Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
टीकाकरण में शिथिलता एवं लापरवाही पाये जाने पर 06 प्रभारी चिकित्साधिकारियों तथा 04 खण्ड विकास अधिकारि...  धान क्रय केन्द्र के संचालन में शिथिलता एवं लापरवाही पाये जाने पर गिरा तीन अधिकारियों पर कार्यवाही क... अगर बेटा परेशान करे तो मां-बाप डायल करें 14567 एल्डर हेल्पलाईन नम्बर कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु पर डीएम ने वितरित किया राज्य सरकार द्वारा घोषित रू0 50... समान वेतन, अधिकारों की मांग को लेकर संविदा कर्मियों ने मुख्यमंत्री को भेजा 7 सूत्रीय ज्ञापन व्यापारी से 10 लाख की रंगदारी मांगने वाले 3 अभियुक्त पहुंचे जेल छुट्टी बिताकर लौटने वालों की कोविड जांच के बाद ही होगी ज्वाइनिंग खेल के आयोजन में योगदान करने वालों को मिला पुरस्कार, प्रमाण-पत्र 45 बच्चों को ऑपरेशन से मिला नया जीवन महामहिम राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल का जिले मे आगमन को लेकर तैयारियों की समीक्षा

36 सीसीटीवी कैमरे करेंगे कोरोना संक्रमित मरीजो के इलाज की निगरानी

जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल के इस सराहनीय कदम की आम जनता कर रही है प्रशंसा

बस्ती। महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कॉलेज की चिकित्सा इकाई ओपेक कैली अस्पताल के वार्ड एवं गलियारों में कुल 36 सीसीटीवी कैमरे से कोरोना संक्रमित मरीजो के इलाज की निगरानी की जा रही है। उक्त जानकारी जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने दी है। उन्होंने बताया कि अन्य वार्ड, गलियारों, कक्ष में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की कार्यवाही की जा रही है। एक कैमरा अस्पताल के कंट्रोल रूम मे भी लगाया गया है।
उन्होंने बताया कि यह सीसीटीवी कैमरे आईसीयू एवं ऑक्सीजन पाइप लाइन युक्त वार्ड में लगाए गए हैं। इसकी निगरानी के लिए नियमित 24 घंटे अधिकारियों की तैनाती की गई है। प्रोबेशनर डिप्टी कलेक्टर शैलेश एवं अतुल द्वारा इनकी निगरानी की जा रही है तथा इनके द्वारा रिपोर्ट तैयार कर सुधारात्मक कार्यवाही के लिए सीएमएस कैली ओपेक अस्पताल को उपलब्ध कराई जाती है। उन्होंने बताया कि सीएमएस को निर्देश दिए गए हैं कि रात में वार्ड का औचक निरीक्षण करें तथा ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर, स्टाफ नर्स, वार्डब्वाय एवं अन्य स्टाफ की उपस्थिति सुनिश्चित कराएं। उन्होंने बताया कि पूर्व में इस आशय की शिकायतें प्राप्त होती थी कि डॉक्टर, स्टाफ नर्स, वार्डब्वाय एवं अन्य स्टाफ ड्यूटी के दौरान वार्ड में नहीं रहते हैं। यहाॅ भर्ती मरीजों द्वारा कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर को फोन करके इस बारे में फीडबैक दिया जाता था परंतु सीसीटीवी कैमरा लगने के बाद अब इस तरह की शिकायतो में कमी आयी है। वार्ड में इनकी उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए सीसीटीवी कैमरे की निगरानी कराई जा रही है। वर्तमान में इस स्थिति में सुधार आया है।
जिलाधिकारी ने बताया कि स्टाफ की सुविधा के लिए भी व्यवस्था की गई है और उनके ड्यूटी रूम में एसी लगवाया गया है। स्टाफ द्वारा वार्ड में ड्यूटी के दौरान गर्मी के कारण पीपीई किट नहीं पहना जाता था, जिससे संक्रमण का खतरा बना रहता था। कमरों में एसी लग जाने से स्टाफ को सुविधा मिली है तथा वे नियमित रूप से पीपीई किट पहन रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.