Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
अयोध्या में बनेगा अनूठा मंदिरों का संग्रहालय, प्राचीन शैलियों के मंदिरों के बनाए जाएंगे कई मॉडल अंसल एपीआई के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने कसा शिकंजा, पुलिस कमिश्नर से अंसल के खिलाफ लखनऊ में दर्ज मु... कोटे के दूकान के आवंटन की मांगः डीएम को सौंपा ज्ञापन सदर विधायक महेन्द्र यादव ने मो. सलीम, शैलेन्द्र को बनाया प्रतिनिधि अदालत के आदेश के बाद भी नहीं मिला जमीन पर कब्जा, डीएम ने दिया कार्रवाई का निर्देश बच्चों के साथ ससुराल में शान्ती देवी ने शुरू किया धरना शासन के निर्देश पर हुआ परिषदीय स्कूलों की साफ—सफाई 01 जुलाई से 30 सितंबर तक संचालित किया जाएगा संभव अभियान,चिन्हित किये जायेंगे अतिकुपोषित बच्चे : सीडी... प्रतापगढ़: सिपाही संजय यादव की हत्या के मामले मे शामिल चार आरोपी पुलिस हिरासत में अलर्ट: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 682 नए मामले

एक दिवसीय शैक्षिक भ्रमण में बच्चों ने चिडिया घर और पर्यटन स्थलों का लिया जायजा

कबीर बस्ती न्यूज:
बस्ती।  हरैया विकासखण्ड के संविलियन विद्यालय गौहनिया के बच्चों का एक दिवसीय शैक्षिक भ्रमण सुबह गोरखपुर के लिए रवाना हुआ। अभिभावकों ने हरी झंडी दिखाकर बस को रवाना किया। बच्चे और अध्यापक सहित कुल 70 लोगों ने सबसे पहले गोरक्षनाथ मंदिर पहुँचकर आशीर्वाद लिया और मंदिर के ऐतिहासिक धार्मिक और पौराणिक महत्व के बारे में जानकारी प्राप्त की। इसके बाद बस शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणी उद्यान पहुँची। बच्चों ने  चिड़ियाघर का अनुशासन के साथ भ्रमण किया और उन जीवों को पहली बार देखा जिनके बारे में अभी तक पुस्तकों व कहानियों में ही पढ़ा करते थे सभी बच्चे शेर, भालू, हिरण, बारहसिंघा, दरियाई घोड़ा, गैंडा, लकड़बग्घा, घड़ियाल, मगरमच्छ व विभिन्न प्रकार के देशी विदेशी पक्षियों समुद्री मछलियों सांपों को देखकर रोमांचित हो गए। यहां से सभी लोग रामगढ़ ताल पहुँचे।  कुछ बच्चों ने अध्यापकों के साथ नौकायन का आनन्द लिया इसके बाद बच्चे वहाँ से लौटते समय संत कबीरदास जी की निर्वाण स्थली मगहर पहुँचे। बच्चे यह देखकर आश्चर्यचकित हो गए कि वहाँ कबीरदास जी की समाधि और मजार दोनों बने हुए थे अध्यापकों ने इसका कारण बताया कि कबीरदास जी को हिंदू और इस्लाम धर्म दोनों के अनुयायी पूजते थे इसलिए इनकी मृत्यु के पश्चात हुए विवाद को समाप्त करने के लिए दोनों धर्म के अनुसार उनका अंतिम संस्कार किया गया बाद में वह स्मारक समाधि एवं मजार के रूप में लोगों के श्रद्धा का केंद्र बन गया। सभी लोग इस महान संत को अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करने के बाद अपने संविलियन विद्यालय गौहनिया के लिए प्रस्थान किए। बच्चे काफी उत्साहित व प्रसन्न थे। यह शैक्षिक भ्रमण अत्यंत ज्ञानवर्धक शिक्षाप्रद और अविस्मरणीय रहा। शैक्षिक भ्रमण कार्यक्रम को सफल बनाने में शिक्षक संकुल प्रदीप मलिक प्रधानाध्यापक  चंदा रानी, चंद्र मौलीदत्त पाण्डेय, राजेश कुमार,पवन कुमार वर्मा,मंजरी श्रीवास्तवा, स्नेहलता सिंह,नीलम वर्मा विनोद कुमार,प्रेम सागर, सुभाष चंद्र सहित पूरे विद्यालय परिवार, ग्रामवासियों व अभिभावकों का विशेष योगदान रहा। विकास क्षेत्र हरैया के खण्ड शिक्षा अधिकारी व समस्त एआरपी सहित अनेक शिक्षकों ने इस सफल भ्रमण के लिए विद्यालय परिवार की सराहना की।