Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
यूपी की भाजपा सरकार को तिरंगा यात्रा भी लगता है अवैध- संजय सिंह जागरूकता का परिचय दें अन्त्योदय कार्ड धारक, बनवाएं आयुष्मान कार्ड 30 अक्टूबर तक जिले के सभी बैंक शाखाओं पर आयोजित किया जायेंगा कैम्प सपा की मासिक बैठक में बनी रणनीति इस बार दीपवाली में 11 फिट के दिये के साथ जगमगाएगा अमहट घाट श्रमिको के लिए कल्याणकारी योजनाओं को संचालित कर रही है प्रदेश सरकार-सुनील कुमार भराला टीकाकरण कर्मियों की लगन का फल है सफल टीकाकरण एक माह में नौ हजार अंत्योदय लाभार्थियों ने किया आवेदन श्री रामलीला महोत्सव में गुरुवार को राम बारात एवं राम विवाह का किया गया मंचन 100 करोड़ कोविड टीकाकरण में जिले ने दिया 8.55 लाख का योगदान

मेडिकल कालेज प्रशासन के लापरवाही और संवेदनहीनता से मर रहे हैं कोरोना संक्रमित मरीज, सीएम से गुहार

– कैली मेडिकल कॉलेज मे व्याप्त अव्यवस्था को लेकर सीएम को भेजा 5 बिन्दुओं पर शिकायती पत्र

बस्ती। जनपद में कोरोना के संक्रमण के कारण कैली मेडिकल कॉलेज मे परिवार जनों से आम आदमी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष कुलदीप जायसवाल ने मिलकर उनकी पीड़ा को जाना और संज्ञान में लेकर मुख्यमंत्री पोर्टल पर जिले की व्यवस्था सुधारने को लेकर 5 बिंदुओं पर शिकायती पत्र भेज कर व्यवस्था सुधारने की मांग किया।
प्रेषित शिकायती पत्र में पूर्व जिला अध्यक्ष कुलदीप जायसवाल ने कहा कि आम जनता मर रही है। लेकिन कैली प्राचार्य अपने अहम से बाहर नहीं आ रहे हैं। मेडिकल कॉलेज की व्यवस्था इतनी खराब हो चुकी है ऑक्सीजन, दवाओं और पर्याप्त इलाज के अभाव में मरीज तड़प – तड़प कर मर रहे हैं। मरीजों को बेहतर सुविधा के लिए भीख तक मांगनी पड़ रही है। ऐसे में मेडिकल कॉलेज प्रशासन मरीजों की अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर रहा है। जो प्राचार्य किसी मरीज के तीमारदार को थप्पड़ मार सकता है और यह कहे कि जहां ऑक्सीजन मिले वहां ले जाओ उसके मानसिकता का पता चलता है । ऐसे तमाम दुर्व्यवहार आम जनता के साथ कैली प्राचार्य का सामने आ चुका है अगर कैली प्राचार्य अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन नहीं कर पा रहे हैं तो तत्काल अपने पद से हट जाएं , जिससे मेडिकल कॉलेज की व्यवस्था ठीक हो सके।
शिकायती पत्र कैली हॉस्पिटल लगभग 500 बेड का है जिसमें 300 बेड का उपयोग अस्पताल कोरोना वार्ड के रूप में हो रहा है बाकी 200 बेड खाली हैं । खाली ओ.पी.डी .का उपयोग कर कोरोना मरीजों भर्ती लिया जाय । साथ ही साथ शहर के निजी अस्पतालोंध् निजी स्कूलों को भी अस्पताल के रूप में कोरोना अस्पताल बनाने का निर्णय लिया जाय। कैली मेडिकल कॉलेज मे जो ऑक्सीजन पाइप लाइन से दिया जा रहा है उसकी स्थिति ठीक नहीं है जो मौतें हो रही हैं वहां भर्ती मरीजों के परिजनों की शिकायत है कि रात में ऑक्सीजन का फ्लो कम कर दिया जाता है जिससे आए दिन में रोज दहाई के आंकड़ों में मौतें हो रही हैं और ना ही ऑक्सीजन सिलेंडर समुचित मात्रा में मुहैया कराया गया है । शहर में तमाम जगह ब्लैक में भी सिलेंडर बेचा जा रहा है जिसका मनमाना कीमत लोगों से लिया जा रहा है। जिले में कोरोना में जो दवा ध्इंजेक्शन रेमेडिसिवर आदि बाजार में मनमानी रेट पर दवा विक्रेताओं द्वारा बेचा जा रहा है मार्केट से कई जीवन रक्षक दवा जो कोविड- मरीजो कोजरूरत पड़ती है मार्केट से गायब करके अनैतिक लाभ कमाया जा रहा है तमाम सर्जिकल उपकरण भी मनमाने रेट पर बेचा जा रहा है। कैली मेडिकल कॉलेज में मरीजों का खाना एवं कोविड-19 मरीजों दैनिक प्रयोग किट प्रशासन से मुहैया कराया जाता है वह अस्पतालों में नहीं कराया जा रहा है तमाम कोविड-19 मरीज वहां की अव्यवस्था का शिकार हो होकर मर जा रहे है तथा कैली मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य की लापरवाही के कारण मेडिकल कॉलेज में जो अव्यवस्था आये दिन पनप रही है आम जन में आक्रोश व्याप्त है लापरवाही का मंजर यह है कि कोई इंजेक्शन बिना मर जा रहा तो कोई प्राचार्य साहब के आदेश मेडिकल कॉलेज में पाइप लाइन से दी जा रही ऑक्सीजन को रोक – रोक चलाया जा रहा है और लोग इस आदेश के कारण मर रहे हैं । ऑक्सीजन की कमी प्राचार्य द्वारा बताकर घंटो – घंटो मरीजों को इंतजार करा कर बाहर ही मार दिया जा रहा है और भर्ती नहीं लिया जा रहा है । जबकि सरकार का सख्त आदेश है कि किसी मरीज को भर्ती के लिए मना नहीं किया जाएगा । सरकार के आदेश का सरेआम उल्लंघन कैली प्राचार्य द्वारा किया जा रहा है।
आम आदमी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष कुलदीप जायसवाल ने मुख्यमंत्री से शीध्र कार्यवाही करने की मांग की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.