Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
यूपी की भाजपा सरकार को तिरंगा यात्रा भी लगता है अवैध- संजय सिंह जागरूकता का परिचय दें अन्त्योदय कार्ड धारक, बनवाएं आयुष्मान कार्ड 30 अक्टूबर तक जिले के सभी बैंक शाखाओं पर आयोजित किया जायेंगा कैम्प सपा की मासिक बैठक में बनी रणनीति इस बार दीपवाली में 11 फिट के दिये के साथ जगमगाएगा अमहट घाट श्रमिको के लिए कल्याणकारी योजनाओं को संचालित कर रही है प्रदेश सरकार-सुनील कुमार भराला टीकाकरण कर्मियों की लगन का फल है सफल टीकाकरण एक माह में नौ हजार अंत्योदय लाभार्थियों ने किया आवेदन श्री रामलीला महोत्सव में गुरुवार को राम बारात एवं राम विवाह का किया गया मंचन 100 करोड़ कोविड टीकाकरण में जिले ने दिया 8.55 लाख का योगदान

प्रेरणा ज्ञानोत्सव कार्यक्रम के अंतर्गत दिया गया बालक/बालिकाओं को प्रशस्ति पत्र

बस्ती – प्रेरणा ज्ञानोत्सव कार्यक्रम का आयोजन बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में आयोजित किया गया, जिसमें जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने एक दर्जन प्रेरक बालक/बालिकाओं को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण बच्चों की शिक्षा काफी बाधित हुई है। अब समय आ गया है कि शिक्षक, अभिभावक तथा बच्चे स्वयं शिक्षा पर ध्यान दें और 1 वर्ष की शिक्षा की कमी को पूरा करें। उन्होंने इस अवसर पर कुशाल, विक्रम, अनीश, पूनम, अमृता, कविता, काजल, माही, अंजलि तथा आबिदा को ‘मैं हूं प्रेरक बालक बालिका‘ का प्रशस्ति पत्र प्रदान किया।
जिलाधिकारी ने कहा कि प्रेरणा मिशन में बच्चों की शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया गया है। इसमें अभिभावकों को भी शामिल किया गया ताकि वे अपने बच्चों की गुणवत्ता को स्वयं भी परख सकें। अभी कोरोना का असर खत्म नहीं हुआ है। इसलिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए शिक्षा कार्य को आगे बढ़ाना है। पढ़ाई में आने वाली बाधा को दूर करना है। सभी मिलजुल कर कार्य करेंगे तभी हम बच्चों को उनके शिक्षा के मुकाम तक पहुंचा सकेंगे।
उन्होंने सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं का आह्वान किया कि वे अपने छात्र-छात्राओं के सम्मुख आदर्श प्रस्तुत करें तथा उनका आदर्श भी बने। छात्र-छात्राएं आगे चलकर अपने शिक्षकों को अवश्य याद रखते हैं, जिन्होंने उल्लेखनीय कार्य किया हो।
बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ला ने सभी का स्वागत करते हुए बताया कि मिशन प्रेरणा के अंतर्गत बालक-बालिकाओं के शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में भी शिक्षकों ने छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन शिक्षा प्रदान किया है। इस दौरान समृद्ध माड्यूल विकसित किया गया है, जिसके द्वारा शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया है तथा इस अभियान में अभिभावकों को भी शामिल किया गया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक डॉ0 सर्वेष्ट मिश्र ने किया।
इस अवसर पर वित्त एवं लेखाधिकारी अतुल चैधरी, उदय शंकर शुक्ला, नगर शिक्षा अधिकारी तथा शिक्षिकाएं उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.