Logo
ब्रेकिंग न्यूज़

हल्का बुखार बना रहे तो करें एक्यूप्रेशर की रंग चिकित्सा उपचार:डॉ अर्चना

बस्ती। विश्व संवाद परिषद की योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ की उत्तर प्रदेश अध्यक्षा डॉ अर्चना दुबे ने बताया कि वास्तव में बुखार आना एक संकेत होता है जिससे हमें किसी भी रोग के बारे में पता चलता हैस कोरोना का बुखार सामान्य तौर पर 9 दिनों का होता है किंतु जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर है उनमें हल्का बुखार 9 दिन से 3 महीने तक भी बना रह सकता हैस ऐसे व्यक्ति की सारी रिपोर्ट नॉर्मल होती है और उसे कोई तकलीफ भी नहीं होती जिससे इनके मन में संदेह होता है कि यह बुखार क्यों है?क्या कोरोना शरीर में अभी भी है और यदि है तो रिपोर्ट एवं लक्षण सामान्य कैसे हैं तथा इसका क्या उपचार करें?
कोरोना के शरीर से निकल जाने के बाद भी बुखार रहने का कारण शरीर में बचा हुआ प्रदाह यानी पदसिंउउंजपवद होता है जो शरीर के अंगों के साथ ही हमारे हाइपोथैलेमस (तापमान नियंत्रण केंद्र) को भी प्रभावित कर देता है जिसे अपने आप सेट होने में लगभग 3 माह या कभी- कभी उससे अधिक लग सकता हैस इसका कोई नुकसान नहीं हैस यदि आप इसे समय से पहले ठीक करना चाहते हैं तो प्रतिदिन बुखार के ठीक होने तक अंगूठे में स्थित बिंदु पर काला रंग तथा छोटी उंगली पर स्थित बिंदु पर भूरा रंग लगाकर इसे ठीक कर सकते हैं।