Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
रेलवे से रिटायर्ड इंजीनियर को दबंग ठेकेदार ने अपने दो साथियों के साथ रात भर बंधक बनाकर पीटा राखी बंधवाने आए एक युवक की दो लोगों ने ब्लेड से रेत दिया गला, आरोपियों के तलाश मे पुलिस राज्य कर्मचारियों ने निकाली तिरंगा यात्राः डीएम ने बढाया हौसला एपीएन के छात्रों ने निकाली तिरंगा यात्रा पोषण व पुनर्वास केन्‍द्र में भर्ती बच्‍चों ने एक दूसरे को बांधी राखी गर्भावस्था में महिलाएं हो सकती हैं वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम की शिकार नगर पंचायतों में जलकर प्राप्त करने के लिए डीएम ने दिए निर्देश बेगम खैर गर्ल्स इण्टर कालेज की छात्राओं ने निकाली तिरंगा यात्रा 14 अगस्त को आयोजित हो रहे तिरगां यात्रा को लेकर तैयारियों पर चर्चा आज मेट्रो ट्रेन मॉडल का वर्चुअल अनावरण करेंगे मुख्यमंत्री योगी

जिला अस्पताल मे फर्श पर लिटा कर किया जा रहा है इलाज, यह दृश्य देख बिफरे रूधौली विधायक

बस्ती। रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल मंगलवार को शाम संक्रमित मरीजों के इलाज का सच देखने जिला चिकित्सालय पहुंच गये। विधायक ने वहां मानवीय संवेदनाओं को कुचलने वाला दृश्य देख अचम्भित हो गये। वार्डों मे व्याप्त गंदगी और वहां मरीजों को फर्श पर लिटाकर इलाज किया जा रहा था। इस अव्यवस्था से दुखी विधायक श्री जायसवाल ने वीडियो कॉल करके डीएम सौम्या अग्रवाल को हकीकत से अवगत कराया।
मंगलवार को शाम रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल जिला अस्पताल में पहुंचे वहा की अव्यवस्था देखकर अवाक् रह गए। वे कोविड का टीका लगवाने जिला अस्पताल गये थे। अस्पताल में मरीजों की दुर्दशा देखकर अपने आप को रोक न सके। सबसे पहले जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर, कोविड वार्ड सहित अन्य वार्डों को देखा। इसके पश्चात् विधायक श्री जायसवाल निर्माणाधीन आक्सीजन प्लांट के प्रगति को भी देखा। निरीक्षण मे मौजूद उपजिलाधिकारी सदर आशाराम वर्मा को व्यवस्था को सुधारने और संक्रमित मरीजों का बिना हीला हवाली के इलाज कराने का निर्देश दिया।
कई मरीजो के परिजनों ने आक्सीजन न मिलने के शिकायत किया। इस पर विधायक ने एसडीएम सदर को निर्देश दिया कि यहां इलाज मे किन संसाधनों की कमी है उसकी सूची उपलब्ध करायें। जिससे शासन को पत्र प्रेषित किया जा सके। वही वार्ड का आक्सीमीटर खराब था किसी का सही रीडिंग नही बता रहा था। विधायक ने अपना आक्सीजन नामा 77 बताया जबकि भर्ती मरीज का 99 बता रहा था। जिसको लेकर सीएसएस को मानवीय संवेदना के साथ काम करने की नसीहत दी। वही जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों को रोज इलाज के लिए कठिनाईयो का समाना करना पड़ रहा है। घंटो इंतजार के बाद मरीज को भर्ती किया जा रहा है। इस पर मरीज तो जैसे तैसे समय काट ले रहे हैं, लेकिन वार्ड और अस्पताल में फैली गंदगी मरीजों और उनके तीमारदारों की जान जोखिम में रहती है। विधायक ने तीमारदारों की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उन्होेंने सम्बन्धित जिम्मेदारों को फटकार लगाई।