Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
रेलवे से रिटायर्ड इंजीनियर को दबंग ठेकेदार ने अपने दो साथियों के साथ रात भर बंधक बनाकर पीटा राखी बंधवाने आए एक युवक की दो लोगों ने ब्लेड से रेत दिया गला, आरोपियों के तलाश मे पुलिस राज्य कर्मचारियों ने निकाली तिरंगा यात्राः डीएम ने बढाया हौसला एपीएन के छात्रों ने निकाली तिरंगा यात्रा पोषण व पुनर्वास केन्‍द्र में भर्ती बच्‍चों ने एक दूसरे को बांधी राखी गर्भावस्था में महिलाएं हो सकती हैं वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम की शिकार नगर पंचायतों में जलकर प्राप्त करने के लिए डीएम ने दिए निर्देश बेगम खैर गर्ल्स इण्टर कालेज की छात्राओं ने निकाली तिरंगा यात्रा 14 अगस्त को आयोजित हो रहे तिरगां यात्रा को लेकर तैयारियों पर चर्चा आज मेट्रो ट्रेन मॉडल का वर्चुअल अनावरण करेंगे मुख्यमंत्री योगी

हल्का बुखार बना रहे तो करें एक्यूप्रेशर की रंग चिकित्सा उपचार:डॉ अर्चना

बस्ती। विश्व संवाद परिषद की योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ की उत्तर प्रदेश अध्यक्षा डॉ अर्चना दुबे ने बताया कि वास्तव में बुखार आना एक संकेत होता है जिससे हमें किसी भी रोग के बारे में पता चलता हैस कोरोना का बुखार सामान्य तौर पर 9 दिनों का होता है किंतु जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर है उनमें हल्का बुखार 9 दिन से 3 महीने तक भी बना रह सकता हैस ऐसे व्यक्ति की सारी रिपोर्ट नॉर्मल होती है और उसे कोई तकलीफ भी नहीं होती जिससे इनके मन में संदेह होता है कि यह बुखार क्यों है?क्या कोरोना शरीर में अभी भी है और यदि है तो रिपोर्ट एवं लक्षण सामान्य कैसे हैं तथा इसका क्या उपचार करें?
कोरोना के शरीर से निकल जाने के बाद भी बुखार रहने का कारण शरीर में बचा हुआ प्रदाह यानी पदसिंउउंजपवद होता है जो शरीर के अंगों के साथ ही हमारे हाइपोथैलेमस (तापमान नियंत्रण केंद्र) को भी प्रभावित कर देता है जिसे अपने आप सेट होने में लगभग 3 माह या कभी- कभी उससे अधिक लग सकता हैस इसका कोई नुकसान नहीं हैस यदि आप इसे समय से पहले ठीक करना चाहते हैं तो प्रतिदिन बुखार के ठीक होने तक अंगूठे में स्थित बिंदु पर काला रंग तथा छोटी उंगली पर स्थित बिंदु पर भूरा रंग लगाकर इसे ठीक कर सकते हैं।