Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
श्री अग्रसेन जी महाराज जयन्ती पर मरीजों में किया फल का वितरण दौड़ में संध्या, अंशू रहीं अव्वल, रेवरादास, निदूरी टीम का रहा दबदबा राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद साऊंघाट के  अधिवेशन में उठा पुरानी पेंशन नीति का मुद्दा 70 की उम्र में दी टीबी को मात..... बीपीएम ने गोद लेकर टीबी मरीज की की थी मदद 1 अक्टूबर को किसान मोर्चा द्वारा बृहद वृक्षारोपण कराने की बनी योजना सांसद ने किया गांव के लोगों के जीवन में गुणात्मक और रचनात्मक परिवर्तन लाने के लिए पूरी ईमानदारी और न... जनपद न्यायाधीश व जिलाधिकारी ने संयुक्त रूप से किया राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) का औचक निरीक्षण जिलाधिकारी कार्यालय पर होता है मुख्यमंत्री पोर्टल का मजाक मातृ-शिशु स्वास्थ्य के लिए मिसाल बनीं डॉ शशि सिंह 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियन्‍त्रण अभियान

श्रद्धांजलि सभा का आयोजन कर व्यापारी नेता नंदकिशोर साहू को किया गया याद

नंदकिशोर सही मायने में एक संगठक थे, उनका समर्पण, निर्णय लेने की क्षमता, व्यापारियों के प्रति सदभावना अनुकरणीय- आनंद राजपाल

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

मालवीय रोड स्थित बस्ती उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल कार्यालय पर एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन कर व्यापारी नेता नंदकिशोर साहू को याद किया गया। गत वर्ष कोरोना महामारी से उनकी असमय मृत्यु हो गयी थी। श्रद्धांजलि सभा में एकत्र हुये व्यापारियों व व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने नंदकिशोर साहू के योगदान को याद किया। सभा का संचालन मीडिया प्रभारी अशोक श्रीवास्तव ने किया।

अध्यक्षता कर रहे आनंद राजपाल ने कहा नंदकिशोर सही मायने में एक संगठक थे, उनका समर्पण, निर्णय लेने की क्षमता, व्यापारियों के प्रति सदभावना अनुकरणीय है। समस्याओं का निराकरण तो वे चुटकियों में कर देते थे। व्यापारी हितों के लिये संघर्ष करने की नसीहत नंदकिशोर के जीवन वृत्त से लेनी चाहिये। ओमप्रकाश आर्य ने नंदकिशोर साहू को याद करते हुये कहा कि वे विलक्षण प्रतिभा के धनी थे। नकारात्मक विचारों को वे अपने इर्दगिर्द फटकने नही देते थे। मदद करने की प्रवृत्ति तो उनके भीतर कूट कूट कर भरी थी। ऐसे विरले व्यक्तित्व का असमय जाना दुखदायी है। उनके कार्यों, सोच और परंपरा को आगे बढ़ाकर हमे उन्हे श्रद्धांजलि दे सकते हैं।

महामंत्री सूर्यकुमार शुक्ल ने कहा नंदकिशोर के लिये कोई काम मुश्किल नही था। वे दृढ प्रतिज्ञ थे, जो ठान लेते थे उसके करके मानते थे। व्यक्तिगत जीवन से ऊपर उठकर उन्होने समाज के लिये खुद को समर्पित कर दिया था। श्रद्धांजलि देने वालों में प्रमुख रूप से धर्मेन्द्र चौरसिया, सुनील कुमार गुप्ता, प्रभुप्रीत सिंह, अतुल शुक्ला, डा. अश्वनी गुप्ता, सरदार सिंह लोचन, लाला साहू, बैजनाथ अग्रहरि, सुनील कसौधन, ऋषभ गुप्ता, संजय अग्रहरि, सुनील श्रीवास्तव, हरि मोहन, शिवलाल जायसवाल, अनिल गुप्ता, राजीव अग्रवाल, रमेश सिंह, परशुराम चौधरी, अनूप अरोरा, कमल राजपाल, रामकिशोर साहू, सरदार डेजी, शम्भूनाथ कसौधन आदि शामिल थे। अंत में दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत व्यापारी नेता को साथियों ने श्रद्धांजलि दिया।