Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
चार दिवसीय फाउण्डेशनल लिटरेसी एवं न्यूमरेसी प्रशिक्षण शुरू खुले में पशुओं को छोडने वालों के विरूद्ध दर्ज कराये एफ.आई.आर.:सीडीओ हेल्थ रैंकिंग डैशबोर्ड में गोरखपुर का यूपी में तीसरा स्थान कोविड नियन्त्रण के लिए अभियान, सर्वे के लिए निकली आशा वर्कर की टीम गर्भवती व धात्री का कोविड टीकाकरण जरूरी, सभी निभाएं जिम्मेदारी तीसरे चरण के मतदान हेतु 16 जिलों की 59 विधान सभा सीटों के लिए आज जारी होगी अधिसूचना सविता समाज युवा संस्थान द्वारा धूमधाम से मनाई गई जननायक कर्पूरी ठाकुर जी की जयन्ती सपा ने जारी कर दी 159 उम्मीदवारों की सूची, स्वामी प्रसाद मौर्या का का बेटा सूची से बाहर आपदा प्रबंधन क्षमता एवं सम्बवर्धन के तहत प्राथमिक चिकित्सा पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित जो लोग फ्री में ‘बिजली’ देने की बात करते हैं, उन्होंने उत्तर प्रदेश को ‘अंधेरे’ में रखा: सीएम योगी

सराफा लूटकांड में दरोगा समेत 4 खाकीधारी बर्खास्त

बस्तीः गोरखपुर सराफा लूट कांड के दोषी चार पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया है। सराफा कारोबारी को लूटने वाले गैंग के सरगना पुरानी बस्ती के दरोगा समेत उसके तीन साथी सिपाहियों की बर्खास्तगी हुई है। घटना को अंजाम देकर दरोगा समेत 4 पुलिसकर्मियों ने महकमे को शर्मसार कर दिया था। एएसपी रवीन्द्र कुमार सिंह मामले की जांच कर रहे थे।

उनकी रिपोर्ट के आधार पर आईजी रेंज एके राय ने आरोपी दरोगा को व एसपी हेमराज मीणा ने आरोपी तीन सिपाहियों को बर्खास्त कर दिया। इसी मामले में निलंबित हुए एसएचओ पुरानी बस्ती समेत आठ पुलिसकर्मियों की जांच सीओ रुधौली शक्ति सिंह के अधीन लम्बित है। पुरानी बस्ती थाने में तैनात एसआई धर्मेन्द्र यादव, कांस्टेबल संतोष यादव और महेंद्र यादव का नाम सामने आया था। पूछताछ में सरगना दरोगा धर्मेन्द्र के साथ 30 दिसंबर 2020 को गोरखपुर के शाहपुर थाने में लूट करने में पुरानी बस्ती के ही सिपाही आलोक भार्गव की संलिप्तता जाने के बाद उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया था। शुक्रवार को दरोगा समेत चारों पुलिस कर्मियों को पुलिस विभाग की सेवा से बर्खास्त कर दिया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.