Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

कोरोना महामारी में भी कारगर हैं होम्योपैथिक दवाएं

– चिकित्सक लोगों को दवा लेने की दे रहे हैं सलाह
बस्ती। कोरोना महामारी में भी होम्योपैथिक दवाएं काफी कारगर साबित हो रही हैं। होम्योपैथी के चिकित्सक मरीजों को दवा लेने की सलाह दे रहे हैं। होम्योपैथिक दवाओं का शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा रहा है। इस समय शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाकर ही कोरोना से बचा जा सकता है।
जिला अस्पताल के आयुष विभाग में तैनात वरिष्ठ होम्योपैथी चिकित्सक डॉ. वीके वर्मा का कहना है कि कोरोना में जहां होम्योपैथी की दवाएं कारगर हैं, वहीं इससे मरीज ठीक भी हो रहे हैं। काफी लोग इम्युनिटी बढ़ाने के लिए भी होम्योपैथी दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं।
डॉ. वर्मा का कहना है कि कोरोना बीमारी में सबसे ज्यादा श्वसन तंत्र ही प्रभावित होता है। क्षतिग्रस्त श्वसनतंत्र कोरोना वॉयरस को शरीर में पनपने का उपयुक्त वातावरण उपलब्ध कराता है। इन तथ्यों को ध्यान में रखकर होम्योपैथी के योग्य चिकित्सकों ने गहन विश्लेषण के बाद कुछ दवाओं को इस बीमारी के लिए चुना है। इसमें क्लोरम, ओजोनम, काली ब्रोमियम, काली क्लोरम जैसी दवाएं शामिल हैं। उनका कहना है कि इन दवाओं का इस्तेमाल चिकित्सक की सलाह पर ही किया जाना चाहिए।
इन बातों का करना होगा परहेज
– इलाज के दौरान दूध न पिएं।
– ठंडी चीजों का इस्तेमाल न करें।
– एसी में रहने से परहेज करें।
गैर उपचारित मरीज क्या खाएं
– घर में बना हुआ खाना खाएं।
– गेहूं का आटा, दलिया, बाजरा ब्राउन राइस खाएं।
– प्रोटीनयुक्त चीजें जैसे बीन्स, दाल आदि खाएं।
– ताजे फल और सब्जियां, विशेषकर खट्टे फल जैसे मौसमी, संतरा आदि।
– दिन में रोज 8-10 गिलास पानी पिएं।
– खाने में अदरक, लहसुन, हल्दी जैसे मसालों का प्रयोग करें।
– लो फैट वाला दूध व दही लें।
– खाने को कम कोलेस्ट्राल वाले तेल में पकाएं।
– नानवेज सप्ताह में दो या तीन बार से ज्यादा न खाएं।