Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
‘महीने में आठ बार आयरन और छह महीने पर विटामिन ए सीरप का सेवन आवश्यक’’ बच्चों को विटामिन ए पिलाकर बाल स्वास्थ्य पोषण माह का शुभारंभ पेगासस साफ्टवेयर का इस्तेमाल भारतीय संस्थाओं और पत्रकारों पर करना देशद्रोह-महेन्द्र श्रीवासतव लक्ष्मण पाण्डेय हत्याकाण्ड के दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग, बबिता शुक्ल ने सौंपा ज्ञापन डॉ. अजीत प्रताप शिक्षक प्रकोष्ठ, गिरीश पाण्डेय को भाजपा पंचायत प्रकोष्ठ संयोजक बनाये जाने पर प्रसन्न... पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं को विभिन्न पदों की सौंपी गयी जिम्मेदारी सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष पद का प्रेरक मिश्रा ने संभाला कार्यभार ब्लाक प्रमुखों को प्रशासनिक एंव वित्तीय अधिकार दिलाने के लिए किया जायेंगा प्रयासः राजेन्द्र प्रताप स... प्रभारी मंत्री ने कप्तानगंज ब्लाक में निरीक्षण कर जाना योजनाओं का हाल 25,000 के इनामिया वांछित अभियुक्त पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तारः-

मुण्डेरवा चीनी मिल में पेराई बंद होने से भड़के किसान, शुरू किया धरना

बस्ती – किसानों का गन्ना खेतों में खड़ा है और मुण्डेरवा चीनी मिल ने 14 मार्च की रात्रि से पेराई बंद कर दिया। इसके विरोध में मुण्डेरवा गन्ना समिति के निवर्तमान चेयरमैन एवं भारतीय किसान यूनियन के नेता दीवानचन्द पटेल के नेतृत्व में गन्ना किसानों, भाकियू पदाधिकारियों ने गन्ना समिति के परिसर में धरना शुरू कर दिया। दीवानचन्द पटेल ने बताया कि इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया गया था, उन्होने आश्वासन दिया था कि जब तक खेत में गन्ना खड़ा है चीनी मिल चलवाया जायेगा किन्तु मिल प्रशासन ने 14 मार्च को ही मिल बंद कर दिया। बताया कि मिल गेट के सामने बड़ी संख्या में किसान गन्ना लेकर खड़े हैं किन्तु उसकी तौल नहीं हो रही है। बताया कि गन्ना समिति मुण्डेरवा के सचिव रमेश सिंह ने मुण्डेरवा थाने में चीनी मिल के प्रधानप्रबंधक सहित अन्य जिम्मेदार अधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई के लिये तहरीर दिया है। दिवान चंद पटेल ने कहा कि यदि मिल में पेराई शुरू कराकर गन्ना तौल न हुआ तो गन्ना किसान मिल प्रबंधनतंत्र के खिलाफ आर-पार का संघर्ष करेंगे ।
गन्ना समिति मुण्डेरवा के परिसर में चल रहे धरने में मुख्य रूप से सुभाष चन्द्र किसान, रामनवल, भारतेन्दु सिंह, जयराम चौधरी, अनूप चौधरी, रामकेवल, रामा यादव, नाटे बाबू, घनश्याम, दीनदयाल, शोभाराम ठाकुर, घनश्याम चौधरी, परमात्मा प्रसाद के साथ अनिकेश पाण्डेय के साथ ही क्षेत्रीय गन्ना किसान, भाकियू पदाधिकारी शामिल रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.