Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
ललितपुर: पाली थाने में किशोरी से दुष्कर्म मामले में शासन के निर्देश पर एसआईटी का गठन, जांच शुरू अर्यांश ने अपने नए रैप सांग ‘लाइफ‘ में किया 20 भाषाओं का प्रयोग, डीएम ने प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्... राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगेंगे सीसी टीवी कैमरे, आटोमेटिक मशीन करेगी दनादन चालान, कवायद शुरू राजकीय कृषि बीज भण्डार से उन्नतशील प्रमाणित बीज प्राप्त कर उत्पादकता में वृद्धि कर सकते है किसान भारतीय कुर्मी महासभा ने राज्यपाल को भेजा 2 सूत्रीय ज्ञापन उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के त्रैवार्षिक अधिवेशन में उठे मुद्दे गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों में लगाए गए सरकारी ताले राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 14 मई को सामूहिक दवा सेवन कार्यक्रम में मददगार बनेगा नगर निगम और नागरिक सुरक्षा कोर खाद्य सुरक्षा विभाग ने छापेमारी कर एकत्र किया नमूना, भेजा जांच के लिए प्रयोगशाला

पचपेडिया रोड के निर्माण की मांग को लेकर 09 को धरना प्रदर्शन करेंगे स्थानीय नागरिक

बस्ती। शहर से हाइवे को जोड़ने वाले प्रमुख मार्ग पचपेडिया रोड के निर्माण की मांग को लेकर 09 अप्रैल को स्थानीय नागरिक और व्यापारी धरना प्रदर्शन करेंगे। आयोजन को सफल बनाने के लिये लोगों से संपर्क किया जा रहा है। 24 अप्रैल को जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर नागरिकों ने चेताया था कि रोड की मरम्मत नही हुई तो आन्दोलन ही आखिरी विकल्प है।

लेकिन किसी जनप्रतिनिधि या प्रशासन की ओर से कोई ठोस पहल नही शुरू की गयी। यह बातें व्यापारी नेता एवं बस्ती उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष आनंद राजपाल ने कहीं। उन्होने बुधवार को जारी विज्ञप्ति में कहा कि पिछले तीन साल से पचपेड़िया रोड को लेकर लोग दुश्वारियां झेल रहे हैं। प्रशासन और नगरपालिका स्थानीय नागरिकों को गुमराह करता रहा। 28 मार्च को शहर के कटेश्वरपार्क में सांसद ने भी सड़क बनवाने की बात कही थी लेकिन इसका भी कोई असर नही रहा।

उन्होने कहा धरना प्रदर्शन जनता का लोकतांत्रिक अधिकार है बाकी जिम्मेदारी जन प्रतिनिधियों और प्रशासन की है। समस्याओं की अनदेखी कई बार इस हद तक पहुंच जाती है कि सारे बंद हो जाते हैं ऐसे में स्थानीय नागरिकों के सहयोग से 09 अप्रैल से निर्णायक संघर्ष शुरू होगा। जनसंपर्क कर समर्थन जुटाने वालों में खन्ना, बीडी पाण्डेय, आनंद राठौर, सुनील कुमार गुप्ता, संजय अग्रहरि आदि मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.