Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सिद्वार्थनगर पहुंची राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल, कार द्वारा बौद्ध तीर्थ लुम्बिनी के लिए प्रस्था... मनरेगा से स्वीकृत 24 में से मात्र 08 कार्य पूर्ण होने पर जिलाधिकारी ने व्यक्त किया असंतोष बैठक मे लिया गया मशरूम तथा काला नमक की खेती को बढावा देने का लिए निर्णय टेढे-मेढे पैर वाले बच्चो के उपचार के लिए की जायेंगी परिवारों की काउंसलिंग 40 दिव्यांगजनो को मिला ट्राईसाइकिल मार्ग दुर्धटना मे घायल हे0कां0 गोविन्द कुमार की मौत, पार्थिव शरीर को एसपी ने दी सलामी कांग्रेस जिला कार्यकारिणी का विस्तार, उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव, कोषाध्यक्ष घोषित अधिवक्ता दिवस के रूप में प्रथम राष्ट्रपति डा.राजेन्द्र प्रसाद को जयन्ती पर किया नमन् जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डा. राजेन्द्र प्रसाद फोकस्ड सैम्पलिंग के जरिए माप रहे कोरोना का प्रभाव

एक माह में नौ हजार अंत्योदय लाभार्थियों ने किया आवेदन

 23 सितंबर को आयुष्मान दिवस से बनना शुरू हुआ है कार्ड
88 हजार परिवारों को मिलना है आयुष्मान भारत योजना का लाभ
कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।
एक माह के अंदर लगभग नौ हजार अंत्योदय कार्ड धारकों ने आयुष्मान भारत योजना में शामिल होने के लिए आवेदन किया है। 23 सितंबर को आयोजित आयुष्मान दिवस से अंत्योदय कार्ड धारकों का भी आयुष्मान कार्ड बनना शुरू हुआ है। आवेदन में आई इस तेजी के पीछे लोगों में इस योजना के प्रति आई जागरूकता मुख्य कारण है। आयुष्मान कार्ड के लिए आवेदन में आई तेजी के साथ ही अब इस योजना का लाभ उठाने वालों की संख्या में भी तेजी से इजाफा हो रहा है।
आयुष्मान भारत योजना के नोडल ऑफिसर डॉ. सीएल कन्नौजिया ने बताया कि 23 सितंबर को आयुष्मान दिवस से प्रदेश सरकार ने ‘आयुष्मान अंत्योदय के द्वार’ कार्यक्रम का शुभारंभ किया है। इसके तहत मुख्यमंत्री जनआरोग्य अभियान के तहत अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को भी आयुष्मान योजना में शामिल करते हुए उनका कार्ड बनाया जाना शुरू किया गया है। जिले में लगभग 88 हजार अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को इस योजना का लाभ मिलना है। उन्होंने बताया कि अब तक लगभग नौ हजार लोगों ने आवेदन किया है तथा काफी लोगों को कार्ड भी निर्गत हो चुका है।
उन्होंने बताया कि अंत्योदय कार्ड धारकों को चाहिए कि वह अपना राशन कार्ड व आधार कार्ड लेकर नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाएं , और वहां से नि:शुल्क कार्ड बनावाएं। राशन कार्ड में परिवार के जितने लोगों का नाम है, सबका अलग-अलग कार्ड बनना अनिवार्य है।
14 हजार लोग करा चुके हैं इलाज
आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक जिले के 14 हजार से ज्यादा लोग नि:शुल्क इलाज करा चुके हैं। इसमें 3696 ऐसे लोग हैं, जिन्होंने गैर जनपद व महानगर के अस्पतालों में इलाज कराया है। डॉ. कन्नौजिया ने बताया कि एक परिवार को एक साल में पांच लाख रुपए तक नि:शुल्क इलाज की सुविधा मिल रही है। इलाज योजना से संबंद्ध भारत के किसी भी सरकारी व निजी अस्पताल में आयुष्मान कार्ड प्रस्तुत कर कराया जा सकता ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.