Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
यूपी की भाजपा सरकार को तिरंगा यात्रा भी लगता है अवैध- संजय सिंह जागरूकता का परिचय दें अन्त्योदय कार्ड धारक, बनवाएं आयुष्मान कार्ड 30 अक्टूबर तक जिले के सभी बैंक शाखाओं पर आयोजित किया जायेंगा कैम्प सपा की मासिक बैठक में बनी रणनीति इस बार दीपवाली में 11 फिट के दिये के साथ जगमगाएगा अमहट घाट श्रमिको के लिए कल्याणकारी योजनाओं को संचालित कर रही है प्रदेश सरकार-सुनील कुमार भराला टीकाकरण कर्मियों की लगन का फल है सफल टीकाकरण एक माह में नौ हजार अंत्योदय लाभार्थियों ने किया आवेदन श्री रामलीला महोत्सव में गुरुवार को राम बारात एवं राम विवाह का किया गया मंचन 100 करोड़ कोविड टीकाकरण में जिले ने दिया 8.55 लाख का योगदान

डीएम के निर्देश पर जिले मे बनाई गयी आक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था

संवाददाता,बस्ती।  जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल के निर्देश पर जिले में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया है कि वे धैर्य बनाए रखें। समय पर सभी को पर्याप्त ऑक्सीजन कोविड एल-2 हॉस्पिटल, ओपेक कैली अस्पताल तथा एल-1 के अस्पतालों में उपलब्ध रहेगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि कैली अस्पताल के अलावा अन्य सीएचसी/ पीएचसी में भी सिलेंडर के माध्यम से गैस की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। इसके लिए उन्होंने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नंदकिशोर कलाल की अध्यक्षता में मॉनिटरिंग कमेटी गठित किया है।
उन्होने बताया कि ओपेक कैली अस्पताल/कोविड-19 एल-1 अस्पताल में लगभग 200 बेड पर पाइप लाइन के द्वारा ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाती है, जबकि अन्य बेड पर सिलेंडर के माध्यम से ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाती है। अन्य सीएचसी/पीएचसी तथा कोविड-19 एल- 2 अस्पतालों में छोटे सिलेंडर के माध्यम से ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाती है। उन्होंने बताया कि सभी स्थानों पर भरे हुए छोटे सिलेंडर उपलब्ध करा दिए गए हैं।
ज्वाइंट मजिस्टेªट नन्द किशोर कलाल ने बताया कि एलएमओ गोरखपुर से हमें सायं 6.00 बजे तक 400 से अधिक जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध हो जाएंगे, जो लगभग अगले 02 दिनों के लिए पर्याप्त होंगे। इस व्यवस्था को सुचारु रुप से लागू करते हुए खलीलाबाद डिपो तथा गोरखपुर से ऑक्सीजन नियमित रूप से प्राप्त होती रहेगी। ओपेक कैली अस्पताल से ही जिले के अन्य कोविड-19 डेडीकेटेड अस्पतालों को छोटे सिलेंडर के माध्यम से ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाएगी।
इस संबंध में जिलाधिकारी ने विकास भवन प्रांगण में शाम को बैठक में सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वह खाली सिलेंडर ओपेक कैली अस्पताल भिजवा कर ऑक्सीजन प्राप्त कर लें। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता न बरतें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया है कि जंबो टाइप सिलेंडर कैली अस्पताल के लिए भिजवा दें। छोटे सिलेंडरों का स्टॉक ही सीएचसी तथा पीएचसी पर रखें।
समीक्षा में उन्होंने पाया कि बिना फार्म भरे एंटीजन तथा आरटीपीसीआर कोविड-19 की जांच कराई जा रही है। इसके कारण डाटा पोर्टल पर समय से फीड नहीं हो रहा है तथा अन्य प्रकार की कठिनाइयां भी हो रही हैं। जिलाधिकारी ने इस स्थिति पर गहरा असंतोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि बिना फार्म भरे कोई जांच न करें। यदि दोबारा ऐसा होता पाया गया तो दोषी व्यक्ति के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सभी सीएचसी तथा पीएचसी पर तैनात कंप्यूटर ऑपरेटरों को सख्त हिदायत भी दिया है।
उन्होंने कहा कि जिले में अब तक कुल 6965 प्रवासी आ चुके हैं लेकिन उनकी कोरोना की जांच पूरी नहीं हो पाई है। छावनी तिराहा, रेलवे स्टेशन बस्ती एवं बभनान पर आए हुए प्रवासी का विवरण बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा ब्लॉकवार उपलब्ध कराया गया। जिलाधिकारी ने सभी खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे आरआरटी के द्वारा इनकी जांच सुनिश्चित कराएं तथा इन्हें होम आइसोलेशन में रखने के लिए निगरानी समितियों को सतर्क करें। उन्होंने डीपीएम राकेश पांडे को निर्देश दिया कि प्रतिदिन एल-2 एवं एल-1 हॉस्पिटल में रिक्त बेड की सूचना प्राप्त कर उपलब्ध कराएं ताकि नए मरीजों को आवश्यकतानुसार उसमें भर्ती किया जा सके।
बैठक में सीएमओ डाॅ0 अनूप कुमार, ज्वाइंट मजिस्टेªट नन्द किशोर कलाल, उप जिलाधिकारी आनन्द श्रीनेत, जिला विकास अधिकारी अजीत श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक कमलेश सोनी, बीएसए जगदीश शुक्ला, कृषि अधिकारी संजेश श्रीवास्तव, प्रशिक्षण अधिकारी डाॅ0 विवेक, डाॅ0 सीके वर्मा, सुधीर यादव, महेन्द्र कुमार, उमेश कुमार, सभी खण्ड विकास अधिकारी  तथा प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.