Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
समाजवादी पार्टी सांस्कृतिक प्रकोष्ठ पदाधिकारियों की घोषणा रोटरी ने ग्राम प्रधान को भेंट किया कोरोना से बचाव का संसाधान राज्य स्तरीय फार्म एन फ़ूड अवार्ड से नवाजे गए किसान संघर्ष और साधना की मिसाल है सप्रे जी का जीवन : हृदय नारायण दीक्षित फोकस्ड सैम्पलिंग में नहीं मिला एक भी कोरोना मरीज डीएम, एसपी ने किया जिला कारागार का किया गया आकस्मिक निरीक्षण यशकान्त सिंह अध्यक्ष, अनिल दूबे प्रमुख संघ के महामंत्री बन कोविड-19 से संबंधित आवश्यक मेडिकल सामग्री तैयार करने का उधम शुरू करें उधमी: डीएम कोविड-19 गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए मनाया जाएगा स्वतंत्रता दिवस प्राकृतिक तरीको से घटाए यूरिक एसिड का लेवल- डा.वी.के.वर्मा

विधायक शर्मा ने दागा सवाल विभाग के अफसर ही अपने रिश्तेदारों के नाम से लाइसेंस बनाकर ठेकेदारी कर रहे, जल संसाधन मंत्री ने कहा कि एसडीओ को हटाकर वहां मुख्य अभियंता को भेजकर पूरे कार्यों की जांच कराएंगे

रायपुर। बलौदाबाजार-भाटापारा के जिलों के नहरों के रखरखाव-संधारण के नाम पर राशि डकारने का मामला गुरूवार को विधानसभा में गूंजा। जोगी पार्टी के सदस्य के सवाल पर जल संसाधन मंत्री ने एसडीओ को हटाकर चीफ इंजीनियर से प्रकरण की जांच कराने की घोषणा की।
प्रश्नकाल में जोगी पार्टी के सदस्य प्रमोद कुमार शर्मा ने मामला उठाया। उन्होंने कहा कि विभाग के अफसर ही अपने रिश्तेदारों के नाम से लाइसेंस बनाकर ठेकेदारी कर रहे हैं, और राशि हड़प ले रहे हैं। शर्मा ने कहा कि वहां कोई काम नहीं हो रहा है। ग्रामीणों ने इसको लेकर शिकायतें भी की है, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई।
जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे के पूछने पर श्री शर्मा ने कहा कि एसडीओ वीके सिरमौर पिछले 15-20 साल से पदस्थ हैं। वे अपने रिश्तेदारों के नाम से लाइसेंस बनवाकर खुद ठेकेदारी कर रहे हैं।
इस पर जल संसाधन मंत्री ने कहा कि एसडीओ को हटाकर वहां मुख्य अभियंता को भेजकर पूरे कार्यों की जांच कराई जाएगी। श्री चौबे के इस कदम की जोगी पार्टी के नेता धर्मजीत सिंह ने सराहना की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.