Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

वैक्सीनेशन में अब ’15 के पहले 15 पार’ की चलेगी रणनीति

– प्रदेश में हर रोज 25 लाख लोगों के वैक्सीनेशन का है लक्ष्य

– 15 नवम्बर के पहले 15 करोड़ को कोविड टीके लगाने की तैयारी

कबीर बस्ती न्यूज,संतकबीरनगर।उ0प्र0।

प्रदेश में चल रहे कोविड वैक्सीनेशन को लेकर स्वास्थ्य विभाग अब नई रणनीति पर काम कर रहा है। इसके तहत आने वाले 15 नवम्बर तक 15 करोड़ वैक्सीनेशन पार करने की योजना है। इस अभियान को पूर्ण करने के लिए प्रदेश में हर रोज 25 लाख लोगों को कोविड टीके लगाए जाएंगे। जिले में भी कोविड वैक्सीनेशन के कलस्टर माडल 2.0 को ध्यान में रखकर टीकाकरण की गति बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एस रहमान ने बताया कि गांवों में क्लस्टर अप्रोच की सफलता को देखते हुए प्रदेश सरकार एक नवंबर से क्लस्टर अप्रोच 2.0 की शुरुआत कर रही है। दूसरी डोज की रफ्तार बढ़ाने के लिए टीकाकरण की व्यवस्थाएं फिक्स बूथ क्लस्टर अप्रोच, मेगा वैक्सीनेशन डे पहले की तरह लागू रहेंगे। क्लस्टर मॉडल के जरिए जिन गांवों, मोहल्लों में प्रथम डोज लगाने का कार्य सफलतापूर्वक किया गया था, वहां दूसरी डोज को लगाने का काम किया जाएगा। 28 अगस्त तक प्रदेश में 13 करोड़ टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त कर लिया जाएगा। इसके बाद 15 नवम्बर तक 15 करोड़ वैक्सीनेशन का लक्ष्य है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए 15 से पहले 15 पार नाम से एक अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत प्रदेश में हर रोज 25 लाख कोविड वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया जाएगा। इस लक्ष्य को पूर्ण करने के लिए एक व्यापक कार्ययोजना बनाई जा रही है। इस कार्ययोजना के तहत ही अब टीकाकरण किया जाएगा। जबकि टीकाकरण के लिए अपनाए गए पूर्व के कार्यक्रम यथावत चलते रहेंगे।

क्या है कलस्टर मॉडल 2.0

क्लस्टर मॉडल के माध्यम से गांवों को उनके टीकाकरण की स्थिति के आधार पर  श्रेणियों में बांटा जाएगा। जिन गांवों ने दोनों खुराकें पूरी कर ली हैं, उन्हें कोविड सुरक्षित गांव कहा जाएगा।  लेखपालों द्वारा टीकाकरण मूल्यांकन के आधार पर, सभी गांवों को तीन श्रेणियों में बांटा जाएगा, पहला जिनमें 95 प्रतिशत या उससे अधिक पहली खुराक टीकाकरण, दूसरा 80-95 प्रतिशत पहली खुराक टीकाकरण और तीसरा 80 प्रतिशत से कम पहली खुराक टीकाकरण है।

टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने में जुटें – सीएमओ

सीएमओ डॉ. इन्द्र विजय विश्वकर्मा ने बताया कि कोविड टीकाकरण के लिए अपनाए जाने वाले नए अभियान 15  के पहले 15 पार को ध्यान में रखते हुए सभी टीम काम करें। इसके लिए आवश्यक कार्ययोजना बनाकर अभियान को सफल बनाने में सहयोग करें।