Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सिद्वार्थनगर पहुंची राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल, कार द्वारा बौद्ध तीर्थ लुम्बिनी के लिए प्रस्था... मनरेगा से स्वीकृत 24 में से मात्र 08 कार्य पूर्ण होने पर जिलाधिकारी ने व्यक्त किया असंतोष बैठक मे लिया गया मशरूम तथा काला नमक की खेती को बढावा देने का लिए निर्णय टेढे-मेढे पैर वाले बच्चो के उपचार के लिए की जायेंगी परिवारों की काउंसलिंग 40 दिव्यांगजनो को मिला ट्राईसाइकिल मार्ग दुर्धटना मे घायल हे0कां0 गोविन्द कुमार की मौत, पार्थिव शरीर को एसपी ने दी सलामी कांग्रेस जिला कार्यकारिणी का विस्तार, उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव, कोषाध्यक्ष घोषित अधिवक्ता दिवस के रूप में प्रथम राष्ट्रपति डा.राजेन्द्र प्रसाद को जयन्ती पर किया नमन् जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डा. राजेन्द्र प्रसाद फोकस्ड सैम्पलिंग के जरिए माप रहे कोरोना का प्रभाव

73 सालों में पहली बार होगी किसी महिला की फांसी

नई दिल्लीः दिल्ली के निर्भया कांड के चार दोषियों को फांसी पर लटकाने वाला जल्लाद पवन अब अमरोहा की शबनम को फांसी देगा। शबनम ने 2008 में अपने प्रेमी की मदद से घर के सात लोगों को कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया था। शबनम की फांसी का फैसला हो चुका है लेकि तारीख मुकर्रर नही है। आजादी के 73 सालों में पहली बार ऐसा होना जा रहा है जब किसी महिला को फांसी पर लटकाया जायेगां।

फांसीघर को लेकर मेरठ के पवन जल्लाद ने बताया कि वह बेहद जीर्ण और शीर्ण हालत में था. जिस तख्ते पर खड़ा करके दोषी को फांसी दी जाती है वह भी टूटा हुआ था. पवन के अनुसार उसे अब बदलवा दिया गया है। वहीं उन्होनें कहा कि लीवर की खिंचाई भी ठीक से नहीं हो रही थी तो तेल लगवाकर लीवर को अब नरम कर दिया गया है. पवन जल्लाद का कहना है कि मथुरा जेल का फांसीघर पूरी तरह से तैयार हो गया है। मथुरा जेल को लेकर खास बात यह है कि पहली बार यहां किसी महिला को फांसी दी जाएगी. मथुरा में स्थित इस महिला फांसीघर को करीब 150 साल पहले स्थापित किया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.