Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
94.6 प्रतिशत अंक अर्जित पर ऐश्वर्या माथुर ने बढाया जनपद का मान शिक्षकों ने खण्ड शिक्षा अधिकारी इन्द्रजीत को दिया भावभीनी विदाई हस्तशिल्प विकास योजना की दिया जानकारी, हस्तशिल्पियों से बनाया संवाद सपा की बैठक में बूथ स्तर पर मजबूती का निर्णय कांग्रेस ने मनाया दलित सम्मान दिवस, निकाली पद यात्रा लगाया कोविड का टीका,गांव-गांव पहुंची टीम इंडियन पब्लिक स्कूल के सभी छात्र उत्तीर्ण, 33 प्रतिशत बच्चों को मिला 90 प्रतिशत अंक जिले में 2582 दिव्यांगों को वितरण किया जायेगा उपकरण 5 अगस्त को जिले के समस्त कोटे की दुकानों पर होगा अन्न महोत्सव का आयोजन लीजेंड दादा साहेब फालके अवार्ड से सम्मानित की गई मशहूर हस्तियां

इस बार 22 तारीख को मनेगा खुशहाल परिवार दिवस, नवाचार पर होगा जोर

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सभी 43 चिकित्सा इकाइयों को दिया दिशा-निर्देश

हर महीने की 21 तारीख को मनाया जाता है खुशहाल परिवार दिवस

कबीर बस्ती न्यूज,गोरखपुर उ0प्र0।

इस महीने खुशहाल परिवार दिवस 22 जुलाई को मनाया जाएगा। मिशन निदेशक के स्तर से प्राप्त दिशा-निर्देश के क्रम में नयी तारीख से संबंधित दिशा-निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधाकर पांडेय ने भी सभी 43 चिकित्सा इकाइयों को जारी किया है। इस मौके पर नवाचार पर विशेष जोर होगा। परिवार नियोजन की सेवाओं से योग्य दम्पत्ति को जोड़ने के लिए हर महीने की 21 तारीख को इस दिवस का आयोजन किया जाता है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि 21 जुलाई को राजकीय अवकाश होने के कारण यह दिवस 22 जुलाई को मनाया जाना है। इस मौके पर परिवार नियोजन से जुड़ी सभी सामग्री की शत-प्रतिशत उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी और आयोजन की रिपोर्ट जिला स्तर पर प्रेषित करने के साथ-साथ एचएमआईएस पोर्टल पर भी अपडेट करने को कहा गया है। बारिश को देखते हुए लाभार्थियों के बैठने और पेयजल की भी व्यवस्था करने को कहा गया है। परिवार नियोजन की सेवा एवं परामर्श के लिए एक अलग से काउंटर बनाया जाएगा ताकि निजता का ध्यान रखते हुए परामर्श दिया जा सके।

सीएमओ डॉ. पांडेय ने बताया कि इस मौके पर एक वर्ष के भीतर प्रसव करवाने वाली उच्च जोखिम गर्भावस्था (एचआरपी) वाली महिलाओं, नवविवाहित दम्पत्ति और ऐसे दम्पत्ति जो परिवार नियोजन के लिए उपयुक्त लाभार्थी हैं, उन्हें चिकित्सा इकाई तक लाने का प्रयास आशा कार्यकर्ता के स्तर से किया जाएगा। एचआरपी महिलाओं को पीपीआईयूसीडी सेवा के लिए प्रेरित करना है। उन्हें गर्भनिरोधक छाया गोली और प्रसव उपरान्त नसबंदी के लिए भी प्रेरित करना है। योग्य दम्पत्ति को परामर्श देकर आईयूसीडी, महिला नसबंदी और पुरुष नसबंदी के लिए प्रेरित करना है।

नवाचारों को मिलेगा सम्मान

मुख्य चिकित्सा अधिकारी का कहना है कि जो चिकित्सा इकाइयां संचार और अभियान के स्तर पर कोई नवाचार अपनाती हैं उनकी रिपोर्ट राज्य स्तर पर भेजी जाएगी। राज्य स्तर से ऐसे तीन से चार उत्कृष्ट जनपदों को पुरस्कृत करने की योजना है।  जिन जिलों को पुरस्कार मिलेगा उनके अधिकारियों और कर्मचारियों का नाम सोशल मीडिया पेज पर प्रदर्शित कर सम्मान दिया जाएगा।

33 महिला नसबंदी हुई

मंडलीय फैमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजर अवनीश चंद्र ने बताया कि पिछले माह 21 जून को मनाये गये खुशहाल परिवार दिवस के दिन निर्धारित सेवा दिवस के माध्यम से 33 महिलाओं को नसबंदी की सुविधा दी गयी, जबकि एक पुरुष ने नसबंदी की सेवा अपनायी। 378 महिलाओं ने अंतरा,132 ने आईयूसीडी और 72 ने पीपीआईयूसीडी की सेवाएं प्राप्त कीं। इस मौके पर 444 छाया गोली, 649 माला एन और 5296 कंडोम वितरित किये गये।

Leave A Reply

Your email address will not be published.