Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
जयंती पर याद किये गये किशोर कुमार, कलाकारों ने गीतों से बांधा समा छह अस्पतालों को मिली कायाकल्प अवार्ड की सौगात जनेश्वर मिश्र के जन्म दिन पर समाजवादियों ने निकाली साईकिल यात्रा दुर्भावना से ग्रस्त होकर भाजपा ने रोकी थी केजरीवाल सरकार की डोर डिलिवरी योजना 7 अगस्त को वितरित किया जायेगा दिव्यांगजनों को सहायता उपकरण जिले के 01 लाख 33 हजार व्यक्तियों को मिला अन्न योजना का लाभ कांग्रेस पिछड़ा वर्ग ने पद यात्रा निकालकर राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन पंचायत अध्यक्ष संजय ने पात्रों में किया अनाज का वितरण साईकिल यात्रा निकालकर समाजवादियों ने भाजपा सरकार पर साधा निशाना अन्न महोत्सव मंें विधायक संजय ने गिनाई उपलब्धियां

सीएम ने दिया प्रत्येक जिले में 100 बेड का पोस्ट कोविड अस्पताल शुरू करने के निर्देश

बस्ती। प्रदेश के सभी जनपदों में 01 जून से 18 से 44 वर्ष आयु के लोगों को कोविड-19 का टीका लगवाया जायेंगा। उक्त घोषणा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। वे बस्ती में मण्डलायुक्त सभागार में अधिकारियों एंव जनप्रतिनिधियों की संयुक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावको, न्यायिक अधिकारियों, सरकारी कर्मचारियों तथा मीडिया के प्रतिनिधियों को टीका लगाने के लिए अलग से काउन्टर खोले जायेंगे। उन्होने जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे एक-एक सीएचसी/पीएचसी गोद ले तथा उसका नियमित रूप से विजिट करें। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिया कि टीकाकरण, सैनिटाइजेशन तथा फागिंग की सूचना जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करावे ताकि वे इसका सत्यापन कर सके।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि प्रत्येक जिले में 100 बेड का पोस्ट कोविड अस्पताल शुरू करें, जहाॅ कोविड से ठीक हुए मरीजो का आवश्यकतानुसार पुनः भर्ती करके आगे इलाज किया जा सके। उन्होने निर्देश दिया कि प्रत्येक जिले में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन एवं फागिंग, निगरानी समिति द्वारा स्क्रीनिंग एंव दवा किट वितरण, कोविड कमाण्ड एवं कंट्रोल सेण्टर द्वारा फील्ड में किए जा रहे कार्य का सत्यापन तथा कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए अस्पतालों की तैयारी कुल 04 कार्यक्रम प्राथमिकता पर संचालित किए जाय। उन्होने कहा कि इसके साथ ही वरसात को देखते हुए इन्सेफलाइटिस, डेंगू, चिकुनगुनिया आदि बीमारियों से सुरक्षा के लिए भी प्रबन्ध किए जाय। उन्होने कहा कि प्रत्येक गाॅव एवं वार्ड में दिन में सैनिटाइजेशन तथा रात में फागिंग किया जाय। मच्छरों का लार्वा को समाप्त करने के लिए कार्य किया जाय। उन्होने ग्रामीणों को खुले में शौच न करने तथा शौचालय का उपयोग करने के प्रति जागरूकता बढाने का भी निर्देश दिया।
उन्होने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर को रोकने में सभी ने अच्छा कार्य किया है लेकिन अभी हमें सर्तक रहना होगा। यह एक महामारी है इसलिए सामान्य बीमारी से इसकी तुलना करना उचित नही है। प्रदेश के सभी जिलों को आक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनाने के लिए हर जिले में प्लान्ट स्वीकृत किया गया है और उस पर काम भी चल रहा है। उन्होने निर्देश दिया कि प्रत्येक आक्सीजन प्लान्ट के लिए एक नोडल अधिकारी नामित करे, जो कार्यदायी संस्था से समन्वय स्थापित करके इसको शीघ्र स्थापित कराये। ब्लैक फंगस से निपटने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे है। उन्होने कहा कि सीएचसी/पीएचसी पर अभी ओपीडी शुरू नही की जायेंगी लेकिन जिला अस्पताल में नाॅनकोविड अस्पताल संचालित करके गम्भीर रोगो के मरीजो का इलाज किया जायेगा। अन्य लोग टेली कन्सल्टेन्सी के माध्यम से डाक्टरों से परामर्श कर सकते है। उन्होने कहा कि महिला एवं बच्चों के लिए अलग से अस्पताल संचालित किया जाय। सभी सीएचसी/पीएचसी में साफ-सफाई, रंगाई-पोताई अगले एक सप्ताह में करा ले। सभी उपकरण एंव मशीन सही करा लें। उन्होने कहा कि जिले के अस्पतालों में जिलाधिकारी तथा मेडिकल कालेज में वहाॅ के प्रधानाचार्य, पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति के संबंध में कार्यवाही शुरू कराये। सभी पैरामेडिकल स्टाफ, नर्स को डीआरडी मेडिकल कालेज सेसम्पर्क करके टेनिंग दिलाये। वेन्टीलेटर संचालित करने के लिए आईटीआई के छात्रों को ट्रेंड करें। उन्होने कहा कि 108 एंबुलेन्स का बेहतर उपयोग करते हुए रिस्पान्स टाइम कर किया जाय।
उन्होने निर्देश दिया कि कम्युनिटी किचन संचालित कराये जिसके द्वारा अस्पतालों में भर्ती मरीजो के परिजनों, मजदूरों, स्ट्रीट वेण्डर, पल्लेदारों एवं फुटपाथ पर रह कर गुजारा करने वालों को दो वक्त का शुद्ध, सात्विक एवं ताजा भोजन मिल सकें। उन्होने निर्देश दिया कि कोरोना कफ्र्यू के नियमों का कडाई से पालन कराये। कन्टेनमेन्ट जोन में कडाई बरते। यद्यपि की उद्योग, कृषि, सब्जी मण्डी खोलने की अनुमति दी गयी है लेकिन वहाॅ भीड एकत्र न होने दें। उन्होने कहा कि शादी-विवाह में 25 से अधिक लोगों को जाने की अनुमति न दे और इसका कडाई से पालन भी कराये। जून माह में फ्री खाद्यान्न वितरित किया जायेंगा। ऐसी व्यवस्था बनाये की पात्र व्यक्तियों को खाद्यान्न मिल सकंे।
विधायक दयाराम चैधरी ने कहा कि मैनपावर बढाकर उन्हें टेªंड किया जाय। विधायक अजय सिंह ने कहा कि हर्रेया में 100 बेड का महिला अस्पताल चालू कराया जाय। विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने कहा कि ब्लैक फंगस से बचाव के लिए आवश्यक इंजेक्शन उपलब्ध कराया जाय। विधायक चन्द्र प्रकाश शुक्ला ने कहा कि मेडिसिन किट एंव आक्सीजन की उपलब्धता पर जोर दिया। विधायक रवि सोनकर ने सीएचसी/पीएचसी पर ओपीडी शुरू करने का अनुरोध किया। संतकबीर नगर के विधायक राकेश सिंह बघेल ने पैरामेडिकल स्टाफ बढाने पर बल दिया। दिग्विजय नारायण उर्फ जय चैबे ने जिला अस्पताल के एनिस्थीसिया तथा नाक, कान, गला का डाक्टर तैनात करने का अनुरोध किया।
बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह तथा उद्यान राज्य मंत्री श्रीराम चैहान, प्रमुख सचिव सूचना संजय प्रसाद भी उपस्थित रहें। मण्डलायुक्त अनिल कुमार सागर ने मण्डल में कोरोना की स्थिति पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होने बताया कि कोविड के 660 से बढाकर 1230 बेड तैयार किए गये है। बस्ती में 05, संतकबीर नगर तथा सिद्धार्थनगर मे 4-4 प्लान्ट की स्थापना की कार्यवाही की जा रही है। बस्ती में 50 पोस्ट कोविड केयर बेड तथा 50 पीकू बेड तैयार कर लिए गये है। कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए ई0टी0सी0, मीनी पीकू तथा पीकू के 212 बेड तैयार कर लिए गये है। मण्डल में 45 वर्ष से उपर के 05 लाख तथा 18 वर्ष से अधिक आयु के 22967 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है।
बैठक में जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल,संतकबीर नगर की जिलाधिकारी श्रीमती दिव्या मित्तल, पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव, संतकबीर नगर के डाॅ0 कौस्तुभ, प्राचार्य मेडिकल कालेज डाॅ0 मनोज, सीएमओ डाॅ0 अनूप कुमार, सीएमएम डाॅ0 आलोक कुमार, डाॅ0 सोमेश श्रीवास्तव तथा अन्य विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.