Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
जयंती पर याद किये गये किशोर कुमार, कलाकारों ने गीतों से बांधा समा छह अस्पतालों को मिली कायाकल्प अवार्ड की सौगात जनेश्वर मिश्र के जन्म दिन पर समाजवादियों ने निकाली साईकिल यात्रा दुर्भावना से ग्रस्त होकर भाजपा ने रोकी थी केजरीवाल सरकार की डोर डिलिवरी योजना 7 अगस्त को वितरित किया जायेगा दिव्यांगजनों को सहायता उपकरण जिले के 01 लाख 33 हजार व्यक्तियों को मिला अन्न योजना का लाभ कांग्रेस पिछड़ा वर्ग ने पद यात्रा निकालकर राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन पंचायत अध्यक्ष संजय ने पात्रों में किया अनाज का वितरण साईकिल यात्रा निकालकर समाजवादियों ने भाजपा सरकार पर साधा निशाना अन्न महोत्सव मंें विधायक संजय ने गिनाई उपलब्धियां

विद्यार्थी परिषद के 73 वें स्थापना दिवस पर संगोष्ठी में विमर्शः रोपे पौध

 कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती,उ0प्र0। 

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 73 वां स्थापना दिवस जनपद के 12 नगर इकाईयों द्वारा सघन पौधरोपण, संगोष्ठी, स्वच्छता अभियान सहित विभिन्न कार्यक्रमों के साथ मनाया गया।
किसान इण्टर कालेज के सभागार में आयोजित संगोष्ठी को मुख्य वक्ता के रूप में सम्बोधित करते हुये लेफ्टिनेन्ट जे.के. शाही ने कहा कि विद्यार्थी परिषद छात्रों, युवाओं को विश्व का बड़ा संगठन है। यहां छात्रों को उचित मार्ग दर्शन दिया जाता है जिससे वे सुयोग्य नागरिक बन सके। उन्होने छात्रों का आवाहन किया कि वे बदली परिस्थितियों और कोरोना महामारी को देखते हुये अपनी भूमिका सुनिश्चित करें। युवाओं पर ही देश की भविष्य निर्भर है। कहा कि जिन परिस्थितियों में 72 वर्ष पूर्व अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का गठन हुआ उन संकल्पों को और प्रभावी ढंग से क्रियान्वित किये जाने की आवश्यकता है।
जिला संयोजक अर्षित जायसवाल ने बताया कि इसी कड़ी मंें बस्ती सदर, मुण्डेरवा, महसो, कलवारी, रूधौली, गौर, बभनान, सिकन्दरपुर, परसरामपुर, हर्रैया, कप्तानगंज एवं दुबौलिया में परिषद पदाधिकारियों द्वारा सघन पौधरोपण किया गया। हर्रैया में अध्ययन ओझा के संयोजन में तपसी धाम मंदिर परिसर में स्वच्छता अभियान चलाया गया।
पौधरोपण, संगोष्ठी एवं स्वच्छता अभियान में मुख्य रूप से पवन प्रकाश श्रीवास्तव, डॉ. अनुपम पाण्डेय, वृजेश पासवान, अर्मत्य पाण्डेय, चंदन कुमार, सुधांशु त्रिपाठी, वृजभूषण उपाध्याय, आनन्द शुक्ल, सतीश द्विवेदी, आदर्श मिश्रा, अभिनव सिंह, अखिलेश, आनन्द मणि त्रिपाठी, जितेन्द्र द्विवेदी आदि ने योगदान दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.