Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
मातृ-शिशु स्वास्थ्य के लिए मिसाल बनीं डॉ शशि सिंह 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियन्‍त्रण अभियान परिवहन निगम का बस स्टेशन शहर के बाहर बनवाने का प्रस्ताव शासन को भिजवाने का निर्देश डीएम ने किया ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव तथा पंचायत सहायकों से गांव के लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने... जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों द्वारा 630 आंगनबाड़ी केंद्र गोद लिए जाने से होगा व्यवस्थाओं मे सुधार: स... अपने को एकाग्र करते हुए लक्ष्य पर ध्यान व लक्ष्य को हासिल कर परिणाम दें: डीआईजी प्राथमिक शिक्षक संघ रूधौली का त्रैवार्षिक अधिवेशन सम्पन्न राष्ट्र की उन्नति में पत्रकारों का योगदान अहम-डीएम पति की क्रूरता को नही सहन कर पायी विवाहिता फिर मौत को लगाया गले, आरोपी पति गिरफ्तार मुंबई के व्यापारी ने भाजपा सांसद व फिल्म अभिनेता रवि किशन शुक्ला के हड़प लिए 3.25 करोड़ रुपये, मुकदम...

विधायक संजय प्रताप ने मुख्यमंत्री को भेजा पत्र, डाक्टरों की कमी दूर करने की मांग

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती। उ0प्र0।

भारतीय जनता पार्टी के रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कालेज, जिला चिकित्सालय में डाक्टरांें की कमी दूर कराये जाने और निजी नर्सिग होमों आदि स्थानों पर प्राइवेट प्रेक्टिस पर रोक लगाये जाने की मांग किया है।
भेजे पत्र में विधायक संजय प्रताप ने कहा है कि महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कालेज एवं  जिला चिकित्सालय में डाक्टरांें की कमी है। इसके कारण दूर दराज से इलाज के लिये आने वाले मरीजों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। जानकारी मिली है कि जिला चिकित्सालय एवं मेडिकल कालेज में विगत कई वर्षो से फिजिशियन, एम.डी., कार्डियोेलॉजिस्ट, दन्त चिकित्सक, डायग्नोसिस्ट की कमी है। इसके अलावा डिजिटल एक्स-रे, अल्ट्रा साउन्ड , सिटी स्कैन, मेडिको लीगल, खराब या अनुपलब्ध है। ओपेक चिकित्सालय कैली को मेडिकल कालेज का दर्जा दिया गया है इसके बावजूद जिम्मेदारों की निष्क्रियता के कारण मरीजों को स्वास्थ्य सुविधाओं का समुचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। अनेक चिकित्सक निजी नर्सिंग होम या प्राइवेट संस्थानों में सेवायें दे रहे है। जिला चिकित्सालय में आई.सी.यू. वार्ड नहीं है और 6 वेन्टीलेटर  होने के बावजूद डाक्टर न होने के कारण उनका संचालन नहीं हो पा रहा है।
उन्होने आग्रह किया है कि समस्याओं का त्वरित निस्तारण कराया जाय जिससे मरीजों को स्वास्थ्य सुविधायें प्राप्त हो सके ।