Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

आईजीआरएस के लम्बित मामलों का निस्तारण ना करने वाले दो एमओआईसी को शोकाज नोटिस

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक

कबीर बस्ती न्यूजः

बस्ती : आईजीआरएस के लम्बित मामलों का निस्तारण ना करने वाले एमओआईसी गौर व दुबौलिया को शोकाज नोटिस जारी किए जाने का जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने सीएमओ को निर्देश दिया है। जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि सभी हेल्थ वेलनेस सेण्टर को संचालित करायें तथा  सेण्टर/सब सेण्टर पर तैनात एएनएम एवं सीएचओ के नाम व मोबाइल नम्बर सहित सूची उपलब्ध कराये। उन्होने डीपीआरओ को निर्देशित किया कि फंसनल शौचालय बनवाना सुनिश्चित करें।
उन्होने एसीएमओ को निर्देश दिया कि परिवार नियोजन के लिए नसबन्दी के वृहद कैम्प हेतु निथियो को निर्धारित करें तथा सीएचसी पर आयोजित कैम्प में नसबन्दी हेतु आने वाले लाभार्थियों को लाभान्वित भी कराये। इसके साथ ही आई कैम्प लगवाना भी सुनिश्चित करें। उन्होने निर्देश दिया है कि सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान कार्डधारक मरीजो के इलाज की सुविधा बढाने का प्रयास करें। उन्होने सीएमओ को निर्देशित किया कि आरबीएसके टीम का रोस्टर सीडीपी, आईसीडीएस, बीईओ, जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं बेसिक शिक्षा अधिकारी को उपलब्ध कराये, जिससे टीम द्वारा सर्वे का कार्य सुचारू रूप से हो सके। विभिन्न अस्पतालों में अन्तरा का इंजेक्शन न लगाये जाने पर उन्होने नाराजगी व्यक्त किया। उन्होने कहा कि विभागीय निर्देशानुसार अन्तरा का पहला इंजेक्शन डाक्टर स्वयं लगायेंगे। अन्तरा का इंजेक्शन लगवाने के लिए लाभार्थियों का चयन एएनएम तथा आशा के माध्यम से कराया जाय।
सीएमओ डा. आर.पी. मिश्रा ने बताया कि इमरजेन्सी चिकित्सा सेवा केवल सीएचसी एवं जिला अस्पताल पर उपलब्ध होती है। मातृ मृत्यु समीक्षा हेतु सभी ब्लाक में टेªनिंग करा दी गयी है। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत ब्लाकवार प्रत्येक माह का रोस्टर जारी कर दिया गया है।
बैठक में सीडीओ डा. राजेश कुमार प्रजापति, एसीएमओ डा. ए.के. गुप्ता, मलेरिया अधिकारी आई.ए. अंसारी, एसआईसी आलोक वर्मा, बीएसए डा. इन्द्रजीत प्रजापति, जिला कार्यक्रम अधिकारी सावित्री देवी, डीपीएम सुधीर यादव, प्रभारी चिकित्साधिकारी एंव विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहें।