Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
समाजवादी पार्टी सांस्कृतिक प्रकोष्ठ पदाधिकारियों की घोषणा रोटरी ने ग्राम प्रधान को भेंट किया कोरोना से बचाव का संसाधान राज्य स्तरीय फार्म एन फ़ूड अवार्ड से नवाजे गए किसान संघर्ष और साधना की मिसाल है सप्रे जी का जीवन : हृदय नारायण दीक्षित फोकस्ड सैम्पलिंग में नहीं मिला एक भी कोरोना मरीज डीएम, एसपी ने किया जिला कारागार का किया गया आकस्मिक निरीक्षण यशकान्त सिंह अध्यक्ष, अनिल दूबे प्रमुख संघ के महामंत्री बन कोविड-19 से संबंधित आवश्यक मेडिकल सामग्री तैयार करने का उधम शुरू करें उधमी: डीएम कोविड-19 गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए मनाया जाएगा स्वतंत्रता दिवस प्राकृतिक तरीको से घटाए यूरिक एसिड का लेवल- डा.वी.के.वर्मा

कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम इलाज के हेतु उच्च स्तरीय बैठक सम्पन्न

बस्ती।  जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम तथा समुचित इलाज के संबंध में एक उच्च स्तरीय बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित किया। इसमें अपर निदेशक स्वास्थ्य बस्ती मंडल डॉ0 सीके शाही, मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ0 नवनीत कुमार, सीएमओ डॉ0 अनूप कुमार, सीएमएस डॉ0 जीएम शुक्ला तथा मुख्य कोषाधिकारी एवं मेडिकल कॉलेज के वित्त अधिकारी डॉ0 श्रीनिवास त्रिपाठी उपस्थित रहे। इस बैठक में जिलाधिकारी ने रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की उपलब्धता एल-1 एवं एल-2 कोविड अस्पतालों में बेड बढ़ाने तथा कोरोना मृत्यु को कम करने जैसे गंभीर विषयों पर चर्चा किया। उन्होने निर्देश दिया कि सुनिश्चित करे कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी न हो तथा इस पर प्रभावी अंकुश लगाया जाय।
जिलाधिकारी ने अपर निदेशक स्वास्थ्य से अपेक्षा किया कि वह बेहतर समन्वय स्थापित करके जिले में कोरोना वायरस से संबंधित दवाएं, उपकरण, इंजेक्शन एवं अन्य संसाधन उपलब्ध कराएंगे। साथ ही विभिन्न फैसेलिटीज पर डॉक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। बस्ती मंडल मुख्यालय होने के नाते तथा यहां पर मेडिकल कॉलेज होने के कारण पूर्वांचल के अन्य जिलों के मरीज भी भर्ती होते हैं। इस दृष्टि से मंडल मुख्यालय पर बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं होना आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज स्थित कैली ओपेक अस्पताल में सर्वाधिक कोविड-19 के मरीज भर्ती हैं। इसमें गंभीर प्रकृति के रोगियों को ऑक्सीजन और वेंटीलेटर की आवश्यकता होती है। उन्होंने निर्देश दिया कि ऑक्सीजन और वेंटिलेटर के नियमित आपूर्ति होते रहना चाहिए तथा किसी प्रकार की कमी ना होने पाए। समय से इसकी डिमांड कंपनी को उपलब्ध करा दी जाए तथा यह भी सुनिश्चित किया जाए यह समय से यह स्टोर में प्राप्त हो जाए।
उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सालयों में कोविड-19 का इलाज करा रहे मरीजों पर भी निगाह रखी जाए। एक निजी चिकित्सालय में बहुत कम उम्र के लड़के की कोरोना से मृत्यु होने पर उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए निर्देश दिया है कि निजी अस्पतालों से इस प्रकार की नियमित सूचना प्राप्त की जाए तथा उनके इलाज के बारे में प्रभावी कार्यवाही की जाए। यदि निजी चिकित्सालय में भर्ती कोविड-19 के मरीजों को कैली अस्पताल के लिए रेफर किया जाता है तो उनके साथ सभी डॉक्यूमेंट संलग्न होकर आने चाहिए।
उन्होंने निर्देश दिया है कि इस सप्ताह में जिले में नये एल- 1 एवं एल- 2 कोविड-19 अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाई जाए। ऐसे सभी अस्पतालों में समुचित ऑक्सीजन तथा वेंटीलेटर की व्यवस्था भी सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि ऐसे सभी अस्पतालों में डॉक्टर एवं अन्य पैरामेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मी आदि की तैनाती पूरी की जाए। बैठक में सीआरओ नीता यादव, एसीएमओ डॉ0 सीके वर्मा, टीपी गुप्ता, विनय कुमार सिंह, भी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.