Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
यूपी की भाजपा सरकार को तिरंगा यात्रा भी लगता है अवैध- संजय सिंह जागरूकता का परिचय दें अन्त्योदय कार्ड धारक, बनवाएं आयुष्मान कार्ड 30 अक्टूबर तक जिले के सभी बैंक शाखाओं पर आयोजित किया जायेंगा कैम्प सपा की मासिक बैठक में बनी रणनीति इस बार दीपवाली में 11 फिट के दिये के साथ जगमगाएगा अमहट घाट श्रमिको के लिए कल्याणकारी योजनाओं को संचालित कर रही है प्रदेश सरकार-सुनील कुमार भराला टीकाकरण कर्मियों की लगन का फल है सफल टीकाकरण एक माह में नौ हजार अंत्योदय लाभार्थियों ने किया आवेदन श्री रामलीला महोत्सव में गुरुवार को राम बारात एवं राम विवाह का किया गया मंचन 100 करोड़ कोविड टीकाकरण में जिले ने दिया 8.55 लाख का योगदान

प्रत्येक ब्लॉक में 2-2 एफपीओ गठित करने का निर्देश, किसानों को मिलेंगी सुविधाएं

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती। किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) बनाकर खेती एवं उससे जुड़े अन्य क्रियाकलापों को बढ़ावा दिया जाए ताकि किसानों की खेती की लागत घट सके तथा उनकी आय में बढ़ोतरी हो सके। उक्त निर्देश प्रदेश के कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा ने वर्चुअल माध्यम से मंडलीय उत्पादकता खरीफ गोष्ठी को संबोधित करते हुए दिए हैं। उन्होंने कहा कि एफपीओ से अधिक से अधिक किसान जुड़ेंगे, उन्हें समय पर कृषि यंत्र, बीज, खाद एवं अन्य सुविधाएं प्राप्त होंगी, साथ ही उन्हें उनके उत्पादों की मार्केटिंग की सुविधा भी मिल सकेगी जिससे उनको अच्छी आय होगी। उन्होंने उद्यान, पशुपालन, मत्स्य एवं अन्य कृषि कार्यों से जुड़े विभागीय अधिकारियों को जिला स्तर पर इसकी कार्ययोजना बनाकर प्रत्येक ब्लॉक में 2-2 एफपीओ गठित करने का निर्देश दिया है।
उन्होंने कहा कि गेहूं खरीद का कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं है। जब तक किसान गेहूं बेचने के लिए क्रय केंद्र पर आते हैं क्रय केंद्र को संचालित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि कोई भी गेहूं क्रय केंद्र बंद न किया जाए। इस वर्ष गेहूं की रिकॉर्ड खरीद की गई है। गेहूं खरीद में आने वाली दिक्कतों को विभागीय अधिकारी दूर करना सुनिश्चित करें।
अपर मुख्य सचिव, कृषि, देवेश चतुर्वेदी ने कहा कि खराब सोलर पंप को ठीक करने के लिए कंपनियों द्वारा स्थापित सर्विस सेंटर का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए। यदि किसी कंपनी का सर्विस सेंटर नहीं खुला है तो इसकी सूचना तत्काल उपलब्ध कराएं।
उन्होंने कहा कि छोटी जोत के किसानों का ब्लॉकवार सर्वे करा लें ताकि उनके किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के संबंध में निर्णय लिया जा सके। उल्लेखनीय है कि इस संबंध में मंडलायुक्त अनिल कुमार सागर ने बताया कि छोटी जोत के किसानों का 5 से रू० 8000 का किसान क्रेडिट कार्ड बन पाता है जो उनके लिए लाभदायक नहीं है तथा बैंक भी इसमें आनाकानी करते हैं। उन्होंने अनुरोध किया था कि ऐसे किसानों के बारे में शासन स्तर पर निर्णय लेकर कार्यवाही की जाए। अपर मुख्य सचिव ने सहायक निदेशक कृषि रक्षा को निर्देशित किया कि हल्दिया रोग के रोकथाम के लिए कार्ययोजना बनाकर भेजें।
उन्होंने कहा कि मंडल में सिद्धार्थनगर तथा संत कबीर नगर जिले में किसानों को खाद की उपलब्धता के लिए रेलवे का रेक पॉइंट बनाया जाए।
जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने बताया कि पिछले वर्ष की तुलना में 150 प्रतिशत अधिक गेहूं की खरीद जिले में की गई है। सभी गेहूं क्रय केंद्र अभी भी संचालित किए जा रहे हैं। उन्होंने अनुरोध किया कि सरयू नहर खंड अयोध्या की नहरों को पूरी क्षमता से संचालित करने के लिए परियोजना पूरी करना आवश्यक है इसके लिए धन उपलब्ध कराया जाए। इस दौरान संयुक्त निदेशक कृषि अनिल कुमार तिवारी, उपनिदेशक कृषि डॉ० संजय त्रिपाठी, जिला कृषि अधिकारी संजेश श्रीवास्तव तथा विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। खरीफ गोष्टी के अंत में कृषि निदेशक ने सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। गोष्ठी को लखनऊ से निदेशक उद्यान, पशुपालन, मत्स्य ने भी संबोधित किया तथा विभागीय योजनाओं की जानकारी दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.