Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
11 दिसम्बर को आयोजित होगा राष्ट्रीय लोक अदालत पूर्वांचल विकास बोर्ड के सलाहकार साकेत मिश्रा ने गिनाई भाजपा सरकार की उपलब्धियां पुलिस अधीक्षक ने किया यातायात माह नवम्बर-2021 का समापन अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा की गई सेवानिवृत्त कर्मचारियों की विदाई भारतीय एकता सदभावना मिशन के राष्ट्रीय महासचिव बने नोमान डीएम ने किया 2 किसान सेवा सहकारी समिति का औचक निरीक्षण कप्तानगंज की समिति पर बन्द मिला ताला छात्र संघ चुनाव में एनएसयूआई ने अंकुर पाण्डेय को घोषित किया अपना उम्मीदवार शिक्षकों ने बैठक में बनाया राष्ट्रीय आन्दोलन में हिस्सेदारी की रणनीति टीईटी परीक्षा के साल्वर गैंग के 5 गुर्गों को पुलिस ने किया गिरफ्तार ई0वी0एम0 एवं वी0वी0 पैट जागरूकता अभियान के तहत डीएम ने किया एल0ई0डी0 वैन को हरी झ्ांडी दिखाकर रवाना

कोरोना महामारी में भी कारगर हैं होम्योपैथिक दवाएं

– चिकित्सक लोगों को दवा लेने की दे रहे हैं सलाह
बस्ती। कोरोना महामारी में भी होम्योपैथिक दवाएं काफी कारगर साबित हो रही हैं। होम्योपैथी के चिकित्सक मरीजों को दवा लेने की सलाह दे रहे हैं। होम्योपैथिक दवाओं का शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा रहा है। इस समय शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाकर ही कोरोना से बचा जा सकता है।
जिला अस्पताल के आयुष विभाग में तैनात वरिष्ठ होम्योपैथी चिकित्सक डॉ. वीके वर्मा का कहना है कि कोरोना में जहां होम्योपैथी की दवाएं कारगर हैं, वहीं इससे मरीज ठीक भी हो रहे हैं। काफी लोग इम्युनिटी बढ़ाने के लिए भी होम्योपैथी दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं।
डॉ. वर्मा का कहना है कि कोरोना बीमारी में सबसे ज्यादा श्वसन तंत्र ही प्रभावित होता है। क्षतिग्रस्त श्वसनतंत्र कोरोना वॉयरस को शरीर में पनपने का उपयुक्त वातावरण उपलब्ध कराता है। इन तथ्यों को ध्यान में रखकर होम्योपैथी के योग्य चिकित्सकों ने गहन विश्लेषण के बाद कुछ दवाओं को इस बीमारी के लिए चुना है। इसमें क्लोरम, ओजोनम, काली ब्रोमियम, काली क्लोरम जैसी दवाएं शामिल हैं। उनका कहना है कि इन दवाओं का इस्तेमाल चिकित्सक की सलाह पर ही किया जाना चाहिए।
इन बातों का करना होगा परहेज
– इलाज के दौरान दूध न पिएं।
– ठंडी चीजों का इस्तेमाल न करें।
– एसी में रहने से परहेज करें।
गैर उपचारित मरीज क्या खाएं
– घर में बना हुआ खाना खाएं।
– गेहूं का आटा, दलिया, बाजरा ब्राउन राइस खाएं।
– प्रोटीनयुक्त चीजें जैसे बीन्स, दाल आदि खाएं।
– ताजे फल और सब्जियां, विशेषकर खट्टे फल जैसे मौसमी, संतरा आदि।
– दिन में रोज 8-10 गिलास पानी पिएं।
– खाने में अदरक, लहसुन, हल्दी जैसे मसालों का प्रयोग करें।
– लो फैट वाला दूध व दही लें।
– खाने को कम कोलेस्ट्राल वाले तेल में पकाएं।
– नानवेज सप्ताह में दो या तीन बार से ज्यादा न खाएं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.