Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
ललितपुर: पाली थाने में किशोरी से दुष्कर्म मामले में शासन के निर्देश पर एसआईटी का गठन, जांच शुरू अर्यांश ने अपने नए रैप सांग ‘लाइफ‘ में किया 20 भाषाओं का प्रयोग, डीएम ने प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्... राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगेंगे सीसी टीवी कैमरे, आटोमेटिक मशीन करेगी दनादन चालान, कवायद शुरू राजकीय कृषि बीज भण्डार से उन्नतशील प्रमाणित बीज प्राप्त कर उत्पादकता में वृद्धि कर सकते है किसान भारतीय कुर्मी महासभा ने राज्यपाल को भेजा 2 सूत्रीय ज्ञापन उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के त्रैवार्षिक अधिवेशन में उठे मुद्दे गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों में लगाए गए सरकारी ताले राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 14 मई को सामूहिक दवा सेवन कार्यक्रम में मददगार बनेगा नगर निगम और नागरिक सुरक्षा कोर खाद्य सुरक्षा विभाग ने छापेमारी कर एकत्र किया नमूना, भेजा जांच के लिए प्रयोगशाला

कंट्रोल सेंटर में डीएम ने किया अधिकारियों एवं डॉक्टर की तैनाती

– पूरे 24 घंटे संचालित होगा कोविड-19 कमांड एवं कंट्रोल सेंटर

बस्ती। जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 कमांड एवं कंट्रोल सेंटर में पूरे 24 घंटे के लिए तीन शिफ्ट में अधिकारियों एवं डॉक्टर की तैनाती की गई है। विकास भवन परिसर में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होने कहा कि कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति को एल-2 ओपेक कैली अस्पताल या अन्य एल-1 अस्पताल में भर्ती कराने के लिए सबसे पहले कमांड सेंटर में दिए गए नंबर पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी या डॉक्टर फोन करके मरीज की आईडी जनरेट कराएंगे। कमांड सेंटर द्वारा मरीज की स्थिति तथा ओपेक कैली अस्पताल में बेड की उपलब्धता के आधार पर व्यक्ति को रेफर किया जाएगा। इस संबंध में बैठक में उपस्थित डॉक्टर जीएम शुक्ला ने बताया कि बेड और ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता हो गई है। संक्रमित व्यक्ति को भर्ती करने में अब कोई दिक्कत नहीं होगी।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि ओपेक कैली अस्पताल में तत्काल पोर्टेबल एक्सरे मशीन को चालू किया जाए जिससे कि आईसीयू में भर्ती मरीज का एक्सरे कराया जा सके। उन्होंने जिला अस्पताल में एंबुलेंस प्रभारी डॉक्टर हलधर को निर्देशित किया कि सभी 34 एंबुलेंस में ऑक्सीजन सिलेंडर भरे हुए रखे जाएं ताकि उनकी आवश्यकता पड़ने पर उनका उपयोग किया जा सके। उन्होंने सी एम एस डी स्टोर पर प्रभारी को निर्देश दिया कि एंटीजन किट जो लगभग 10,000 से अधिक उपलब्ध है सभी सीएचसी/पीएचसी पर जांच हेतु उपलब्ध कराया जाए। इसके अलावा दवाओं का किट भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराया जाए ताकि आशा के माध्यम से उन्हें मरीजों तक पहुंचाया जा सके।
उन्होंने कहा कि लगभग 3000 प्रवासी लोगों का अभी तक सेंपलिंग नहीं कराया गया है। इसमें रामनगर, दुबौलिया, बनकटी, बहादुरपुर मैं अधिक संख्या में प्रवासी शेष है। उनका शीघ्र अति शीघ्र सैंपल कराया जाए।
उन्होने निर्देश दिया कि सभी आरआरटी टीम प्रातः 08.00 बजे क्षेत्र में निकल जाये। इसके एक दिन पहले मूवमेन्ट प्लान बनाकर उन्हें उपलब्ध कराया जाय। आरआरटी टीम द्वारा प्रत्येक दिन एप पर विजिट के बारे में सूचना अपलोड कर दी जाय। यह सुनिश्चित किया जाय कि कोरोना संक्रमित पाये जाने पर आरआरटी टीम दूसरे दिन उसके घर अवश्य पहुॅच जाय। उन्होने आरआरटी टीम द्वारा किए गये फ्स्र्ट विजिट का विवरण बहादुरपुर तथा बनकटी मंे दर्ज न करने पर नाराजगी जतायी।
यूनिसेफ के आलोक राय ने बताया कि आरआरटी टीम द्वारा होमआइसोलेशन रह रहे मरीजो को विजिट करने की रिपोर्ट प्रत्येक दिन शाम को 07.00 बजे तक पोर्टल पर अपलोड करना अनिवार्य है। प्रत्येक दिन रात में 10.00 बजे इसकी रिपोर्ट मा0 मुख्यमंत्री को समीक्षा हेतु प्रस्तुत की जायेंगी। इस संबंध में जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि आरआरटी टीम द्वारा विजिट किए गये मरीजो का विवरण समयानुसार पोर्टल पर अपलोड कराना सुनिश्चित करें।
बैठक में सीडीओ डॉ0 राजेश कुमार प्रजापति, सीएमओ डॉ0 अनूप कुमार, उप जिलाधिकारी सुखबीर सिंह तथा आनंद श्रीनेत, आशाराम वर्मा, डाॅ0 सोमेश श्रीवास्तव, डाॅ0 जीएम शुक्ला, सीएमएस डाॅ0 आलोक कुमार, डॉ0 एके कुशवाहा, कृषि अधिकारी संजेश श्रीवास्तव, जगदीश शुक्ला, रमन मिश्र, पूजा पाल, इंद्रपाल सिंह, सुधीर यादव, उमेश, डाॅ0 विवेक, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी गण तथा खंड विकास अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.