Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
टोल प्लाजा के अलावा अन्य सर्विस रोड पर वाहनों से वसूली पर तत्काल प्रतिबंध लगाने के लिए डीएम ने दिया ... बहू की प्रताड़ना से परेशा बुजुर्ग दम्पति ने पुलिस अधीक्षक से लगाई न्याय की गुहार जर्जर सड़क निर्माण की मांग को लेकर बबिता शुक्ला ने सौंपा ज्ञापन ग्राम पंचायतां में कराये गये कार्यो में अनियमितता पाये जाने पर दुरूपयोग की गयी धनराशि की वसूली तथा उ... सिचाई बन्धु की बैठक मे विकास कार्यों पर हुई चर्चा विधायक संजय ने चौपाल में गिनाई उपलब्धियां, प्राथमिक शिक्षा  को बेहतर बनाने पर जोर ग्राम पंचायतों मे हुए गबन पर प्रधान व सिक्रटरी पर गिरी डीएम के कार्रवाई की गाज, वसूली के आदेश स्थायी लोक अदालत के गठन क्षेत्राधिकार तथा कार्य शैली का विस्तृत प्राविधान स्काउट गाइड का प्रयास सराहनीय- नीता यादव विकास कार्यो की समीक्षा बैठक मे डीएम ने दिए गोल्डेन कार्ड बनवाने में तेजी लाने के निर्देश

योग वैलनेस सेंटर नि:शुल्क पांच दिवसीय योग शिविर का प्रथम दिवस – राममोहन पाल

बच्चों के मस्तिष्क के विकास में लाभकारी है ध्रुव आसन – डॉ शची

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती। उ0प्र0।

 विश्व संवाद परिषद योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के तत्वावधान में  डॉ नवीन सिंह के अध्यक्षता में प्रथम दिन की गई जिसके अंतर्गत बस्ती पांच दिवसीय नि:शुल्क प्रशिक्षण संकल्प योग वैलनेस सेंटर , जय शक्ति मैरिज हॉल कंपनी बाग में  27 अगस्त से 31 अगस्त तक समय प्रातः5:00 से 7:00 तक दिया जा रहा है। उक्त जानकारी देते हुए विश्व संवाद परिषद के जिला अध्यक्ष राम मोहन पाल ने बताया कि संकल्प योग वेलनेस सेंटर पर योग, ध्यान ,जल नेती ,सूत्र नेती, एरोबिक्स ,जुंबा ,मार्शल आर्ट, कराटे का भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है उन्होंने ध्रुव आसन के बारे में बताते हुए कहा कि यह मानसिक एकाग्रता प्राप्त करने का आसन है छात्र छात्राओं के लिए यह आसन अत्यंत उपयुक्त है क्योंकि इससे स्मरण शक्ति का विकास होता है और आलस्य दूर होता है पैरों की चर्बी और पेट कम होता है पैरों में मजबूती आती है और शरीर का संतुलन बेहतर होता है याददाश्त और एकाग्रता बढ़ती है तथा मस्तिष्क शांत रहता है अभ्यास करते समय सर्वप्रथम दोनों पैरों को एक दूसरे से 2 इंच की दूरी पर रखकर खड़े हो जाएं आंखों के सामने किसी बिंदु पर ध्यान केंद्रित करें श्वांस को शरीर के बाहर छोड़ते हुए दाएं पैर को मोड़कर उसके पंजे को बाएं पैर की अंदरूनी जांघ पर रखें अभ्यास करते समय ध्यान रखें कि एड़ी मूलाधार पेरिनियम मिलती होनी चाहिए। इस स्थिति में 10 से 30 सेकंड तक रहें इसके दौरान समान रूप से श्वांस लेते रहे।
ध्रुव आसन का लाभ बताते हुए संकल्प योग वैलनेस सेंटर के योगाचार्य डॉ शचि श्रीवास्तव ने बताया कि यह आसन तंत्रिका से संबंधित स्नायुओं के समन्वय को बेहतर बनाता है शरीर को संतुलित बनाता है और सहनशीलता एवं जागरूकता बढ़ाता है पैरों की मांसपेशियों को गठीला बनाता है और लिगामेंट्स को भी मजबूत करता है उसके साथ कुछ सावधानियों को ध्यान रखना चाहिए जैसे अर्थराइटिस चक्कर आने और मोटापा होने पर इस आसन का अभ्यास ना करें। इसके साथ योग अपनाओ रोग भगाओ इस निशुल्क पांच दिवसीय योग चिकित्सा शिविर में अधिक से अधिक लोगों को लाभ मिल सकेगा ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.