Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

तीन लाख एंटीजन जांच में मिले हैं सात हजार कोविड पॉजिटिव

– एंटीजन जांच से मरीजों की पहचान हुई है आसान

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

बस्ती। जनपद में हर रोज लगभग डेढ़ हजार लोगों की एंटीजन जांच की जा रही है। सात जुलाई तक लगभग तीन लाख लोगों की एंटीजन जांच की जा चुकी है, तथा जांच के बाद सात हजार से ज़्यादा कोविड पॉजिटिव सामने आ चुके हैं। जिनकी एंटीजन जांच निगेटिव आती है तथा उनमें कोविड के लक्षण होते हैं तो उन लोगों की आरटी पीसीआर जांच कराई जाती है।

इसके अलावा जिन लोगों को विदेश यात्रा, इलाज आदि के लिए कोविड जांच प्रमाण पत्र की जरूरत होती है, उनकी आरटीपीसीआर जांच कराई जाती है। यह कहना है एसीएमओ डॉ. एफ हुसैन का। डॉ. हुसैन ने बताया कि हर रोज जिले में लगभग डेढ़ हजार एंटीजन व लगभग ढ़ाई हजार जांच आरटीपीसीआर की हो रही है। एंटीजन जांच का परिणाम तत्काल मिल जाता है तथा आरटीपीसीआर का सैम्पल लेकर जांच के लिए मेडिकल कॉलेज के लैब में भेजना पड़ता है। मेडिकल कॉलेज से सभी सैम्पल की रिपोर्ट नहीं मिल पा रही है। ऐसे में कोविड मरीज की तात्कालिक पहचान में एंटीजन जांच सबसे कारगर साबित हो रही है। उन्होंने बताया कि जांच करने वाली सभी टीमों से कहा गया है कि वह किसी संभावित मरीज की सबसे पहले एंटीजन जांच करेगा। अगर रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उसी रिपोर्ट के आधार पर तत्काल उसका इलाज शुरू कराया जाना है।

बाहर से आने वालों की एंटीजन जांच पर है जोर

कोविड की तीसरी लहर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग रेलवे स्टेशन, शहर के बड़ेबन चैराहे पर टीम लगाकर महाराष्ट्र व सिद्धार्थनगर से आने वाले लोगों की जांच करा रहा है। एसीएमओ डॉ. हुसैन का कहना है कि सभी की सबसे पहले एंटीजन जांच की जाती है, उसमें से कुछ की आरटी पीसीआर जांच की जाती है। एंटीजन जांच की पॉजिटिव रिपोर्ट को फूल प्रूफ माना जाता है। अगर किसी व्यक्ति व उसके परिवार में कोविड के लक्षण नजर आएं तो उसे तत्काल अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर सबसे पहले एंटीजन जांच करानी चाहिए। रोग का तत्काल पता लगने से मरीज का समय से इलाज शुरू किया जा सकता है तथा रोग के फैलाव को रोकने में सहायता मिलती है।