Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग पीएम आयुष्मान योजना: पहले से बना था कार्ड, मिला आयुष्मान का वरदान आदर्श पौधशाला तथा राजकीय सार्वजनिक उद्यान चंगेरवा का डीएम ने किया निरीक्षण डीएम के निर्देश पर रूधौली तहसील मे चला बृहद अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान डीएम ने दिया वाल्टरगंज चीनी मिल के कर्मचारियों का वेतन दिलाने का आश्वासन बीआरसी में तीन दिवसीय टीएलएम निर्माण कार्यशाला शुरू संविदा कर्मियों से परिषदीय शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों की जांच का मामला गरमाया गांव – गांव में परिवार नियोजन की अलख जगा रहा है सारथी वाहन

निर्वाचन कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं – जिलाधिकारी

बस्ती – स्वतंत्र, निष्पक्ष, एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन कराना जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। निर्वाचन कार्य के लिए तैनात सभी अधिकारी-कर्मचारी अपने दायित्वों की गंभीरता को समझें तथा पूरी निष्ठा एवं पारदर्शिता से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। उक्त निर्देश जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने दिया हैं। वे विकास भवन सभागार में पंचायत निर्वाचन के विभिन्न कार्यों के लिए तैनात प्रभारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारी की बैठक को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि मतदेय स्थल पर सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित करे। निर्वाचन कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने कहा कि निर्वाचन कार्य के लिए आहूत बैठकों में सभी प्रभारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारी की उपस्थिति अनिवार्य है। बिना अनुमति के कोई मुख्यालय न छोड़े।
उन्होंने सभी उप जिलाधिकारी तथा खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी 2953 मतदेय स्थलों का भौतिक सत्यापन कर ले। मतदेय स्थलों पर पायी गयी कमियों की सूची संबंधित विभाग को उपलब्ध कराएं ताकि समय रहते उन्हें ठीक कराया जा सके। पूर्व के मतदेय स्थल का कमरा यदि जर्जर है और उसके बगल में नया कक्ष बन गया है तो मतदेय स्थल नए कक्ष में बनाया जाएगा। खंड विकास अधिकारी सुनिश्चित करें कि कायाकल्प के बाद स्कूलों में मतदान के लिए निर्धारित कक्ष के बाहर बूथ संख्या लिखा जाए।
उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि प्रत्येक ब्लॉक पर नामांकन स्थल, स्ट्रांग रूम, मतगणना स्थल, पोलिंग पार्टी के रवानगी का स्थल, वाहन खड़ा करने का स्थल का निर्धारण कर लिया जाए। जहां भी टेंटेज लगाने की आवश्यकता है उसको देखकर नजरी नक्शा भी तैयार कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि मतगणना के दौरान प्रत्येक ब्लॉक पर मीडिया सेंटर के लिए स्थान चिन्हित कर लिया जाए जहां पत्रकारों को परिणाम के बारे में समय-समय पर सूचना उपलब्ध कराई जाएगी।
उन्होंने कार्मिक प्रभारी को निर्देश दिया कि एक पीठासीन तथा तीन मतदान अधिकारी कुल चार अधिकारी की पोलिंग पार्टी गठन करने के लिए अधिकारियों-कर्मचारियों की आवश्यक सूची तैयार हो जाए। जिन विभागों द्वारा अभी तक अधिकारियों, कर्मचारियों की सूची फ्रीज नहीं की गई है, वे 24 घंटे के अंदर कार्यवाही पूर्ण कर अवगत कराएं। 2953 मतदेय स्थल के अनुसार आवश्यक 130 प्रतिशत कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी तथा उनकी ट्रेनिंग कराई जाएगी। उन्होंने रिटर्निंग अफसर, सहायक रिटर्निंग अफसर, पीठासीन अधिकारी एवं सभी मतदान अधिकारियों के प्रशिक्षण का शेड्यूल तैयार कर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।
उन्होंने कहा कि मतदान से लेकर मतगणना संपन्न होने तक प्रत्येक ब्लॉक पर चिकित्सा व्यवस्था हेतु सीएमओ द्वारा डॉक्टर एवं अन्य स्टाफ की तैनाती की जाएगी। आवश्यकतानुसार सीसी टीवी कैमरे, वीडियोग्राफी की व्यवस्था कराई जाएगी। निर्वाचन की अधिसूचना जारी होने के साथ ही जिला स्तर पर तथा सभी ब्लॉकों पर नियंत्रण कक्ष सक्रिय कर दिया जाएगा।
उन्होंने निर्देश दिया कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान प्राप्त शिकायतों का निस्तारण के लिए त्वरित गति से कार्य करना होगा। पोलिंग पार्टी के आवागमन के लिए तथा उनके मानदेय की व्यवस्था के लिए एआरटीओ तथा मुख्य कोषाधिकारी को पहले से ही आवश्यक प्रबंध करने का उन्होंने निर्देश दिया। कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए उन्होंने संवेदनशील एवं अति संवेदनशील मतदेय स्थलों का चिन्हांकन करने तथा जोन एवं सेक्टर का निर्धारण करने का उन्होंने निर्देश दिया है। इसके लिए संबंधित एसडीएम तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी संयुक्त रुप से विचार-विमर्श करके सूची उपलब्ध कराएंगे।
अपर जिलाधिकारी अभय कुमार मिश्र ने बताया कि मत पत्र प्राप्त हो गए हैं। लगभग 8000 मतपेटियों का गिरीसिंग आयलिंग का काम पूरा कर लिया गया है तथा मतदेय स्थलों की संख्या के अनुसार सभी ब्लॉकों को पहुंचा दिया गया है। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक मतदेय स्थल पर 2-2 मतपेटी मतदान के लिए उपलब्ध कराई जाएंगी।
उन्होंने बताया कि मतदान के लिए लगभग 650 बड़े तथा 400 छोटे वाहन की आवश्यकता होगी। जिला पंचायत सदस्य का नामांकन जिले स्तर पर तथा ग्राम प्रधान, बीडीसी एवं ग्राम पंचायत सदस्य का नामांकन ब्लॉक पर होगा। चारों पदों की मतगणना संबंधित ब्लाक पर ही की जाएगी।
बैठक में पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नंदकिशोर कलाल, उप जिलाधिकारी नीरज प्रसाद पटेल, आनंद श्रीनेत, डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, सीएमओ डॉ० अनूप श्रीवास्तव, मुख्य कोषाधिकारी श्रीनिवास त्रिपाठी, सभी खंड विकास अधिकारी तथा प्रभारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारीगण उपस्थित रहे।