Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कोरोना से बचने के लिए शुरु हुई फेस्टिवल फोकस्ड सैम्पलिंग प्रत्येक ब्लाक में प्रतिदिन 05 हजार कोविड टीकाकरण का लक्ष्य पूरा करने के निर्देश अतिवृष्टि से खराब हुयी फसल की क्षतिपूर्ति प्राप्त करने के लिए निर्धारित प्रारूप पर आवेदन कर सकते हैं... वरिष्ठ नागरिक समाज की धड़कन-डा. आर.के. प्रजापति महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट दिये जाने का कांग्रेस नेताओं ने किया स्वागत विकास कार्यो की कार्य योजना करें तैयार, ग्रामवासियों की भूमिका महत्वपूर्ण-जिलाधिकारी श्रीराम के पत्थर छूते ही सुन्दर नारी बनी अहिल्या तो श्रीराम के जयघोष से गूंज उठा प्रेक्षागृह 22 को शहीद स्थल मुण्डेरवा से निकलेगी लखीमपुर में मारे गये किसानों की अस्थि कलश यात्रा बिछडुे मिले, खोया पाया  माध्यम शिविर का समापन बाधाओं को दूर कर स्काउट गाइड का होगा विस्तार-मनोज कुमार

विपक्ष के तौर पर छोटे-छोटे मुद्दों को उठाने वाली भाजपा सरकारी शराब दुकानों में ओवर रेट की लूट पर चुप्पी के सवाल पर क्या बोले भाजपा जिला अध्यक्ष सनम जांगड़े

बलौदा बाजार भाटापारा। जिले में सरकार द्वारा संचालित शराब दुकानों में हो रही ओवर रेट की लूट से जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। विपक्ष के तौर पर छोटे-छोटे मुद्दों को उठाने वाली भाजपा सरकारी शराब दुकानों में ओवर रेट की लूट पर क्यों चुप है छत्तीसगढ़ ताजा खबर के सवाल पर भाजपा जिला अध्यक्ष डॉक्टर सनम जांगड़े ने कहा कि जिले के अलावा कमोबेश पूरे छत्तीसगढ़ की यही स्थिति बनी हुई है ।कांग्रेस जब से प्रदेश में आई है तब से लूट मचा रही है। आपके द्वारा इस विषय की शिकायत प्राप्त हुई है, इस विषय पर उग्र आंदोलन कर जनता को इस समस्या से निजात दिलाने भाजपा सड़क पर उतरेगी।

विदित हो किबलौदाबाजार- भाटापारा जिले की समस्त सरकारी शराब दुकानों में ओवर रेट शराब बिकने की काफी समय से लगातार शिकायत मिल रही है। ना जाने ऐसा कौन सा कारण है, जिस वजह से ओवर रेट बिक्री बंद होने का नाम ही नहीं ले रही है। जब की सरकार ही शराब बेच रही है।इस विषय मे जिले के जांबाज प्रशासनिक अधिकारी भी मुख दर्शक नजर आ रहे हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि ओवर रेट शराब बिक्री स्तर में और कितनों के आशीर्वाद से चल रही है।
भाटापारा कि दोनों शराब का हाल तो और भी बुरा है। बिना डर, भय और खौफ के ओवर रेट में धड़ल्ले से शराब बेची जा रही है। इसके अलावा भी शराब की अफरा-तफरी भी बड़े पैमाने पर की जा रही है । प्रतिदिन लाखो रुपए की ओवर रेट की कमाई का हिस्सा किन-किन लोगों में बट रहा है? आम जनता के लिए समझना मुश्किल नहीं होगा! जिले के बड़े प्रशासनिक अधिकारी,आबकारी विभाग के अधिकारी, क्षेत्र के विपक्ष के नेताओ तथा सत्ता पक्ष के नेताओं सभी की मौन सहमति ओवर रेट के भ्रष्टाचार को और बढ़ावा दे रही है। ₹10 से लेकर ₹400 तक शराब में अधिक मूल्य वसूला जा रहा है। दोनों सरकारी दुकानों के बाहर सरकार की मूल्य सूची नदारद रहती है। जिससे ग्राहकों को उचित मूल्य का पता ही नहीं चल पाता है। ग्राहकों को किसी प्रकार का बिल भी नहीं दिया जा रहा है। वही वर्षों से जमे कर्मचारियों से मिलीभगत के चलते उनका ट्रांसफर नहीं होना। इस बात को स्पष्ट साबित करता है कि, बड़े पैमाने पर हो रहे लूट पर सभी एक है, बस ठगी जा रही है तो जनता।

Leave A Reply

Your email address will not be published.