Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
.......तो क्या... योगी राज मे गैंगरेप की शिकार अर्धविक्षिप्त युवती को मिल सकेगा न्याय ? नगर पुलिस व एन्टी व्हीकल थेफ्ट टीम की संयुक्त कार्यवाही में 3 क्विंटल 17.260 किलोग्राम गांजा के साथ ... फर्जी समूह बनाकर धोखा-धड़ी करके जमाकर्ताओं के धन हड़पने वाले 06 अभियुक्त गिरफ्तार एनटीपीसी ने सौंपा एसी एंबुलेंस एवं शव वाहन डा. वी.के. वर्मा ने स्वास्थ्य परीक्षण कर वृद्ध जनों में किया फल, मिष्ठान्न का वितरण अन्याय पर न्याय के विजय का पर्व है नवरात्रि - संजय चौधरी दो ऑक्सीजन गैस प्लांट का फीता काटकर किया गया उद्घाटन नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य प्रारम्भ फ्री बिजली गारंटी पदयात्रा निकालेगी आपः सभाजीत सिंह त्योहारों को लेकर सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक, डीएम ने दिए निर्देश

सीएम ने दिया कोविड-19 का टेस्ट एवं आरआरटी टीम बढाने के निर्देश

बस्ती।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 का टेस्ट बढाने, बेड बढाने, आरआरटी टीम बढाने, कोरेन्टाइजन सेण्टर बनाने, स्टाफ बढाने तथा बच्चों के लिए पीकू वार्ड तैयार कराने का निर्देश दिया है। वर्चुअल माध्यम से गोरखपुर एंव बस्ती मण्डल के अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि 75 प्रतिशत 108 एम्बुलेन्स कोविड पेसेन्ट के लिए प्रयोग किया जाय। उन्होने कहा कि पिछले एक सप्ताह में कोरोना केसेज में कमी आयी है। इससे स्पष्ट है कि अभियान के रूप में कार्य करने पर हम कोरोना को पराजित कर सकते है।
उन्होने निर्देश दिया है कि प्रत्येक जनपद में महिला एवं बच्चों के इलाज के लिए अलग कोविड हास्पिटल बनाया जाय। अन्य बीमारियों के इलाज के लिए हास्पिटल सक्रिय किए जाय। टेली कन्सलटेªशन के माध्यम से डाक्टरों को जोड़ा जाय ताकि लोग टेलीफोन पर ही बीमारी के संबंध में जानकारी हासिल कर सकें। उन्होने कहा कि इण्डियन मेडिकल एसोशिएशन, स्वयं सेवी संस्थओं, निजी चिकित्सालयों से संवाद स्थापित कर जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाया जाय।
उन्होने कहा कि कोविड टीकाकरण मे तेजी लायी जाय। इसके वेस्टेज पर रोक जगायी जाय। इसके लिए आवश्यक है कि आनलाइन रजिस्टेªशन कराकर टीका लगाने की व्यवस्था रखी जाय। एक टीकाकरण सेण्टर पर निर्धारित संख्या में लोगों को टीका के लिए बुलाया जाय। प्रदेश के 18 जनपदों में 18 साल से उपर के लोगों का टीकाकरण कराया जा रहा है।
उन्होने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड मरीजो केा निगरानी समिति के माध्यम से मेडिकल किट पहुॅचायी जाय। प्रयास करे कि उन्हें पहले दिन ही मेडिकल किट प्राप्त हो जाय। मेडिकल किट प्राप्त करने वाले मरीज का सत्यापन कोविड कमाण्ड सेण्टर में स्थापित टेलीफोन के माध्यम से कराया जाय। आरआरटी टीम के माध्यम से सैम्पलिंग तथा जाॅच करायी जाय।
बस्ती में हैप्पी हास्पिटल में छापेमारी की कार्यवाही पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होने अन्य जिलों को भी छापेमारी की कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। उन्होने कहा कि निजी अस्पताल की प्रत्येक गतिविधि पर कड़ी निगाह रखी जाय। मरीजो की संख्या के अनुसार उन्हें आक्सीजन की आपूर्ति की जाय। निजी अस्पतालों में प्रत्येक बीमारी के इलाज के लिए दरे निर्धारित करें। यदि कोई प्राइवेट एंबुलेन्स निर्धारित दर से अधिक किराया वसूल करता है तो उसका अधिग्रहण कर लें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मैन पावर बढाने के लिए मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल तथा जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति उत्तरदायी होगी। मेडिकल कालेज में फाइनल इयर के छात्र, आयुष, फार्मेसी, होम्योपैथी, रिटायर्ड स्वास्थ्य कर्मी सबका मानदेय तय कर दिया गया है। कोविड अस्पतालो में इनकी तैनाती कराये।
मण्डलायुक्त अनिल कुमार सागर ने मण्डल के तीनों जिलों की स्थिति के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत कराया। उन्होने बताया कि मण्डल में कुल पाजिटिव केस 24500 है। 20135 मरीज ठीक हो गये है कुल 338 की मृत्यु हुयी है। 4141 पाजिटिव केस सक्रिय है। इसमें सर्वाधिक 1560 सिद्धार्थ नगर के है। उनहोने बताया कि पिछले सात दिनों में लगभग 30 हजार लोगों की सैम्पलिंग की गयी है। होमआइसोलेशन में 3000 मरीज है।
उन्होने बताया कि तीनों जिलों में कोविड कमाण्ड एवं कट्रोल सेण्टर सक्रिय है तथा 24 घण्टे कार्य कर रहे है। यहाॅ पर कुल 160 डाक्टर, काउन्सलर एंव कर्मचारी तैनात किए गये है। 3400 निगरानी समिति द्वारा 02 लाख 20 हजार घरों का भ्रमण किया गया है, जिसमें से 3150 केस पाजिटिव आये है।  कुल 200 में से 68 एंबुलेन्स कोविड मरीजो के लिए प्रयोग की जा रही है। मार्च में कुल 520 बेड कोविड अस्पतालों में उपलब्ध थे जो अब बढकर 1070 हो गये है। जीवनरक्षक दवाए उपलब्ध है। मेडिकल स्टाफ की नियमित टेªनिंग करायी जा रही है।
उन्होने बताया कि कोरोना कफ्र्यू के दौरान 1200 चालान किए गये तथा 09 लाख रूपया जुर्माना वसूल किया गया। पिछले दिनों बाहर से आने वाले 08 हजार लोगों का 18 सेण्टरों पर स्क्रिनिंग कराया गया, इसमें से 337 कोविड पाजिटिव निकले। मण्डल में 05 नये आक्सीजन प्लाण्ट स्थापित हो रहे है, जिसमें से 1-1 कैली ओपेक अस्पताल, जिला अस्पताल तथा हर्रैया में महिला अस्पताल में लगाया जायेंगा। मण्डल में 650 एमटी आक्सीजन उपलब्ध है। प्रत्येक दिन लगभग 750 एमटी आक्सीजन की आवश्यकता है।
जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने बताया कि जिले में 1218 निगरानी समितिया तथा 41 आरआरटी टीम सक्रिय है। 921 कोविड मरीज होम आइसोलेशन में है। कोविड कमाण्ड एंव कंट्रोल सेण्टर में 05 इनकमिंग तथा 20 आउटगोइंग काल के लिए टेलीफोन स्थापित है। इसी प्रकार जिलाधिकारी सिद्धार्थ नगर दीपक मीणा तथा जिलाधिकारी संतकबीर नगर दिव्या मित्तल ने अपने जिले की स्थिति से अवगत कराया। एनआईसी बसती में आईजी अनिल कुमार राय, पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव, सीडीओ डाॅ0 राजेश कुमार प्रजापति,  प्रधानाचार्य मेडिकल कालेज डाॅ0 नवनीत कुमार, एडी हेल्थ डाॅ0 सीके शाही, सीएमओ डाॅ0 अनूप कुमार, सीएमएम डाॅ0 आलोक कुमार तथा डाॅ0 सोमेश श्रीवास्तव, डाॅ0 सीके वर्मा उपस्थित रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.