Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
आपदा प्रबंधन क्षमता एवं सम्बवर्धन के तहत प्राथमिक चिकित्सा पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित जो लोग फ्री में ‘बिजली’ देने की बात करते हैं, उन्होंने उत्तर प्रदेश को ‘अंधेरे’ में रखा: सीएम योगी तीन जिलों के डीएम व दो जिलों के एसपी हटा कर की गयी नई तैनाती रोड शो, पद-यात्रा, रैली तथा जुलूस 31 जनवरी तक रहेंगे प्रतिबन्धित अमेरिका के वैज्ञानिक जर्नल में प्रकाशित हुआ बस्ती के हर्षित का शोध पत्र यूपी चुनाव: ब्राह्मणों को साधने में जुटी BJP में अखिलेश ने लगाई सेंध, सपा का MYB फॉर्मूला बढ़ाएगा यो... परम्परागत एवं सादगीपूर्ण ढंग से मनाया जायेगा 73वां गणतंत्र दिवस पुण्यतिथि पर याद किये गये प्रखर समाजवादी जनेश्वर मिश्र भाजपा ने देश को बेरोजगारी दिया, कांग्रेस का भर्ती विधान घोषणा पत्र युवाओं का भविष्य संवारेगा- अंकुर ... वरिष्ठ पत्रकार रामसेवक पाण्डेय के निधन पर पत्रकारों ने जताया शोक

पचपेडिया रोड के निर्माण की मांग को लेकर 09 को धरना प्रदर्शन करेंगे स्थानीय नागरिक

बस्ती। शहर से हाइवे को जोड़ने वाले प्रमुख मार्ग पचपेडिया रोड के निर्माण की मांग को लेकर 09 अप्रैल को स्थानीय नागरिक और व्यापारी धरना प्रदर्शन करेंगे। आयोजन को सफल बनाने के लिये लोगों से संपर्क किया जा रहा है। 24 अप्रैल को जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर नागरिकों ने चेताया था कि रोड की मरम्मत नही हुई तो आन्दोलन ही आखिरी विकल्प है।

लेकिन किसी जनप्रतिनिधि या प्रशासन की ओर से कोई ठोस पहल नही शुरू की गयी। यह बातें व्यापारी नेता एवं बस्ती उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष आनंद राजपाल ने कहीं। उन्होने बुधवार को जारी विज्ञप्ति में कहा कि पिछले तीन साल से पचपेड़िया रोड को लेकर लोग दुश्वारियां झेल रहे हैं। प्रशासन और नगरपालिका स्थानीय नागरिकों को गुमराह करता रहा। 28 मार्च को शहर के कटेश्वरपार्क में सांसद ने भी सड़क बनवाने की बात कही थी लेकिन इसका भी कोई असर नही रहा।

उन्होने कहा धरना प्रदर्शन जनता का लोकतांत्रिक अधिकार है बाकी जिम्मेदारी जन प्रतिनिधियों और प्रशासन की है। समस्याओं की अनदेखी कई बार इस हद तक पहुंच जाती है कि सारे बंद हो जाते हैं ऐसे में स्थानीय नागरिकों के सहयोग से 09 अप्रैल से निर्णायक संघर्ष शुरू होगा। जनसंपर्क कर समर्थन जुटाने वालों में खन्ना, बीडी पाण्डेय, आनंद राठौर, सुनील कुमार गुप्ता, संजय अग्रहरि आदि मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.