Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
‘महीने में आठ बार आयरन और छह महीने पर विटामिन ए सीरप का सेवन आवश्यक’’ बच्चों को विटामिन ए पिलाकर बाल स्वास्थ्य पोषण माह का शुभारंभ पेगासस साफ्टवेयर का इस्तेमाल भारतीय संस्थाओं और पत्रकारों पर करना देशद्रोह-महेन्द्र श्रीवासतव लक्ष्मण पाण्डेय हत्याकाण्ड के दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग, बबिता शुक्ल ने सौंपा ज्ञापन डॉ. अजीत प्रताप शिक्षक प्रकोष्ठ, गिरीश पाण्डेय को भाजपा पंचायत प्रकोष्ठ संयोजक बनाये जाने पर प्रसन्न... पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं को विभिन्न पदों की सौंपी गयी जिम्मेदारी सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष पद का प्रेरक मिश्रा ने संभाला कार्यभार ब्लाक प्रमुखों को प्रशासनिक एंव वित्तीय अधिकार दिलाने के लिए किया जायेंगा प्रयासः राजेन्द्र प्रताप स... प्रभारी मंत्री ने कप्तानगंज ब्लाक में निरीक्षण कर जाना योजनाओं का हाल 25,000 के इनामिया वांछित अभियुक्त पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तारः-

कोरोना प्रोटोकॉल का करें पालन, ढिलाई पड़ेगी भारी

– कार्यालयों, बाजारों तथा सार्वजनिक स्थानों पर विशेष सावधानी बरतें

– कोरोना के मामले कम हुए हैं, खतरा कम नहीं, बनाए रखें शारीरिक दूरी

कबीर बस्ती न्यूज,संतकबीरनगरजनपद में कोविड के मामले काफी कम हो गए हैं। सक्रिय मामलों की संख्या 63 रह गई है। दूसरी ओर जनपद अनलॉक भी हो गया है और लोग अपने काम धंधों पर जाने लगे हैं। बेशक यह राहत की बात है, लेकिन यह भी याद रखें कि ऐसा लोगों के संयमित होकर घरों में रहने और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने से संभव हुआ है। कोविड प्रोटोकॉल की फिर से अनदेखी भारी पड़ सकती है । खासकर कार्यालयों और बाजारों में विशेष तौर पर सावधान रहने की जरूरत है। हमेशा मॉस्क का प्रयोग करें, अपने हाथों को साबुन-पानी से धोते रहें और शारीरिक दूरी बनाए रखें।

यह बातें कोविड हास्पिटल के प्रभारी व एसीएमओ वेक्टर बार्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम डॉ. वी पी पाण्डेय ने कहीं। उन्होने आगे कहा कि कोविड के मामले कम हुए हैं लेकिन अभी खतरा खत्म नहीं हुआ है। काम धंधे शुरू होने से लोगों ने कार्यालयों और बाजार में जाना शुरू कर दिया है। ऐसे में लोगों के संपर्क में आने की संभावना बढ़ गई है। मानवीय आदत यह भी देखने में आई है कि जिन लोगों से हम रोजाना मिलते हैं, उनके साथ रहते हुए कोविड प्रोटोकॉल भूल जाते हैं। कार्यालयों में अक्सर ऐसा होता है। अपने सहकर्मी के साथ बैठकर लोग मॉस्क भी उतार देते हैं और उससे दो गज की सुरक्षित शारीरिक दूरी का भी पालन करना भी भूल जाते हैं, बस यही आदत खतरे में डालने के लिए काफी है। ऐसा कतई न करें, बल्कि इस बात का भी ध्यान रखें कि सहकर्मियों के कार्यालय से निकल जाने के बाद भी मॉस्क लगाकर रखें, क्योंकि अब कोविड का खतरा ड्रॉपलेट से कम और ऐरोसोल से ज्यादा है। दरअसल कोरोना का नया म्यूटेंट काफी छोटा हो गया है और वह काफी देर तक हवा में रह सकता है। इसलिए ऑफिस, बाजार या अन्य सार्वजनिक जगह पर यदि आपके आसपास कोई न भी हो तो भी अच्छे से मॉस्क लगाकर ही रखें।

नहीं करें कोई सामूहिक आयोजन

डॉ. वी. पी. पाण्डेय ने कहा कि लोगों को यह नहीं भूलना चाहिए कि लॉकडाउन के चलते ही कोरोना पर काबू पाया जा सका है। इसलिए मूवमेंट कम से कम रखते हुए केवल जरूरी काम करते रहें। सामूहिक रूप से कोई आयोजन न करें। पार्टी आदि में जाने से परहेज करें । सही मायने में कहा जाए तो दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है, हां इस पर अंकुश जरूर लगा है। लोग यह न मान लें कि कोरोना चला गया है। सावधानी से ही कोरोना को पूरी तरह हरा सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.