Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

जिलाधिकारी बनी निराश्रित बच्चों की संरक्षक

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती। उ0प्र0।

जिलाधिकारी ने इस अवसर पर सभी पीड़ित परिवार एवं बच्चों से भेट कर के उन्हें आश्वस्त किया कि उनकी समस्याओं का प्राथमिकता पर निस्तारण किया जायेंगा। उन्होने कहा कि वे अपनी समस्याओं के संबंध में समय-समय पर उनसे अथवा सीडीओ से सम्पर्क करके अवगत कराते रहे। बच्चों की शिक्षा एंव भरण-पोषण से हट कर भी कोई समस्या हो तो अवगत कराये। उसकी पूरी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की रहेंगी।
उन्होने सीडीओ तथा सीआरओ नीता यादव के साथ प्रत्येक परिवार से भेट किया तथा उनकी समस्याओं को सुना। जिलाधिकारी की इस पहल पर बच्चों के साथ आये उनकी माताओं ने अपनी समस्याए खुल कर बताया। सहायक भूलेख अधिकारी राधवेन्द्र पाण्डेय ने सबकी समस्याओं को नोट किया है।

जिलाधिकारी के निर्देश पर प्रोबेशन कार्यालय की समन्वयक रीना सिंह ने सभी की समस्याओं से संबंधित प्रार्थना पत्र प्राप्त किया। इसमें मुख्य रूप से रोजगार दिलाने, वरासत कराने, भूमि का पट्टा दिलाने का आग्रह किया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि इन प्रार्थना पत्रों पर समय से कार्यवाही की जायेंगी तथा स्वयं उनके ंएवं सीडीओ के स्तर पर प्रत्येक सप्ताह अनुश्रवण किया जायेंगा। इस संबंध में उन्होने पीड़ित परिवार को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए सीडीओ तथा राजस्व संबंधी लाभ दिलाने के लिए सीआरओ को निर्देशित किया है।

इस क्रम में गोरखपुर में संविदा पर तैनात रहे हेमवन्त कुमार सिंह की पत्नी द्वारा बताया गया कि उनके हिस्से की भूमि का अभी तक वरासत दर्ज नही हुआ है। इस संबंध में सीआरओ ने संबंधित एसडीएम से फोन पर वार्ता करके तत्काल वरासत दर्ज करवाया, जिसे संबंधित परिवार ने तहसील सदर में जा कर नकल भी प्राप्त कर लिया।