Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
‘महीने में आठ बार आयरन और छह महीने पर विटामिन ए सीरप का सेवन आवश्यक’’ बच्चों को विटामिन ए पिलाकर बाल स्वास्थ्य पोषण माह का शुभारंभ पेगासस साफ्टवेयर का इस्तेमाल भारतीय संस्थाओं और पत्रकारों पर करना देशद्रोह-महेन्द्र श्रीवासतव लक्ष्मण पाण्डेय हत्याकाण्ड के दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग, बबिता शुक्ल ने सौंपा ज्ञापन डॉ. अजीत प्रताप शिक्षक प्रकोष्ठ, गिरीश पाण्डेय को भाजपा पंचायत प्रकोष्ठ संयोजक बनाये जाने पर प्रसन्न... पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं को विभिन्न पदों की सौंपी गयी जिम्मेदारी सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष पद का प्रेरक मिश्रा ने संभाला कार्यभार ब्लाक प्रमुखों को प्रशासनिक एंव वित्तीय अधिकार दिलाने के लिए किया जायेंगा प्रयासः राजेन्द्र प्रताप स... प्रभारी मंत्री ने कप्तानगंज ब्लाक में निरीक्षण कर जाना योजनाओं का हाल 25,000 के इनामिया वांछित अभियुक्त पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तारः-

बड़ी खबर-1 नवंबर से प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान खरीदी करने की मांग। भाटापारा विधानसभा में अधिकारियों की दलाली कर रहे हैं कांग्रेसी- भाटापारा विधायक, प्रदेश उपाध्यक्ष शिवरतन शर्मा


भाटापारा। भाटापारा विधायक प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष शिवरतन शर्मा ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के माध्यम से भूपेश बघेल से मांग करते हुए कहा कि धान खरीदी 1 नवम्बर से प्रारंभ की जाए एवं प्रति एकड़ 20 क्विंटल खरीदी की जाए। शर्मा ने राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अभी तो यह शुरुआत है,अगर सरकार अपने वादों को पूरा नहीं करी तो भाजपा की तरफ से और भी तीखे हमले उसे झेलने पड़ेंगे।
भाटापारा विधानसभा की राजनीति पर कटाक्ष करते हुए शिवरतन शर्मा ने कहा कि जैसे ही कांग्रेस की सरकार बनी भाटापारा के कांग्रेसी अधिकारियों की दलाली करने में लगे हैं। थाना हो, तहसील हो या कलेक्टर ऑफिस हो सब जगह कांग्रेस के रूप में अधिकारियों के दलाल मौजूद है।
शिवरतन शर्मा ने राज्य सरकार पर सीधा हमला करते हुए कहा कि सत्ता में आने के लिए कांग्रेस पार्टी ने जनता से जो जो वादे किए थे 22 महीना बीत जाने के बाद भी सरकार अपने वादे पूरे करने में असफल साबित हुई है। धान खरीदी, बोनस, शराबबंदी, बेरोजगारी भत्ता इनमें से कांग्रेस पार्टी ने एक भी वादा पूरा नहीं किया।
उन्होंने आगे कहा कि राज्य सरकार से कहा कि केंद्र की हमारी नरेंद मोदी सरकार ने छत्तीसगढ़ से 60 लाख मेट्रिक टन चावल खरीदने का लक्ष्य निर्धारित किया है।60 लाख मेट्रिक टन चावल के लिए 90 लाख मेट्रिक टन धान की आवश्यकता होगी।शर्मा ने कहा कि पिछले वर्ष राज्य शासन ने 83 लाख मेट्रिक टन धान खरीदा था,पिछले वर्ष की तुलना में केंद्र सरकार चावल ज्यादा मात्रा में राज्य सरकार से खरीद रही है,इसलिए राज्य सरकार को किसानों से 15 क्विंटल प्रति एकड़ में खरीदने के स्थान पर 20 क्विंटल प्रति एकड़ खरीदना चाहिए।
विधायक शर्मा ने कहा है कि इस वर्ष छत्तीसगढ़ में कृषि कार्य निर्धारित समय पर सम्पन्न हुआ है किसानों के हरुणा एवं अर्धना (अरली एवम मीडियम) धान की फसल अक्टूबर माह में पूरी तरह से कट जाएगी,,ज्यादातर किसान अपने धान की कटाई हार्वेस्टर से कराते है,, जिस कारण खलिहान में अपने फसल को रखने की आवश्यकता नही होती,,,राज्य शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर धान ख़रीदी पिछले वर्ष 01 दिसम्बर से की गई थी जिस कारण किसानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था..इस बार किसानों के हितों को ध्यान में रख कर राज्य सरकार धान खरीदी 01 दिसम्बर के स्थान पर 01 नवम्बर से एवं प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान खरीदने की व्यवस्था करे….

Leave A Reply

Your email address will not be published.