Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
फाइलेरिया प्रभावित अंगों की सही देखभाल करें और राहत पाएँ : डीएमओ गन्ना लदे ट्राले के पलटने से,ड्राइवर की हुई मौत बस्ती के 2 वर्ष 8 माह के बच्चे आर्यन ने बनाया एक और विश्व रिकॉर्ड पुण्य तिथि पर याद किये गये आलोचना सम्राट आचार्य रामचन्द्र शुक्ल शिविर में पथ विक्रेताओं को दिया कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी सम्पूर्ण समाधान दिवस तहसील भानपुर में 04 को प्रकरणों के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण न किए जाने पर डेढ़ दर्जन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस मुख्यमन्त्री मत्स्य सम्पदा योजना प्रारम्भ वरिष्ठता सूची जारी करने की मांग को लेकर बीएएसए को सौंपा ज्ञापन शाइन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस में विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

छह अस्पतालों को मिली कायाकल्प अवार्ड की सौगात

छह अस्पतालों को मिली कायाकल्प अवार्ड की सौगात-बस्ती मंडल में सबसे ज्यादा अस्पताल बस्ती जिले में

– पुरस्कार पाने वालों में महिला अस्पताल, सीएचसी कप्तानगंज, रुधौली, गौर, परशुरामपुर, हर्रैया शामिल

कबीर बस्ती न्यूज, बस्ती। उ0प्र0।

जिले के छह अस्पतालों का चयन कायाकल्प अवार्ड के लिए किया गया है। जिन अस्पतालों का चयन हुआ है, उसमें जिला महिला अस्पताल, सीएचसी (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र) कप्तानगंज, रुधौली, गौर, परशुरामपुर व हर्रैया के नाम शामिल हैं। बस्ती मंडल में सबसे सबसे ज्यादा अस्पताल का चयन बस्ती जिले से हुआ है। कोविड काल में भी अस्पतालों में बेहतर व्यवस्था बनाए रखने की चुनौती थी। कोविड काल में इन अस्पतालों को अवार्ड के लिए चयनित किया गया है।

मानक के अनुसार अस्पताल का संचालन करने व मरीजों को बेहतर सुविधा प्रदान करने वाली चिकित्सा इकाईयों को कायाकल्प और इन्क्वॉस अवार्ड से सम्मानित किया जाता है। आंतरिक व बाह्य मूल्यांकन में बेहतर प्रदर्शन करने वालों का चयन अवार्ड के लिए किया जाता है। इसमें साफ-सफाई, अभिलेखों का रख-रखाव, दवा आदि का प्रबंधन, बायोवेस्ट मैनेजमेंट जैसे बिंदु शामिल होते हैं। मानक में खरा उतरने के बाद राज्य स्तर से से जिला महिला अस्पताल व पांच सीएचसी का चयन कायाकल्प अवार्ड 2020-21 के लिए किया गया है। इसके तहत जिला महिला अस्पताल को 3.5 लाख रुपए तथा सभी चयनित सीएचसी को एक-एक लाख रुपए मिलेगा।

क्वालिटी एश्योरेंस सेल के जिला क्वालिटी कंसल्टेंट डॉ. अजय कुमार ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में कायाकल्प अवार्ड स्कीम के अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का तीन चरणों (इंटर्नल, पियर व एक्सटर्नल असेस्मेंट) कार्य कराया गया था। कोविड काल के कारण भारत सरकार के निर्देश पर एक्सटर्नल असेस्मेंट वर्चुअली किया गया था। उन्होंने बताया कि मानक के आधार पर प्रदेश में कुल 215 चिकित्सा इकाइयों  का चयन किया गया है। इन्हें 70 प्रतिशत से अधिक स्कोर प्राप्त हुआ है। इसमें बस्ती की छह इकाई शामिल है।

अस्पतालों को पहले भी मिल चुका है अवार्ड

जिले की चिकित्सा इकाइयों को पहले भी कायाकल्प अवार्ड मिल चुका है। इसमें जिला महिला अस्पताल सहित आठ चिकित्सा इकाई शामिल है। सीएचसी मरवटिया को वर्ष 2016-17 में सबसे पहले दो लाख रुपए कायाकल्प अवार्ड के रूप में मिला था। पीएचसी कुदरहा को तीन बार पहले यह अवार्ड मिल चुका है। 2019-20 में पीएचसी कुदरहा को दो लाख रुपए का अवार्ड मिल मिल चुका है। जिला महिला अस्पताल को तीसरी बार यह अवार्ड मिला है। इसके अलावा जिला टीबी हास्पिटल, सीएचसी कप्तानगंज, जिला अस्पताल, सीएचसी गौर, सीएचसी रुधौली, सीएचसी कप्तानगंज और पीएचसी सिकंदरपुर को यह अवार्ड मिल चुका है।