Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
ललितपुर: पाली थाने में किशोरी से दुष्कर्म मामले में शासन के निर्देश पर एसआईटी का गठन, जांच शुरू अर्यांश ने अपने नए रैप सांग ‘लाइफ‘ में किया 20 भाषाओं का प्रयोग, डीएम ने प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्... राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगेंगे सीसी टीवी कैमरे, आटोमेटिक मशीन करेगी दनादन चालान, कवायद शुरू राजकीय कृषि बीज भण्डार से उन्नतशील प्रमाणित बीज प्राप्त कर उत्पादकता में वृद्धि कर सकते है किसान भारतीय कुर्मी महासभा ने राज्यपाल को भेजा 2 सूत्रीय ज्ञापन उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के त्रैवार्षिक अधिवेशन में उठे मुद्दे गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों में लगाए गए सरकारी ताले राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 14 मई को सामूहिक दवा सेवन कार्यक्रम में मददगार बनेगा नगर निगम और नागरिक सुरक्षा कोर खाद्य सुरक्षा विभाग ने छापेमारी कर एकत्र किया नमूना, भेजा जांच के लिए प्रयोगशाला

कोरोना महामारी में भी कारगर हैं होम्योपैथिक दवाएं

– चिकित्सक लोगों को दवा लेने की दे रहे हैं सलाह
बस्ती। कोरोना महामारी में भी होम्योपैथिक दवाएं काफी कारगर साबित हो रही हैं। होम्योपैथी के चिकित्सक मरीजों को दवा लेने की सलाह दे रहे हैं। होम्योपैथिक दवाओं का शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा रहा है। इस समय शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाकर ही कोरोना से बचा जा सकता है।
जिला अस्पताल के आयुष विभाग में तैनात वरिष्ठ होम्योपैथी चिकित्सक डॉ. वीके वर्मा का कहना है कि कोरोना में जहां होम्योपैथी की दवाएं कारगर हैं, वहीं इससे मरीज ठीक भी हो रहे हैं। काफी लोग इम्युनिटी बढ़ाने के लिए भी होम्योपैथी दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं।
डॉ. वर्मा का कहना है कि कोरोना बीमारी में सबसे ज्यादा श्वसन तंत्र ही प्रभावित होता है। क्षतिग्रस्त श्वसनतंत्र कोरोना वॉयरस को शरीर में पनपने का उपयुक्त वातावरण उपलब्ध कराता है। इन तथ्यों को ध्यान में रखकर होम्योपैथी के योग्य चिकित्सकों ने गहन विश्लेषण के बाद कुछ दवाओं को इस बीमारी के लिए चुना है। इसमें क्लोरम, ओजोनम, काली ब्रोमियम, काली क्लोरम जैसी दवाएं शामिल हैं। उनका कहना है कि इन दवाओं का इस्तेमाल चिकित्सक की सलाह पर ही किया जाना चाहिए।
इन बातों का करना होगा परहेज
– इलाज के दौरान दूध न पिएं।
– ठंडी चीजों का इस्तेमाल न करें।
– एसी में रहने से परहेज करें।
गैर उपचारित मरीज क्या खाएं
– घर में बना हुआ खाना खाएं।
– गेहूं का आटा, दलिया, बाजरा ब्राउन राइस खाएं।
– प्रोटीनयुक्त चीजें जैसे बीन्स, दाल आदि खाएं।
– ताजे फल और सब्जियां, विशेषकर खट्टे फल जैसे मौसमी, संतरा आदि।
– दिन में रोज 8-10 गिलास पानी पिएं।
– खाने में अदरक, लहसुन, हल्दी जैसे मसालों का प्रयोग करें।
– लो फैट वाला दूध व दही लें।
– खाने को कम कोलेस्ट्राल वाले तेल में पकाएं।
– नानवेज सप्ताह में दो या तीन बार से ज्यादा न खाएं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.