Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
मातृ शिशु स्वास्थ्य सेवाओं के लिए वरदान है एमसीपी कार्ड नवजात शिशु में जन्‍मजात विकृतियों को दूर करता है फोलिक एसिड गुरू जी की अकड पडी ढीली कर दिए गये निलम्बित दहेज उत्पीड़न के दो मामलों में 10 ससुरालियों पर केस पेन्शनर एसोसिएशन की बैठक 5 को पुरानी पेशन नीति बहाली की मांग को लेकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपेगे शिक्षक युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य एवं जीवन कौशल पर विशेष कार्यशाला का शुभारम्भ इलाज के दौरान समझा टीबी मरीजों का दर्द,  अब बने मददगार  नोडल अधिकारी नीना शर्मा ने रुधौली ब्लाक में चौपाल लगाकर सुनीं समस्याऐ जिले की नोडल अधिकारी के निरीक्षण में सब कुछ मिला गुड ही गुड

वाम दलों ने मोटर साईकिल जुलूस निकालकर किया भारत बंद का समर्थन

तीन कृषि कानूनों के वापसी, समर्थन मूल्य पर कानून बनाने की मांग

बस्ती – भारत बंद आवाहन की कड़ी में शुक्रवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ता और सम्बद्ध जन संगठनों के पदाधिकारी रोडवेज तिराहा स्थित भगत सिंह प्रतिमा के समक्ष एकत्र हुये। यहां से भाकपा नेता का. अशर्फी लाल, माकपा सचिव रामगढी चौधरी, सीटू नेता का.के. के. तिवारी, वीरेन्द्र प्रताप मिश्र के नेतृत्व में शहर के मुख्य मार्गो से होते हुये किसान आन्दोलन के समर्थन में बस्ती बंद का आवाहन करते हुये मोटर साईकिल जुलूस निकालकर शास्त्री चौक, दीवानी कचहरी होते हुये शिविर कार्यालय पहुंचे। यहां संक्षिप्त सभा में वक्ताओं ने केन्द्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों पर निशाना साधा।
का. अशर्फीलाल ने कहा कि भाजपा की सरकार में संविधान और लोकतांत्रिक मूल्यों की धज्जियां उड़ायी जा रही है। किसान अपने अधिकारों के लिये पिछले 4 माह से आन्दोलित है किन्तु यह सरकार उनकी आवाजों को अनसुनी कर रही है। सीटू नेता का. के.के. तिवारी ने कहा कि सरकार जब तक तीन कृषि काले कानूनों को वापस लेकर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गारन्टी कानून नहीं बनाती आन्दोलन जारी रहेगा। खेत मजदूर यूनियन के जिला मंत्री का. वीरेन्द्र प्रताप मिश्र ने कहा कि जिस प्रकार से दिल्ली सरकार के अधिकार छीने गये इससे स्पष्ट है कि केन्द्र की सरकार तानाशाही रवैया अपना रही है।
मोटर साईकिल जुलूस में का. शेषमणि, सत्यराम, विफईराव, दीप नरायन मिश्र नवनीत कुमार यादव, राम सूरत, रामदयाल, रामलगन, सियाराम शंकर, वंदना चौधरी, शिवचरन, परमात्मा प्रसाद वर्मा, रामजी, कृष्णा चौधरी के साथ ही बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे।