Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
अयोध्या में बनेगा अनूठा मंदिरों का संग्रहालय, प्राचीन शैलियों के मंदिरों के बनाए जाएंगे कई मॉडल अंसल एपीआई के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने कसा शिकंजा, पुलिस कमिश्नर से अंसल के खिलाफ लखनऊ में दर्ज मु... कोटे के दूकान के आवंटन की मांगः डीएम को सौंपा ज्ञापन सदर विधायक महेन्द्र यादव ने मो. सलीम, शैलेन्द्र को बनाया प्रतिनिधि अदालत के आदेश के बाद भी नहीं मिला जमीन पर कब्जा, डीएम ने दिया कार्रवाई का निर्देश बच्चों के साथ ससुराल में शान्ती देवी ने शुरू किया धरना शासन के निर्देश पर हुआ परिषदीय स्कूलों की साफ—सफाई 01 जुलाई से 30 सितंबर तक संचालित किया जाएगा संभव अभियान,चिन्हित किये जायेंगे अतिकुपोषित बच्चे : सीडी... प्रतापगढ़: सिपाही संजय यादव की हत्या के मामले मे शामिल चार आरोपी पुलिस हिरासत में अलर्ट: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 682 नए मामले

प्रत्याशी एवं समर्थकों ने राजधानी लखनऊ में जमाया डेरा, होटल इंडस्ट्री का बढ़ा कारोबार,

– लालबाग, हजरतगंज, चारबाग, हलवासिया, गोमती नगर, विश्वास खंड, हुसैनगंज, नाका क्षेत्र के होटलों को मिलेगा फायदा

 20 हजार से ज्यादा प्रत्याशी और समर्थक लखनऊ पहुंचे

कबीर बस्ती न्यूज:

लखनऊ: आचार संहिता लगने के बाद भी प्रत्याशियों की घोषणा न होने के बाद जिलों के नेता टिकट के लिए राजधानी लखनऊ में जमावड़ा लगा चुके हैं। जिलों में पार्टी कार्यालय जहां खाली हो चुके हैं, वहीं लखनऊ में चहल- पहल बढ़ गई है। इस चहल – पहल ने होटल वालों का कारोबार बढ़ा दिया है। सबसे ज्यादा फायदा पार्टी कार्यालय के आस-पास बने होटल मालिकों का हो रहा है। बड़े से लेकर छोटे होटल में कमरा नहीं मिल रहा है। स्थिति यह है कि लोगों को कमरे के लिए एक साथ कई होटल वालों से संपर्क करना पड़ रहा है।

बांदा से लखनऊ आए सपा नेता राजीव यादव ने बताया कि रविवार रात उनको लालबाग और हजरतगंज के इलाके में होटल नहीं मिला। ऐसे में ठहरने के लिए आलमबाग इलाके में रहने वाले एक रिश्तेदार के यहां जाना पड़ा। उन्होंने बताया कि उनके साथ के कई लोगों के साथ यह समस्या रही है। स्थिति यह है कि होटल के साथ – साथ सभी सरकारी गेस्ट हाउस तक बुक हो चुके हैं। गेस्ट हाउस की बुकिंग वर्तमान और पूर्व विधायकों ने कर रखी है।

नेताओं की वजह से बुकिंग बढ़ी है

लखनऊ होटल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राकेश छाबड़ा पम्मी बताते हैं कि बुकिंग बढ़ी है। हालांकि इसका फायदा कुछ तबके को मिल पाएगा। उन्होंने बताया कि प्रत्याशी अपने साथ कई समर्थक लेकर आते हैं। ऐसे में उनको ऐसा होटल चाहिए होता है जहां वह अपने साथ कार्यकर्तओं को भी रख सकें। इसके लिए बहुत महंगे होटल की जगह वह लोग मध्यम वर्ग के होटल में ठहरना पंसद करते हैं। लालबाग, हजरतगंज, चारबाग, हलवासिया, गोमती नगर, विश्वास खंड, हुसैनगंज, नाका क्षेत्र के होटलों को फायदा मिलेगा।

मौजूदा समय चार बड़ी पार्टी हैं। 403 सीट के हिसाब से चार पार्टी तय उम्मीदवार की संख्या ही 1612 पहुंच रही है। एक – एक सीट पर पांच से 10 लोग दावा पेश कर रहे हैं। ऐसे में यह संख्या 16 हजार से ज्यादा हो रही है। सपा और भाजपा में यह संख्या और बढ़ रही है। सबसे ज्यादा भीड़ भी इन्हीं दो पार्टी के कार्यालय पर पहुंच रही है। सोमवार को अकेले सपा कार्यालय पर सुबह से लेकर दोपहर दो बजे तक करीब 5000 से ज्यादा लोगों का जमावड़ा लगा हुआ था। जानकारों का कहना है कि पूरे दिन में 20 हजार से ज्यादा नेता और उसके समर्थक लखनऊ में पहुंच चुके हैं।