Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
फ्रंटलाइन वर्कर तथा वरिष्ठ नागरिकों से कोविड-19 की प्रिकॉशन डोज लगवाने की अपील रोटरी मण्डल 3120 के सहायक मण्डलाध्यक्ष बने आशीष श्रीवास्तव वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दी गई स्वीप, शिकायत, मीडिया मानीटरिंग, एनवीडी के संबंध में विस्तार ... 23 जनवरी को दो पालियों में करायी जायेंगी टेट की परीक्षा सांस से सम्बन्धित कोविड मरीजों के लिए लाभकारी है चेस्ट फिजियोथैरेपी एक दिन में कोरोना संक्रमण के 17,776 नये मामले आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर यूपी मे अब तक 167 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज घर से नाराज़ होकर मुंबई पहुंच गई बालिका को सीडब्लयूसी ने उसके पिता को सौंपा विधान सभा चुनाव को लेकर बैठक मे सौंपी गई जिम्मेदारियां गृह भ्रमण कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता देंगी पांच सेवाएं

बस्ती में कोरोना संकट, आक्सीजन, दवाओं की कमी पर विधायक संजय प्रताप ने मुख्यमंत्री को भेजा पत्र

– समस्याओं के शीघ्र निस्तारण की मांग

– कोरोना संक्रमित मरीजों के परिजनों से दुर्व्यवहार का लगाया आरोप

बस्ती। कोरोना महामारी संकट के बीच आक्सीजन, जीवन रक्षक दवाओं के अभाव आदि समस्याओं को लेकर रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने  मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर कोविड अस्पतालों में कोरोना से संक्रमित हुये मरीजों के इलाज हेतु जांच किट, आक्सीजन, टीका, बेड आदि संसाधन उपलब्ध कराये जाने की मांग किया है।
मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में 9 विन्दुओं पर ध्यानाकर्षण करते हुये विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने कहा है कि जनपद के महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कालेज एवं उससे सम्बद्ध ओपेक चिकित्सालय कैली, जिला चिकित्सालय बस्ती, कोविड अस्पताल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मुण्डेरवा सहित अन्य बनाये गये कोविड अस्पताल में रेडमेसिविर इंजेक्शन, आक्सीजन, जांच किट, अस्पतालों में बेड की उपलब्धता की मांग कोरोना संकट के कारण बढ गई है।  मरीजांेे तक सुविधाओं को पहुंचाने में जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग द्वारा बिलम्ब किया जा रहा है। इलाज को लेकर डाक्टरों, मरीजों एवं उनके तीमारदारों के बीच समन्वय स्थापित नहीं हो पा रहा है। इस कारण से केन्द्र और प्रदेश सरकार के प्रति  आम जन मानस का विश्वास घट रहा है। संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ रही है और मृत्यु दर भी 165 से अधिक हो चुकी है। कैली समेत जनपद में बने अनेक कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था न होने के कारण मरीज दम तोड़ रहे हैं।
9 प्रमुख विन्दुओं के द्वारा मुख्यमंत्री का ध्यानाकर्षण करते हुये पत्र में विधायक संजय प्रताप ने कहा है कि विभिन्न सीएचसी एवं पीएचसी सेन्टरों पर जांच किट, रेडमेसिविर इंजेक्शन, आक्सीजन सिलेण्डर उपलब्ध नहीं है। मरीजों को समय से भोजन, पानी, दवा उपलब्ध नहीं कराया जाता और तीमारदारों से बातचीत नहीं करने दिया जाता जिसके कारण भर्ती मरीज अपनी समस्या नहीं बता पा रहे हैं। यही नहीं परिजनों द्वारा दिया जा रहा खाद्य पदार्थ अस्पताल के कर्मी अमानवीय ढंग से फेंक  रहे हैं और तीमारदारों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है। विभाग द्वारा लिये गये नमूनों की रिपोर्ट प्राप्त होने में बिलम्ब के कारण अनजाने में संक्रमण फैल रहा है।  महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कालेज के प्राचार्य द्वारा भी दुर्व्यहार किये जाने की शिकायतें मिल रही है। निजी अस्पतालों में भी आक्सीजन गैस का संकट है। उन्होने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि समस्याओं का प्रभावी ढंग से निस्तारण कराया जाय।
यह जानकारी विधायक संजय प्रताप के मीडिया प्रभारी अमर सोनी ने विज्ञप्ति के माध्यम से दी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.