Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
टीकाकरण में शिथिलता एवं लापरवाही पाये जाने पर 06 प्रभारी चिकित्साधिकारियों तथा 04 खण्ड विकास अधिकारि...  धान क्रय केन्द्र के संचालन में शिथिलता एवं लापरवाही पाये जाने पर गिरा तीन अधिकारियों पर कार्यवाही क... अगर बेटा परेशान करे तो मां-बाप डायल करें 14567 एल्डर हेल्पलाईन नम्बर कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु पर डीएम ने वितरित किया राज्य सरकार द्वारा घोषित रू0 50... समान वेतन, अधिकारों की मांग को लेकर संविदा कर्मियों ने मुख्यमंत्री को भेजा 7 सूत्रीय ज्ञापन व्यापारी से 10 लाख की रंगदारी मांगने वाले 3 अभियुक्त पहुंचे जेल छुट्टी बिताकर लौटने वालों की कोविड जांच के बाद ही होगी ज्वाइनिंग खेल के आयोजन में योगदान करने वालों को मिला पुरस्कार, प्रमाण-पत्र 45 बच्चों को ऑपरेशन से मिला नया जीवन महामहिम राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल का जिले मे आगमन को लेकर तैयारियों की समीक्षा

पुरानी पेंशन नीति की बहाली के लिये धरना, ज्ञापन 25 को

शिक्षक कर्मचारी हितों के लिये जारी रहेगा संघर्ष-उदयशंकर शुक्ल

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

केन्द्र और उत्तर प्रदेश की सरकार शिक्षक और कर्मचारी हितोें की लम्बे समय से उपेक्षा कर रही है। देश के अनेक राज्यों के कर्मचारी, शिक्षक पुरानी पेंशन नीति बहाल किये जाने की मांग को लेकर आन्दोलित हैं किन्तु उनकी जायज मांगो पर भी सरकार चुप है। ऐसी स्थिति में संयुक्त संघर्ष संचालन समिति उ.प्र. के प्रदेश व्यापी आवाहन पर आगामी 25 नवम्बर को जनपद के अधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजेंगे। यह जानकारी संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने दी। वे मंगलवार को प्रेस क्लब सभागार में पत्रकारोें से बातचीत कर रहे थे।
पत्रकारोें के प्रश्नों का उत्तर देते हुये उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि देश में सांसद, विधायकों को पेंशन प्राप्त है किन्तु अपना पूरा जीवन खपा देने वाले अधिकारियों, शिक्षकों, कर्मचारियों को पुरानी पेंशन नीति से वंचित रखा गया है। वे दिहाड़ी मजदूरों की तरह सेवायें दे रहे हैं, उनसे उनके बुढापे की लाठी छीन ली गई है, जब तक पुरानी पेंशन नीति लागू नहीं हो जाती चरणबद्ध ढंग से आन्दोलन जारी रहेगा। बताया कि आगामी 5 दिसम्बर को राजधानी लखनऊ में समिति की ओर से महासम्मेलन आयोजित किया गया है जिसमें आन्दोलन की रणनीति तय की जायेगी।
बताया कि 25 नवम्बर को होने वाले धरना प्रदर्शन एवं ज्ञापन देने वालों में संयुक्त संघर्ष संचालन समिति उ.प्र. के साथ  प्राथमिक शिक्षक संघ, उत्तर प्रदेश खण्ड शिक्षाधिकारी संघ,  राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद (एस.पी. तिवारी गुट), राज्य कर्मचारी महासंघ,  राजकीय वाहन चालक महासंघ  सफाई कर्मचारी संघ , उ.प्र. शिक्षा मित्र संघ, राज्य शैक्षणिक शिक्षणेत्तर संघ, उ.प्र. माध्यमिक शिक्षणेत्तर संघ, राजकीय महाविद्यालय शिक्षक संघ, राष्ट्रीय पेन्शनर्स समिति, उ.प्र. पालिटेक्निक महासंघ, यूपी रोडवेज इम्पलाइज यूनियन, राजकीय वित्त एवं लेखाधिकारी संघ, होमगार्ड संघ, रोजगार सेवक सघ, आगनवाड़ी संघ, यूपी टीबी. कन्ट्रोल इम्पलाइज एसोसिएशन, उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ, डिप्लोमा फार्मासिस्ट राजपत्रित अधिकारी एसोसिएशन, राजकीय महाविद्यालय शिक्षक संघ, राष्ट्रीय पेंशन संघर्ष समिति, सीनियर बेसिक शिक्षक संघ,  वाणिज्य कर एसोसिएशन, पी.आरडी. बेलफेयर एसोसिएशन सहित विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी एवं कर्मचारी, शिक्षक हिस्सा लेंगे।
प्रेस वार्ता में संयोजक सुनील कुमार पाण्डेय, शिवशंकर कुमार, विजय प्रकाश चौधरी, नरेन्द्रदेव मिश्र, रामनाथ, अतुल कुमार पाण्डेय, वेद प्रकाश मिश्र आदि शामिल रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.