Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
टीकाकरण में शिथिलता एवं लापरवाही पाये जाने पर 06 प्रभारी चिकित्साधिकारियों तथा 04 खण्ड विकास अधिकारि...  धान क्रय केन्द्र के संचालन में शिथिलता एवं लापरवाही पाये जाने पर गिरा तीन अधिकारियों पर कार्यवाही क... अगर बेटा परेशान करे तो मां-बाप डायल करें 14567 एल्डर हेल्पलाईन नम्बर कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु पर डीएम ने वितरित किया राज्य सरकार द्वारा घोषित रू0 50... समान वेतन, अधिकारों की मांग को लेकर संविदा कर्मियों ने मुख्यमंत्री को भेजा 7 सूत्रीय ज्ञापन व्यापारी से 10 लाख की रंगदारी मांगने वाले 3 अभियुक्त पहुंचे जेल छुट्टी बिताकर लौटने वालों की कोविड जांच के बाद ही होगी ज्वाइनिंग खेल के आयोजन में योगदान करने वालों को मिला पुरस्कार, प्रमाण-पत्र 45 बच्चों को ऑपरेशन से मिला नया जीवन महामहिम राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल का जिले मे आगमन को लेकर तैयारियों की समीक्षा

हजारों की संख्या में लखनऊ जायेंगे शिक्षक, कर्मचारी, समीक्षा बैठक में बनी रणनीति

30 की महारैली के लिये कर्मचारी, शिक्षकों ने झोंकी ताकत

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

रविवार को कर्मचारी, शिक्षक अधिकारी एवं पेशनर्स अधिकार मंच उ0प्र0  की बैठक राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के कलेक्टेªट स्थित कार्यालय पर अध्यक्ष चन्द्रिका सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में आगामी 30 नवम्बर को लखनऊ के इको गार्डेन पार्क में होने वाली की तैयारियों, रणनीति पर विचार किया गया। तैयारियों की समीक्षा करते हुये पर्यवेक्षक एवं उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के माण्डलिक मंत्री श्रीधर मिश्र ने कहा कि कर्मचारियों, शिक्षकों के लिये यह करो या मरो की स्थिति है।  इस महारैली में सर्वाधिक हिस्सेदारी से ही पुरानी पेंशन नीति बहाली एवं अन्य समस्याओं के हल होने का रास्ता निकलेगा।
समीक्षा बैठक में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद जिलाध्यक्ष मस्तराम वर्मा, जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष राम अधार पाल, तौलू प्रसाद, कलेक्टेªट संघ के जिलाध्यक्ष अशोक मिश्र, शिक्षक संघ के राजेशधर दूबे, सुधांशु मोहन, चन्द्रिका सिंह, बाल कृष्ण ओझा, दुर्गेश यादव, सुधीर तिवारी, प्रवीण श्रीवास्तव आदि ने सम्बोधित किया।
बैठक में 21 सूत्रीय मांगो को लेकर कर्मचारी, शिक्षक पदाधिकारियों ने कहा कि महारैली की सफलता के लिये एकजुट होकर सम्पर्क तेज करने की जरूरत है।  पुरानी पेशंन की बहाली, कैशलेस चिकित्सा योजना को लागू किये जाने,राज्य कर्मचारियो को 8, 16, 24 वर्ष की सेवा पर तीन पदोन्नति पद का ग्रेड वेतन दिये जाने,समस्त कर्मचारियो का 300 दिनों का उपार्जित अवकाश के स्थान पर 600 दिनों का उपार्जित अवकाश किये जाने एवं सेवा निवृत्त होने पर नगद भुगतान करने, सातवें वेतन आयोग की संस्तुति जारी करने तथा वेतन विसगंतियो को दूर किये जाने, पंचायत राजविभाग के सफाई कर्मचारियों को ग्राम प्रधानो से मुक्त करने सेवानियमावली बनाये जाने तथा प्रदोन्नति किये जाने आदि मांगो को लेकर कर्मचारी, शिक्षक पदाधिकारियों ने विन्दुवार मांगो पर विचार करते हुये कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार उनके मांगों की लगातार उपेक्षा कर रही है।
समीक्षा बैठक में मुख्य रूप से शिव प्रकाश सिंह, रत्नेश चौधरी, अभिषेक सिंह, अजय आर्य, शिवपूजन आर्य, नीरज सिंह, राजेश गिरी, अनिल पाठक, सन्तोष मिश्र, मंशाराम, ऋतुराज पाण्डेय, सीमा सिंह, सी.पी. चौधरी, प्रमोद सिंह, सनद पटेल, अटल उपाध्याय, उमाशंकर, नीरज सिंह, प्रमोद कुमार, सुभाष मिश्र, अमरेश श्रीवास्तव, नन्दनी पाण्डेय, अजय, रमाकान्त, सन्तोष पाण्डेय, बजरंगी के साथ ही कर्मचारी, शिक्षक अधिकारी एवं पेशनर्स अधिकार मंच के अनेक पदाधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.