Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
श्री अग्रसेन जी महाराज जयन्ती पर मरीजों में किया फल का वितरण दौड़ में संध्या, अंशू रहीं अव्वल, रेवरादास, निदूरी टीम का रहा दबदबा राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद साऊंघाट के  अधिवेशन में उठा पुरानी पेंशन नीति का मुद्दा 70 की उम्र में दी टीबी को मात..... बीपीएम ने गोद लेकर टीबी मरीज की की थी मदद 1 अक्टूबर को किसान मोर्चा द्वारा बृहद वृक्षारोपण कराने की बनी योजना सांसद ने किया गांव के लोगों के जीवन में गुणात्मक और रचनात्मक परिवर्तन लाने के लिए पूरी ईमानदारी और न... जनपद न्यायाधीश व जिलाधिकारी ने संयुक्त रूप से किया राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) का औचक निरीक्षण जिलाधिकारी कार्यालय पर होता है मुख्यमंत्री पोर्टल का मजाक मातृ-शिशु स्वास्थ्य के लिए मिसाल बनीं डॉ शशि सिंह 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियन्‍त्रण अभियान

परिवार नियोजन के लिए योग्य जन को जागरुक करने निकले फ्रंटलाइन वर्कर्स

– विश्व जनसंख्या दिवस के प्रथम चरण दंपत्ति सम्पर्क पखवाड़े का हो रहा आयोजन

– 10 जुलाई तक योग्य दम्पत्ति से सम्पर्क कर देंगे परिवार नियोजन की जानकारी

कबीर बस्ती न्यूज,संतकबीरनगर

विश्व जनसंख्या दिवस (11 जुलाई ) को स्वास्थ्य विभाग जनसंख्या स्थिरता माह के रुप में मना रहा है। इसके प्रथम चरण में 10 जुलाई तक दंपत्ति सम्पर्क पखवाड़े का आयोजन प्रारम्भ हो गया है। आशा कार्यकर्ता योग्य दम्पत्ति से सम्पर्क करके उनको परिवार नियोजन के बारे में जानकारी दे रही हैं। आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी” थीम को केन्द्र में रखकर हो रहे इस आयोजन में कोविड प्रोटोकाल का भी ध्यान रखा जा रहा है।

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी ( परिवार कल्याण ) डॉ. मोहन झा ने बताया कि जनसंख्या स्थिरता माह के प्रथम चरण का शुभारंभ हो गया है। दंपत्ति संपर्क पखवाड़े के दौरान आशा कार्यकर्ता अपने-अपने कार्य क्षेत्र की आबादी में योग्य दंपत्ति को चिन्हित करेंगी। योग्य दंपत्ति

से अभिप्राय यह है कि जिनको परिवार नियोजन के बारे में परामर्श की आवश्यकता है। लक्षित दंपति को परिवार नियोजन के लिए बास्केट ऑफ चॉइस के बारे में बताया जायेगा। आवश्यकता पड़ने पर टेली काउंसिलिंग की भी मदद ली जाएगी। दो बच्चों के जन्म के बीच कम से कम तीन साल का अंतर रखना चाहिए। इससे मातृ मृत्यु-दर में 30% एवं शिशु मृत्यु-दर में 10% की कमी लायी जा सकती है। उन्होने जनपदवासियों से अपील की है कि पुरुष नसबंदी सरल है और सुरक्षित भी, इसलिए योग्य लाभार्थी आगे आकर इस विधि का चुनाव करें और लाभ उठायें। परिवार नियोजन के प्रति लोगों के व्यवहार में परिवर्तन की जरूरत है । गर्भ निरोधक साधनों का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाना चाहिये, जिससे जन-जागरूकता आ सके।

पखवाड़े के दौरान होगा व्यापक प्रचार प्रसार

स्वास्थ्य विभाग के परिवार नियोजन प्रकोष्ठ के लॉजिस्टिक मैनेजर इम्तियाज अहमद बताते हैं कि पखवाड़े के दौरान जिले, ब्लॉक और गांव में मोबाईल पब्लिसिटी वैन से परिवार नियोजन का सन्देश प्रचारित और प्रसारित किया जाएगा। इस बार के कार्यक्रम में डिजिटल प्लेटफार्म जैसे व्हाट्सएप, एसएमएस आदि की पूरी मदद ली जाएगी। विश्व जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा का शुभारंभ जिला स्तर पर किसी माननीय से कराये जाने की योजना है। साथ ही पात्र लाभार्थी को दो महीने के लिए गर्भनिरोधक गोली और कंडोम वितरित किया जाएगा। इस दौरान अंतरा और आयूसीडी को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। हर इच्छुक लाभार्थी के लिए पुरुष या महिला नसबंदी के पूर्व पंजीकरण की भी सुविधा होगी।