Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सपा की बैठक में निकाय चुनाव पर चर्चाः जावेद पिण्डारी, समीर चौधरी निकाय चुनाव प्रभारी बने अनिश्चितकालीन पूर्ण कार्य बहिष्कार करने के दृष्टिगत सभी विद्युत उपकेन्द्रों पर जोनल/सेक्टर मजिस्ट्रे... अवैध अतिक्रमण करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर दर्ज कराएं एफआईआर: डीएम निकाय चुनाव के लिये ‘आप’ ने झोंकी ताकत, कार्यकर्ता सम्मेलन में बनी रणनीति जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद गोष्ठी के माध्यम से किसानों को दी गयी महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दीदी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा विश्व विकलांग दिवस पर पर दिव्यांगों को किया गया सम्मानित पत्नी के अपहरण की आशंका, पति ने लगाया न्याय की गुहार सिर्फ रक्त और यौन सम्पर्क से फैलता है एड्स, मरीजों से न करें भेदभाव विश्व एड्स दिवस: डीएम ने फीता काटकर किया हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ

वक्रासन से यकृत प्लीहा आंते और मेरुदंड होते हैं संतुलित – राम मोहन पाल

पांच दिवसीय नि:शुल्क शिविर का दूसरा दिन

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती। उ0प्र0।

 विश्व संवाद परिषद योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के तत्वावधान में राष्ट्रीय महासचिव डॉ नवीन सिंह की अध्यक्षता में पांच दिवसीय नि:शुल्क योग शिविर के दूसरे दिन प्रातः 5:00 से 7:00 तक संकल्प योग वेलनेस सेंटर, जय शक्ति मैरिज हॉल कंपनी बाग में किया गया ।उक्त जानकारी देते हुए विश्व संवाद परिषद के जिला अध्यक्ष राम मोहन पाल ने बताया कि संकल्प योग वेलनेस सेंटर पर योग ध्यान के साथ-साथ एरोबिक्स जुंबा मार्शल आर्ट कराटे आदि का भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है ।उन्होंने वक्रासन के बारे में बताते हुए कहा कि इससे यकृत , प्लीहा , आंत और मेरुदंड को संतुलित व्यायाम मिलता है इस आसन से मस्तिष्क के अंदर ऐसे हार्मोंस की मात्रा बढ़ती है जो मस्तिष्क को शांत और संतुलित रखता है डायबिटीज , मोटापे,  कमर दर्द,  रीढ की हड्डी के लिए , कब्ज के लिए , पाचन के लिए यह लाभकारी है इसको करते हुए ध्यान देना चाहिए कि पेट दर्द के समय, घुटने में दर्द के समय , कमर में अधिक दर्द होने पर इस आसन को ना करें सरलता से करते हुए इस आसन को 3 से 5 बार करें ।वक्रासन करने के लिए पहले दोनों पैरों को फैला कर बैठे बाएं पैर को घुटने से मोड़ें और दाहिने घुटने के बगल में रखें पीठ सीधी हो सांस छोड़ते हुए कमर को बांई और मोड़े बाएं हाथ को पीछे टिकाएं और दाहिने हाथ से दाहिने घुटने को पकड़े सांस छोड़ते हुए वापस आएं इस क्रिया को दूसरी तरफ के लिए भी करें ।योग अपनाने का लो संकल्प, स्वस्थ रहने का यही है विकल्प इस संकल्प के साथ इस पांच दिवसीय नि:शुल्क योग चिकित्सा शिविर में अधिक से अधिक लोगों को लाभ मिल सकेगा । योग शिविर में योगाचार्य डॉ शची श्रीवास्तव,डॉ पंकज गौतम, श्रीमती लक्ष्मी अरोड़ा,आशुतोष मल्ल उपस्थित रहे।