Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
आपदा प्रबंधन क्षमता एवं सम्बवर्धन के तहत प्राथमिक चिकित्सा पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित जो लोग फ्री में ‘बिजली’ देने की बात करते हैं, उन्होंने उत्तर प्रदेश को ‘अंधेरे’ में रखा: सीएम योगी तीन जिलों के डीएम व दो जिलों के एसपी हटा कर की गयी नई तैनाती रोड शो, पद-यात्रा, रैली तथा जुलूस 31 जनवरी तक रहेंगे प्रतिबन्धित अमेरिका के वैज्ञानिक जर्नल में प्रकाशित हुआ बस्ती के हर्षित का शोध पत्र यूपी चुनाव: ब्राह्मणों को साधने में जुटी BJP में अखिलेश ने लगाई सेंध, सपा का MYB फॉर्मूला बढ़ाएगा यो... परम्परागत एवं सादगीपूर्ण ढंग से मनाया जायेगा 73वां गणतंत्र दिवस पुण्यतिथि पर याद किये गये प्रखर समाजवादी जनेश्वर मिश्र भाजपा ने देश को बेरोजगारी दिया, कांग्रेस का भर्ती विधान घोषणा पत्र युवाओं का भविष्य संवारेगा- अंकुर ... वरिष्ठ पत्रकार रामसेवक पाण्डेय के निधन पर पत्रकारों ने जताया शोक

बेहतर समन्वय स्थापित कर कोविड संक्रमित लोगों को राहत पहुॅचाने हेतु करें कार्यः जय प्रताप सिंह

बस्ती। कोविड कमाण्ड एवं कंट्रोल सेण्टर जिला अस्पताल तथा कैली ओपेक अस्पताल से बेहतर समन्वय स्थापित कर कोविड संक्रमित लोगों को राहत पहुॅचाने का कार्य करें। उक्त निर्देश प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने दिये है। पुलिस लाईन सभागार में आयोजित बैठक में उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या कम हुयी है, स्वस्थ्य होने वाले लोगों की संख्या बढी है और इसी के साथ आक्सीजन, बेड, कन्संटेªटर, रेमडेसिविर इंजेक्शन एवं अन्य जीवनरक्षक दवाओं आदि की सुविधा बढी है। उन्होने निर्देश दिया कि कैली ओपेक अस्पताल तथा जिला अस्पताल में एक प्रशासनिक अधिकारी तथा एक डाॅक्टर नोडल अधिकारी के रूप में नामित किए जाय, जो कोविड कमाण्ड सेण्टर से समन्वय स्थापित करते हुए मरीजो को भर्ती करा सकें।
उन्होने कहा कि कैली ओपेक अस्पताल तथा जिला अस्पताल में कोरोना संक्रमित, कोरोना संभावित, सभी प्रकार के मरीज तत्काल भर्ती किए जाय तथा उनका तत्काल इलाज शुरू किया जाय। इसमें किसी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेंगी। उन्होने निर्देश दिया कि सीएमओ स्थानीय नर्सिंग होम एंव निजी चिकित्सालयों से वार्ता कर उन्हें खुलवाये ताकि कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों का समुचित इलाज कराया जा सकें। उन्होने निर्देश दिया कि कोविड का इलाज कर रहे प्राइवेट अस्पताल किसी मरीज से इलाज के पहले धन जमा नही करायेंगे तथा निर्धारित शुल्क से अधिक पैसा नही लेंगे। जिला प्रशासन द्वारा प्राईवेट एंबुलेन्स का रेट भी निर्धारित कर दिया गया है। इसकी शिकायत मिलने पर जिला प्रशासन तत्काल कार्यवाही करें। उन्होने निर्देश दिया कि ग्रामीण क्षेत्र में निराश्रित व्यक्तियों के दाहसंस्कार के लिए ग्राम पंचायत विभाग द्वारा 05 हजार रूपये की व्यवस्था की गयी है।
जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने बताया कि जिले में कुल 1144 कोरोना के सक्रिय केस है। कोरोना पाजिविटी रेट अधिकतम 10.61 रहा है, जो अब 4.62 हो गया है। होम आइसोलेशन में कुल 912 लोग है। जिले में ओपेक कैली अस्पताल, सेल्टर होम, जेल, कृष्णा मिशन हास्पिटल तथा एसआर हास्पिटल में मरीजो का इलाज किया जा रहा है। निगरानी समिति द्वारा घर-घर भ्रमण अभियान के दौरान 387738 घरों का विजिट किया गया, जिसमे 4440 लक्ष्णयुक्त व्यक्ति मिले तथा सभी का सैम्पलिंग कराया गया। 14570 परिवारों में दवा का किट वितरित किया गया।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव, सीएमओ डाॅ0 अनूप कुुमार, सीएमएस डाॅ0 आलोक वर्मा, डाॅ0 सोमेश श्रीवास्तव, डाॅ0 सुष्मा सिन्हा, डाॅ0 जीएम शुक्ला, यूनिसेफ के आलोक राय, यूएनडीपी के हरेन्द्र मिश्रा, रमंन मिश्र, विनय सिंह, उमेश उपस्थित रहे। निरीक्षण के दौरान प्राचार्य डाॅ0 नवनीत कुमार, सीएमएस डॉ० सोमेश श्रीवास्तव, डॉ० जीएम शुक्ला, डॉ० अनिल यादव एवं अन्य डॉक्टर उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.