Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
भाजपा नेता बलराम ने किया पब्लिक डायग्नोसिस सेन्टर के जांच की मांग नये-नये प्रयोग एवं तकनीकों से जनपद के कृषकों को आच्छादित कर करें लाभान्वित: डा0 बिजेन्द्र सिंह माउंट कार्मल कॉलेज में छात्राओं ने धूमधाम से मनाया वार्षिक उत्सव मिलजुल कर भाईचारे के साथ त्योहार मनाने की परंपरा को कायम रखने की अपील महिलाओं के सम्मान को ठेस पहुंचाने वालों के साथ सख्ती से निपटेगी पुलिस अस्पताल मे झांकने नही जाते हैं डाक्टर, हराम का उठाते हैं एक लाख रूपया महीना बस्ती के शशांक को नई दिल्ली में मिला आपदा फ़रिश्ता राष्ट्रीय सम्मान बेटियों को दिया  मिशन शक्ति अभियान की जानकारी सल्टौआ विकासखंड में मनरेगा के नाम पर जमकर भ्रष्टाचार, साहबानों का आंख बन्द रामनगर विकास खंड में कागजों में सिर्फ बह रही है विकास की गंगा

धार्मिक आयोजनों में बताएं नियमित टीकाकरण का महत्व

– धर्म गुरुओं के साथ स्वास्थ्य विभाग ने की बैठक
– नियमित टीकाकरण में प्रभावशाली लोगों का लिया जाएगा सहयोग

कबीर बस्ती न्यूजः

बस्ती। नियमित टीकाकरण का शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने व टीकाकरण के प्रति उदासीन परिवारों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करने के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने धर्म गुरुवाओं के साथ एएनएम प्रशिक्षण केंद्र में बैठक की। इस मौके पर धर्म गुरुओं से अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर नियमित टीकाकरण की प्रगति में सहयोग की अपील की गई। आयोजन यूनिसेफ ने किया था।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. विनोद कुमार ने कहा कि अभी भी कुछ उदासीन परिवार बच्चों का टीकाकरण नहीं करवा रहे हैं। काफी परिवार ऐसे भी हैं, जो समय से टीकाकरण नहीं कराते हैं, जिससे बच्चे का सम्पूर्ण टीकाकरण समय से नहीं हो पा रहा है। ऐसे बच्चों की संख्या काफी है। इन परिवारों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने की जरूरत है। आज भी लोग धर्म गुरु की बात को सर्वोपरि मानते हैं। धार्मिक आयोजनों में नियमित टीकाकरण के महत्व को बताए जाने की जरूरत है।
धर्मगुरु मुफ्ती सईद अहमद और जमदाशाही ने कहा कि तंदरूस्ती अल्लाह की नेमत है। बीमारी होने से पहले ही उसका बचाव बेहद जरूरी है। सरकार की ओर से गम्भीर बीमारियों से बचाव के लिए जो टीके बच्चों को लगवाए जा रहे हैं, वह बेहद जरूरी है।
जिले के संभ्रांत नागरिक संतोष गुप्ता व ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि कोविड से हुए नुकसान को हमने देखा है। टीकाकरण से ही आज देश कोरोना से सुरक्षित है। पोलियों से हुए नुकसान के कारण कई जिंदगियों आज भी दिव्यांग हैं, लेकिन जब पोलियो का टीका लगाने के लिए अभियान चला तो देश से पोलियो समाप्त हो गया।
जिला मलेरिया अधिकारी व जिला स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी राजेश कुमार चौधरी ने बताया कि प्रत्येक बुधवार व शनिवार को टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जा रहा है। सत्रों के बारे में जानकारी आशा और एएनएम से प्राप्त की जा सकती है। अगर कोई परिवार टीका नहीं लगवा रहा है तो उसे समझाकर टीका लगवाने में धर्मगुरु  व संभ्रांत लोग मदद करें।
जिला वैक्सीन प्रबंधक हरेंद्र मिश्रा व चाई के जिला समन्वयक मुनेश चौबे ने बताया कि सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन रखने की अच्छी व्यवस्था है। वैक्सीन की गुणवत्ता पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। इसी के साथ बाजार में महंगे दाम पर उपलब्ध वैक्सीन यहां निःशुल्क लगाई जा रही है।
डीसीपीएम दुर्गेश कुमार मल्ल, सचिन चौरसिया, प्रदीप अवस्थी, सईद अहमद, अब्दुल मजीद, राजेश कुमार यादव, जवाहर गोविंद, वीरेंद्र तिवारी, त्रियुगी नारायण, सचिन शुक्ला, विपिन राय, शैलेंद्र प्रताप सिंह, विजय प्रकाश, संतोष सिंह, जावेद अहमद, मो. कमरूद्दीन, शहाबुद्दीन, मो. आरिफ, डॉ. एमएम हक, सै. मोहम्मद ओवैस, अजय कुमार श्रीवास्तव, मो. सिद्दीक अंसारी और नरपति लाल कार्यक्रम में प्रमुख तौर पर मौजूद रहे।
वीडियो के जरिए दूर की जा रही भ्रांतियां
यूनिसेफ की डीएमसी अनिता सिंह ने टीकाकरण के प्रति  मौजूद भ्रांतियों से सम्बंधित वीडियो दिखाया। इसमें बताया गया है कि किस तरह टीका लगने के बाद बुखार आने मात्र से लोग अगला टीका नहीं लगवाते हैं। वीडियो में बताया गया है कि कुछ टीकों से बुखार आना सामान्य बात है। वीडियो में टीका न लगवाने वाली एक महिला का अंधविश्वास एक धर्मगुरू दूर कर टीका लगवाने के लिए राजी करते हैं।