूबर तक केवल 426 लोगो द्वारा जांच कराया गया है। 736 लोगो का जांच कराना अभी-भी लंबित है। इस प्रकार ऐसे लोग अपना जांच न कराकर न केवल अपने परिवार का बल्कि पूरे ग्राम और शहर को संकट में डाल रहे है। अपनी जान को जोखिम में डालकर मितानीन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सचिव, रोजगार सहायक द्वारा मेहनत करके घर-घर सर्वे का कार्य किया है, परंतु अपना टेस्ट नही कराने वाले गैर जिम्मेदार लोग इनकी मेहनत पर न केवल पानी फेर रहे है, इन्हे शासन के निर्देशों और मंशा से भी कोई मतलब नही है। टेस्ट कराने से छूटे लोगो से पुनः आव्हान किया जाता है कि, तत्काल निकट के जांच केन्द्र में उपस्थित होकर अपना जांच करावें। संक्रमित व्यक्ति पूरे ग्राम और शहर में संक्रमण फैला सकता है। ऐसे लक्षण वाले व्यक्तियों से संबंधित प्रत्येक ग्रामवासी और शहर के वार्डवासियों को इसके लिये आगे आना होगा। लक्षण वाले व्यक्तियों को घबराने की आवश्यकता नही है, क्योकि लक्षण वाले व्यक्तियो में से केवल 02-04 प्रतिशत लोगो में ही कोरोना की पुष्टि हो रही है। जिनमें कोरोना पाजिटीव पाया जाता है, उनका ईलाज भी बहुत आसानी से संक्रमण की स्थिति अनुसार घर में ही दवा लेकर ठीक हुआ जा सकता है। लक्षण छुपाने पर या जांच कराने में डरने पर व्यक्ति में संक्रमण बढ़ जायेगा और न केवल उसका जीवन बल्कि उसके घरवालों और अन्य ग्रामवासियोंध्नगरवासियों का भी जीवन भी खतरे में पड़ जायेगा। ग्राम नवरंगपुर में 63 लोग, टुण्डरा में 34 लोग, बोरसी में 39 लोग, गिधौरी में 14 लोग, नरधा में 26 लोग, पिसीद में 20 लोग, पिकरी में 18 लोग, बल्दाकछार में 27 लोग, अर्जुनी (म) में 26 लोग, कसडोल में 36 लोग कोरोना के लक्षण वाले मिले है। अन्य ग्रामों में भी लक्षण वाले व्यक्ति पाये गये है। परंतु किसी भी ग्राम के इन लोगो द्वारा सहयोग नही किया जा रहा है। जांच कराने में आना-कानी किया जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.