Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
यूपी की भाजपा सरकार को तिरंगा यात्रा भी लगता है अवैध- संजय सिंह जागरूकता का परिचय दें अन्त्योदय कार्ड धारक, बनवाएं आयुष्मान कार्ड 30 अक्टूबर तक जिले के सभी बैंक शाखाओं पर आयोजित किया जायेंगा कैम्प सपा की मासिक बैठक में बनी रणनीति इस बार दीपवाली में 11 फिट के दिये के साथ जगमगाएगा अमहट घाट श्रमिको के लिए कल्याणकारी योजनाओं को संचालित कर रही है प्रदेश सरकार-सुनील कुमार भराला टीकाकरण कर्मियों की लगन का फल है सफल टीकाकरण एक माह में नौ हजार अंत्योदय लाभार्थियों ने किया आवेदन श्री रामलीला महोत्सव में गुरुवार को राम बारात एवं राम विवाह का किया गया मंचन 100 करोड़ कोविड टीकाकरण में जिले ने दिया 8.55 लाख का योगदान

विधायक शर्मा ने दागा सवाल विभाग के अफसर ही अपने रिश्तेदारों के नाम से लाइसेंस बनाकर ठेकेदारी कर रहे, जल संसाधन मंत्री ने कहा कि एसडीओ को हटाकर वहां मुख्य अभियंता को भेजकर पूरे कार्यों की जांच कराएंगे

रायपुर। बलौदाबाजार-भाटापारा के जिलों के नहरों के रखरखाव-संधारण के नाम पर राशि डकारने का मामला गुरूवार को विधानसभा में गूंजा। जोगी पार्टी के सदस्य के सवाल पर जल संसाधन मंत्री ने एसडीओ को हटाकर चीफ इंजीनियर से प्रकरण की जांच कराने की घोषणा की।
प्रश्नकाल में जोगी पार्टी के सदस्य प्रमोद कुमार शर्मा ने मामला उठाया। उन्होंने कहा कि विभाग के अफसर ही अपने रिश्तेदारों के नाम से लाइसेंस बनाकर ठेकेदारी कर रहे हैं, और राशि हड़प ले रहे हैं। शर्मा ने कहा कि वहां कोई काम नहीं हो रहा है। ग्रामीणों ने इसको लेकर शिकायतें भी की है, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई।
जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे के पूछने पर श्री शर्मा ने कहा कि एसडीओ वीके सिरमौर पिछले 15-20 साल से पदस्थ हैं। वे अपने रिश्तेदारों के नाम से लाइसेंस बनवाकर खुद ठेकेदारी कर रहे हैं।
इस पर जल संसाधन मंत्री ने कहा कि एसडीओ को हटाकर वहां मुख्य अभियंता को भेजकर पूरे कार्यों की जांच कराई जाएगी। श्री चौबे के इस कदम की जोगी पार्टी के नेता धर्मजीत सिंह ने सराहना की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.