Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
अयोध्या में बनेगा अनूठा मंदिरों का संग्रहालय, प्राचीन शैलियों के मंदिरों के बनाए जाएंगे कई मॉडल अंसल एपीआई के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने कसा शिकंजा, पुलिस कमिश्नर से अंसल के खिलाफ लखनऊ में दर्ज मु... कोटे के दूकान के आवंटन की मांगः डीएम को सौंपा ज्ञापन सदर विधायक महेन्द्र यादव ने मो. सलीम, शैलेन्द्र को बनाया प्रतिनिधि अदालत के आदेश के बाद भी नहीं मिला जमीन पर कब्जा, डीएम ने दिया कार्रवाई का निर्देश बच्चों के साथ ससुराल में शान्ती देवी ने शुरू किया धरना शासन के निर्देश पर हुआ परिषदीय स्कूलों की साफ—सफाई 01 जुलाई से 30 सितंबर तक संचालित किया जाएगा संभव अभियान,चिन्हित किये जायेंगे अतिकुपोषित बच्चे : सीडी... प्रतापगढ़: सिपाही संजय यादव की हत्या के मामले मे शामिल चार आरोपी पुलिस हिरासत में अलर्ट: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 682 नए मामले

जन्म दिन पर याद किये गये पूर्व आईएएस मेधा संस्थापक लक्ष्मीकान्त शुक्ल

बस्ती – पूर्व आईएएस मेधा संस्थापक स्व0 लक्ष्मीकान्त शुक्ल को उनक 68 वें जन्म दिन पर बुधवार को याद किया गया। लोहिया मार्केट परिसर में  आयोजित  कार्यक्रम में  मेधा प्रवक्ता दीन दयाल त्रिपाठी ने कहा कि छात्रों को आर्थिक आधार पर शुल्क प्रतिपूर्ति और छात्रवृत्ति की सुविधा, जाति मुक्त संविधान की परिकल्पना देने वाले लक्ष्मीकान्त को सेवा काल में ही जाति राज पुस्तक लिखने के कारण बसपा की सरकार में उत्पीड़न का शिकार होना पड़ा। उनकी किताब जातिराज को तत्कालीन सरकार ने प्रतिबंधित कर दिया इसके बावजूद वे डिगे नहीं और शिक्षा, जातिगत आरक्षण के सवाल पर सड़क से सर्वोच्च न्यायालय तक आखिरी सांस तक लड़ते रहे।डीडी तिवारी ने कहा कि यदि लक्ष्मीकान्त शुक्ल के संकल्पों, सिद्धान्तों का दृढता से पालन हो तो अनेक समस्याओं का समाधान हो जायेगा। कहा कि मेधा उनके सपनों को पूरा करने की दिशा में निरन्तर प्रयत्नशील है, जब तक जाति मुक्त संविधान का सपना पूरा नहीं होता चरणबद्ध ढंग से संघर्ष अनवरत जारी रहेगा। कहा कि एकल पद में आरक्षण समाप्त किये जाने की जरूरत है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में संविधान के भावना की धज्जियां उड़ायी जा रही है। इसे मेधा चुनौती देगा। मेधा मण्डल अध्यक्ष अंकेश पाण्डेय ने कहा कि एससीएसटी एक्ट का दुरूपयोग कर सवर्णो का उत्पीड़न किया जा रहा है। निर्दोषोें के फर्जी मुकदमों की वापसी, फर्जी मुठभेड़ोें की जांव की मांग को लेकर मेधा संघर्ष तेज करेगी।पूर्व आईएएस मेधा संस्थापक स्व0 लक्ष्मीकान्त शुक्ल के चित्र पर माल्यार्पण कर नमन् करने वालों में उमेश पाण्डेय ‘मुन्ना’, जय प्रकाश गोस्वामी,  राहुल तिवारी, अनिल कुमार चौबे, आलोक शुक्ल, मनमोहन तिवारी, शशांक पाण्डेय, दुर्गेश मिश्र, प्रमोद पाण्डेय, विकास पाण्डेय, विकास तिवारी, देवेश पाण्डेय, गुड्डू मिश्र, दीपक मिश्र, प्रांजल पाण्डेय, वरूण पाण्डेय वत्स, विशाल शुक्ल, गगन पाण्डेय, आजाद तिवारी, चन्द्रशेखर चौधरी  आदि शामिल रहे।