Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
रेलवे से रिटायर्ड इंजीनियर को दबंग ठेकेदार ने अपने दो साथियों के साथ रात भर बंधक बनाकर पीटा राखी बंधवाने आए एक युवक की दो लोगों ने ब्लेड से रेत दिया गला, आरोपियों के तलाश मे पुलिस राज्य कर्मचारियों ने निकाली तिरंगा यात्राः डीएम ने बढाया हौसला एपीएन के छात्रों ने निकाली तिरंगा यात्रा पोषण व पुनर्वास केन्‍द्र में भर्ती बच्‍चों ने एक दूसरे को बांधी राखी गर्भावस्था में महिलाएं हो सकती हैं वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम की शिकार नगर पंचायतों में जलकर प्राप्त करने के लिए डीएम ने दिए निर्देश बेगम खैर गर्ल्स इण्टर कालेज की छात्राओं ने निकाली तिरंगा यात्रा 14 अगस्त को आयोजित हो रहे तिरगां यात्रा को लेकर तैयारियों पर चर्चा आज मेट्रो ट्रेन मॉडल का वर्चुअल अनावरण करेंगे मुख्यमंत्री योगी

आयुष्मान कार्ड बनवाने में सहयोग के लिए प्रधानों को भेजी जाएगी पाती

– पीएमजेएमवाई की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने भेजा पत्र

– पाती में समझाया गया है आयुष्मान योजना का महत्व

संवाददाता,बस्ती। नवनिर्वाचित प्रधानों को स्वास्थ्य विभाग की ओर से बहुत जल्द पाती भेजी जाएगी। पत्र भेजकर प्रधानों से आयुष्यमान कार्ड बनवाने में सहयोग की अपील की जाएगी। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएमवाई) की मुख्य कार्यपालक अधिकारी संगीता सिंह की ओर से इस संबंध में पाती का मजमून जारी कर दिया गया है। पंचायतीराज विभाग से इस काम में सहयोग लिया जाएगा।
मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने प्रधानों को भेजी जाने वाली पाती के संबंध में जारी पत्र में कहा है कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को संचालित हुए ढाई साल से ज्यादा का समय गुजर चुका है, लेकिन अभी तक महज 22 प्रतिशत पात्र लाभार्थियों का ही आयुष्मान कार्ड बन सका है। इस संबंध में नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को अर्द्ध शासकीय पत्र प्रेषित कर उनसे योजना के सभी पात्र परिवारों का आयुष्मान कार्ड बनवाने में सहयोग की अपील की जा रही है। सीएमओ को दिशा-निर्देशित किया गया है कि जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय से नवनिर्वाचित प्रधानों की सूची हासिल की जाए। उनकी ओर से जारी प्रधानों के नाम की पाती पर ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत आदि का विवरण अंकित करते हुए प्रत्येक ग्राम प्रधान को पत्र भेजना सुनिश्चित किया जाए।
पाती में बताया गया है आयुष्मान कार्ड का महत्व
ग्राम प्रधानों को भेजी जाने वाली पाती में आयुष्मान कार्ड योजना के महत्व को बखूबी समझाया गया है। उन्हें बताया गया है कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना व मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना गरीब परिवारों के स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टिकोण से अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस योजना से आच्छादित परिवार को प्रति वर्ष पांच लाख रुपए तक की निशुल्क चिकित्सा सुविधा अनुमन्य है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए परिवार के प्रत्येक सदस्य का आयुष्मान कार्ड होना जरूरी है। कार्ड पहले से मौजूद होने पर किसी भी आकस्मिक स्थिति में अस्पताल जाने पर इलाज की सुविधा आसानी से मिल सकेगी। गांव के लाभार्थी परिवारों की सूची गांव की आशा से हासिल कर छूटे परिवारों का कार्ड बनवाने में महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान कर सकते हैं।
सरकारी व आबद्ध निजी अस्पतालो में बनेगा कार्ड
आयुष्मान कार्ड बनवाने की निशुल्क सुविधा सभी जिला स्तरीय अस्पतालों, ब्लॉक स्तरीय अस्पतालों व सम्बद्ध निजी चिकित्सालयों में उपलब्ध है। इसके अलावा कॉमन सर्विस सेंटर पर भी कार्ड बनाने की व्यवस्था है। लाभार्थी का नाम परिवार के राशन कार्ड में होने पर उसके द्वारा आधार कार्ड प्रस्तुत करने पर कार्ड जारी किया जा रहा है। कार्ड बनवाने के लिए गांव में बैठक आयोजित कर लाभार्थी परिवार के मुखिया को उसमें आमंत्रित करें तथा योजना के लाभ से उसे अवगत कराते हुए सभी सदस्यों का कार्ड बनवाने के लिए उसे प्रेरित करें।
काॅल सेंटर से ले सकते हैं जानकारी
आयुष्मान भारत योजना को संचालित करने वाली स्टेट की नोडल एजेंसी साचीज द्वारा योजना के संबंध में किसी भी तरह की जानकारी हासिल करने के लिए काॅल सेंटर का नंबर जारी किया गया है। काॅल सेंटर के नंबर- 1800 1800 4444 पर निःशुल्क संपर्क कर किसी भी तरह की जानकारी ली जा सकती है। इसके अलावा साचीज की ई-मेल आईडी पर भी पत्राचार किया जा सकता है।