Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
समाजवादी पार्टी सांस्कृतिक प्रकोष्ठ पदाधिकारियों की घोषणा रोटरी ने ग्राम प्रधान को भेंट किया कोरोना से बचाव का संसाधान राज्य स्तरीय फार्म एन फ़ूड अवार्ड से नवाजे गए किसान संघर्ष और साधना की मिसाल है सप्रे जी का जीवन : हृदय नारायण दीक्षित फोकस्ड सैम्पलिंग में नहीं मिला एक भी कोरोना मरीज डीएम, एसपी ने किया जिला कारागार का किया गया आकस्मिक निरीक्षण यशकान्त सिंह अध्यक्ष, अनिल दूबे प्रमुख संघ के महामंत्री बन कोविड-19 से संबंधित आवश्यक मेडिकल सामग्री तैयार करने का उधम शुरू करें उधमी: डीएम कोविड-19 गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए मनाया जाएगा स्वतंत्रता दिवस प्राकृतिक तरीको से घटाए यूरिक एसिड का लेवल- डा.वी.के.वर्मा

ब्लाक प्रमुख पद के नामांकन मे ठांय-ठांय, जमकर चटकी पुलिस की लाठियां

– गौर वि0ख0 में नामांकन के दौरान कई गुटों मे बंटे भाजपाईयों पर पुलिस ने पर बरसाई लाठियां

– दुबौलिया मे दो पक्षों मे चली गोलियां, हुईं लाठियों की बरसात

– बनकटी मे निर्दल प्रत्याशी को पर्चा दाखिल करने से घंटों रोका, अन्त फाड दिया गया पर्चा

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती,उ0प्र0।

सरकारें बहुत बनीं और समाप्त भी हुईं लेकिन प्रदेश की भाजपा की सरकार लोकतंत्र का ही हत्या करने व कराने पर उतारू है। चाहे अमन जलाना पडे या चमन जलाना पडे लेकिन कुर्सी भाजपा की ही होनी चाहिए ऐसा फार्मूला भाजपा सरकार की हो गयी है। ऐसा ही सच जिले के तीन विकास खण्डों पर गुरुवार को ब्लाक प्रमुख पद के नामांकन के दौरान देखने को मिला। पुलिस का अमान्य चेहरा देखने को मिला। गैर भाजपाई अपना नामाकंन न करने पाये इसके लिए पुलिस ने निर्दोषों पर लाठियां भांजने मे पीछे नही रही।

जिले के गौर विकास खण्ड मे नामांकन के दौरान कई गुटों मे बंटे भाजपाइयों को पुलिस ने ब्लॉक परिसर के बाहर दौड़ा दौड़ा कर पीटा। जिसके विरोध में भाजपा कार्यकर्ता ब्लॉक गेट के बाहर धरने पर बैठे और पुलिस के इस रवैए के खिलाफ मोर्चा खोलकर नारेबाजी करना शुरू कर दिया। गौर थानाध्यक्ष शमशेर बहादुर सिंह को उनके मनमानी रवैया के कारण हटाने की मांग की। भाजपाई इसी मांग पर ब्लॉक गेट पर खड़े हैं। सोचने वाली बात यह है कि सीओ और एसडीएम के होते हुए भी पुलिस द्वारा इस प्रकार से असामान्य कारनामे को अंजाम दिया गया। हलांकि एसपी आशीष श्रीवास्तव ने थानाध्यक्ष शमशेर बहादुर सिंह को लाइन हाजिर करते हुए राजेश कुमार मिश्र को गौर थाने का कमान सौंपा है।
बृहस्पतिवार को ब्लाक प्रमुख का नामांकन मे भाजपा समर्थित प्रत्याशी कांति शुक्ला पत्नी जटाशंकर शुक्ला और दूसरा पक्ष विजयकांती पत्नी अरविंद सिंह और अंजली सिंह पत्नी धर्मेंद्र सिंह ने नामांकन किया। जिस पर पुलिस द्वारा भाजपा समर्थकों पर दुर्व्यवहार करते हुए लाठीचार्ज किया गया। सूचना पर मौके पर पहुंचे एसपी व डीएम ने नामांेन कराया। यहां दो पर्चे आवेदन मे कमी होने के कारण खारिज कर दिए गये। गौर से भाजपा समर्थित प्रत्याशी कांति शुक्ला पत्नी जटाशंकर शुक्ला ब्लाक प्रमुख पद पर विजयी द्योषित की गयीं।

दुबौलिया विकास खण्ड मे दागी गयीं गोलियां, कई घायल

ग्यारह बजे के करीब जैसे ही नामांकन प्रक्रिया शुरू हुई भाजपा समर्थित उम्मीदवार विनय सिंह सोनू ने नामांकन किया। तभी ब्लॉक मुख्यालय के सामने रामजानकी मार्ग पर प्रमुख पद प्रत्याशी गीता यादव अपने सैकडो समर्थको के साथ नामांकन के लिए जा रही थी कि दोनो पक्षो के समर्थक आमने सामने हो गये। नोकझोंक के साथ जमकर लाठी डंडे, ईट पत्थर चलने लगे। वही मौके पर खडी पुलिस मूक दर्शक नजर आई। इसी बीच भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष भगवान बक्स सिंह अपनी पत्नी सरोज के नामांकन के लिए पहुच गये। इन के साथ भी जमकर बवाल हुआ। इन की भी गाडी को तोड दिया गया। सड़क पर बवाल के दौरान दोनो समर्थको मे एक राऊड से अधिक फायरिंग भी हुई। जिससे बाईस वर्षिय श्याम सुंदर निवासी एकडेगवा एंव सागर निवासी नटवाजोत गोली लगने से घायल हो गये। जिन का इलाज जिला अस्पताल मे चल रहा है। उपद्रव की सूचना पर कप्तानगंज, नगर , हर्रैया की पुलिस भी पहुच गई और रामजानकी मार्ग से समर्थको को हटवाया। दुबौलिया ब्लाक पर बवाल की सूचना पर डीएम सौम्या अग्रवाल एंव एसपी आशीष श्रीवास्तव, एडीएम अभय कुमार मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक दीपेन्द्र कुमार चैधरी,तहसीलदार चन्द्रभूषण प्रताप, नायब तहसीलदार मौके पर पहुंच कर घटना का जायजा लिया और प्रमुख पद प्रत्याशी गीता यादव और सरोज सिंह का नामांकन दाखिल करवाया।
वही भाजपा समर्थित विनय सिंह सोनू के आधा दर्जन लोग भी घायल बताये जा रहे है। सूत्रों के मुताबिक क्षेत्रीय विधायक एक किमी दूर रहकर घटनाक्रम की जानकारी ले रहे थे।

विकास खएड बनकटी मे –

भाजपा समर्थित प्रत्याशी मेवाती देवी ने पर्चा दाखिल कर दिया। लेकिन यहां निर्दल प्रत्याशी संजू देवी को पर्चा दाखिल करने से घंटो रोका गया। क्षेत्रीय जनता के दबाव मे पर्चा तो दाखिल हो गया लेकिन किसी ने एक पर्चा फाड दिया। पर्चा फाडने वाले को पुलिस ने हिरासत म ेले लिया है।यहां की स्थिति केवल हाथापाई एवं नोंकझोंक तक ही सीमित रहा। यहां लाठियों को तकलीफ नही उठाना पडा।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.